दा इंडियन वायर » खानपान » गाय और भैंस के दूध में क्या अंतर है?
खानपान

गाय और भैंस के दूध में क्या अंतर है?

गाय और भैंस के दूध में अंतर

दूध में अनेकों पोषक तत्व होते हैं और इसे सम्पूर्ण आहार की उपाधि दी गयी है लेकिन दूध का सेवन करते समय आपके पास यह विकल्प होता है कि आप गाय या दूध पीयें या फिर भैंस का।

दोनों ही प्रकार के दूध की अपने लाभ और हानि होते हैं जैसे कि गाय का हल्का होता है और आसानी से पच जाता है। वहीं भैंस का दूध अत्यधिक भारी होता है और इसे पचाने में परेशानी होती है।

गाय और भैंस के दूध में अंतर

आइये आपको इन दोनों प्रकार के दूध के बीच की असमान्ताओं के बारे में बताते हैं और उन कारणों से अवगत कराते हैं जिनके कारण बच्चों के कारण गाय का दूध बच्चों के लिए अधिक उपयोगी होता है

  • प्रोटीन की मात्रा

भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है और यह अंतर 10-11% तक होता है। यह अधिक ऊष्मा प्रतिरोधी होता है।

इसमें मौजूद प्रोटीन के कारण बच्चों और बूढों के लिए इसे पचा पाना मुश्किल हो जाता है। प्रोटीन की मात्रा के आधार पर गाय का दूध ही लिया जाना चाहिए।

  • फैट की मात्रा

गाय और भैंस के दूध में फैट की मात्रा अलग होती है जिसके कारण इसकी स्थिरता में भी परिवर्तन आता है। गाय के दूध में फैट की मात्रा कम होती है जिसके कारण यह अधिक पतला होता है। यही वजह है कि ये सेवन में हल्का भी होता है।

दूसरी ओर, भैंस के दूध में फैट की मात्रा अधिक होती है और इसलिए यह भारी होता है। जैसा कि हम जानते हैं कि भैंस के दूध में फैट की मात्रा अधिक होती है जिसके कारण इसे पचा पाना मुश्किल होता है। यह अधिक समय तक पेट में रहता है और इस वजह से भारीपन पैदा करता है और असहजता का कारण भी बन जाता है।

  • पानी की मात्रा

गाय के दूध को पानी वाला दूध भी कहा जाता है क्योंकि इसमें भैंस के दूध की तुलना में दूध को ठोस बनाने वाले पदार्थ कम होते हैं। गाय के दूध में लगभग 90% पानी होता है। इसलिए यह शरीर को हाइड्रेटेड रखता है।

  • कोलेस्ट्रोल की मात्रा

भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में कोलेस्ट्रोल कम होता है और यह पीसीओडी, हाइपरटेंशन, किडनी रोग और मोटापे से पीड़ित लोगों के लिए लाभकारी होता है

  • गाय का दूध पित्त के लिए फायदेमंद

गाय के दूध से बना हुआ घी पित्त को शांत करता है और पाचन शक्ति बढाता है वहीं भैंस के दूध से बना हुआ घी कफ बढाता है

  • नींद में गाय का दूध सहायक

प्राकृतिक रूप से नींद लाने की क्षमता भैंस के दूध में अधिक होती है इसलिए यदि आप चैन से सोना चाहते हैं तो भैंस का दूध पीकर सोयें

  • कैल्शियम की मात्रा

भैंस के दूध में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है लेकिन गाय के दूध में पोटैशियम और सोडियम की मात्रा कम होती है इसलिए यह बच्चों के लिए अधिक उपयोगी होता है

गाय और भैंस के दूध में समानताएं

  • गाय और भैंस के दूध में मिठास होती है और दोनों ही शरीर को शीतलता प्रदान करते हैं
  • दोनों तरह के दूध प्राकृतिक एफ़्रोडाइजियस, खाद्य पदार्थ या पेय के रूप में कार्य करते हैं जो मनुष्यों में यौन इच्छा को उत्तेजित करते हैं। रोजाना दूध पीना आपके यौन जीवन को सक्रिय रखने के लिए पारंपरिक आयुर्वेद प्रथाओं में से एक है।
  • दोनों ही प्रकार के दूध अत्यधिक पौष्टिक होते हैं और शरीर को उर्जा और मजबूती प्रदान करते हैं।
  • गाय और भैंस का दूध पित्त को शांत करते हैं और शरीर की जलन दूर करते हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!