स्वास्थ्य

खुजली से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

खुजली एक सनसनी है जो त्वचा या तंत्रिका कोशिकाओं की जलन से उत्पन्न होती है। यह चिकित्सकीय रूप से प्ररिटस के रूप में जाना जाता है। थोड़ी बहुत खुजली को तो खुजाकर ठीक किया जा सकता है लेकिन अत्यधिक खुजली होने पर इससे उचित निवारण खोजना बहुत ही आवश्यक होता है।

इसके कई कारण हो सकते हैं जिनमें से कुछ निम्न हैं:

  • रूखी त्वचा
  • त्वचा पर चकत्ते पड़ना
  • आन्तरिक बीमारियाँ जैसे की लीवर या किडनी का खराब हो जाना
  • मानसिक परेशानियाँ
  • किसी चीज़ से एलर्जी
  • एंटीबायोटिक, एंटीफंगल या नारकोटिक ड्रग के प्रति प्रतिक्रिया
  • गर्भावस्था
  • बढती उम्र
  • ठंडी हवा में अधिक रहना या अधिक बार नहाना

खुजली के लक्षण निम्न होते हैं:

  • त्वचा पर लालपन और धब्बे
  • त्वचा पर छाले
  • रूखी बेजान त्वचा
  • त्वचा पर धारियां पड़ जाना

खुजली की समस्या जब अत्यधिक बढ़ जाती है तो इससे निजात पाना आसान हो जाता है। आइये हम आपको बताते हैं कि वे ऐसे कौनसे घरेलू उपाय हैं जिनको अपनाकर आप खुजली से निजात पा सकते हैं।

1. नारियल का तेल

नारियल के तेल में एंटीहिस्टामिन और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा की खुजली से छुटकारा दिलाते हैं। इस तेल में त्वचा के लिए उपयोगी पोषण पाया जाता है।

सामग्री:
  • नारियल का तेल (आवश्यकता अनुसार)
कैसे इस्तेमाल करें?
  • गुनगुने पानी से स्नान करने के बाद अपने शरीर को सुखाएं और खुजली से ग्रस्त स्थानों पर नारियल का तेल लगा लें।
  • यदि आपको अत्यधिक खुजली होती है तो इसे पूरे शरीर पर लगाना फायदेमंद होगा।

इसे प्रतिदिन इस्तेमाल करें।

2. तुलसी

तुलसी में ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो त्वचा की सूजन और खुजली को दूर कर देते हैं।

सामग्री:
  • 6-8 तुलसी की पत्तियां
कैसे इस्तेमाल करें?
  • तुलसी की पत्तियों को पीसकर इसका पेस्ट प्रभावित स्थानों पर लगा लें।
  • आप पत्तियों को धीरे धीरे अपनी त्वचा पर रगड़ भी सकते हैं।
  • या फिर तुलसी की चाय बनाकर इसे रुई से अपनी त्वचा पर लगा सकते हैं।

इसे प्रतिदिन इस्तेमाल करें।

3. नीम

नीम

नीम में ऐसे एंटीमाइक्रोबियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा में उत्पन्न हुए संक्रमण से लड़ने में उपयोगी होते हैं।

सामग्री:
  • नीम की पत्तियां
  • नहाने का पानी
कैसे इस्तेमाल करें?
  • नीम की पत्तियों को उबलते होते पानी में डाल लें।
  • इसे 10-15 मिनट तक डाला रहने दें।
  • ये पानी जब गुनगुना हो जाये तो इससे नहा लें।

इसे हर दूसरे दिन इस्तेमाल करें।

सम्बंधित: नीम का तेल के फायदे

4. तिल का तेल

तिल का तेल एंटीओक्सीडैन्ट्स का बहुत अच्छा स्रोत होता है और खुजली के निवारण में अत्यधिक उपयोगी होता है। इसमें त्वचा की सूजन और लाली ख़त्म करने की भी क्षमता होती है।

सामग्री:
  • तिल का तेल
कैसे इस्तेमाल करें?
  • थोडा सा तिल का तेल लें और प्रभावित स्थानों पर लगायें।
  • आप इससे पूरे शरीर पर भी मालिश कर सकते हैं।

इसे रोज़ या हर दूसरे दिन इस्तेमाल करें।

5. पुदीना

पुदीना

पुदीने में मौजूद एक बहुत ही उपयोगी पदार्थ मेंथोल होता है। इसमें ऐसे गुण होते हैं जो त्वचा की खुजली और सूजन से लड़ने में उपयोगी होते हैं।

सामग्री:
  • मुट्ठी भर पुदीने की पत्तियां
  • 500 एमएल पानी
  • रुई
कैसे इस्तेमाल करें?
  • मुट्ठी भर पुदीने की पत्तियां 500 एमएल पानी में डालकर उबाल लें।
  • इस मिश्रण को ढक दें और ठंडा होने दें।
  • इसके ठंडा हो जाने पर इसे छान लें और इसमें रुई भिगो लें।
  • रुई से प्रभावित स्थानों पर लगायें।

इसे रोज़ 1-2 बार इस्तेमाल करें।

6. नींबू

नींबू

नीम्बू में सिट्रिक और एसिटिक एसिड पायी जाती है जो त्वचा की जलन और खुजली को दूर करती हैं।

सामग्री:
  • 1-2 नीम्बू
  • रुई
कैसे इस्तेमाल करें?
  • नीम्बू का रस निचोड़ लें।
  • इस रस में रुई भिगोकर प्रभावित स्थानों पर लगायें और सूखने दें।
  • पानी से धो लें।
  • यदि आपकी त्वचा सम्वेदनशील हैं तो इसे लगाने से पहले इसमें पानी मिला लें।

इसे रोज़ 2 बार इस्तेमाल करें।

7. मेथी

मेथी में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा की सूजन कम करने में उपयोगी होते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं जो त्वचा की चकत्ते दूर करते हैं।

सामग्री:
  • 1-2 कप मेथी के दाने
कैसे इस्तेमाल करें?
  • मेथी के दानों को 1 घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें।
  • इन दानों को पीसकर इनका पेस्ट बना लें।
  • इसे पूरे शरीर पर लगा लें। यदि खुजली कुछ ही स्थानों पर हो तो वहीं लगायें।
  • इस पेस्ट को सूखने दें, फिर पानी से धो लें।

इसे हफ्ते में कम से कम 3 बार इस्तेमाल करें।

8. बादाम का तेल

बादाम का तेल आपकी त्वचा का पोषण बनाये रखता है और आपको खुजली से राहत दिलाता है। ये इसके एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीइच गुणों के कारण होता है।

सामग्री:
  • बादाम का तेल(आवश्यकता अनुसार)
कैसे इस्तेमाल करें?
  • नहाने के बाद बादाम का तेल अपने पूरे शरीर पर लगा लें।

इसे प्रतिदिन इस्तेमाल करें।

9. शहद

शहद में त्वचा के रूखेपन को दूर करने के गुण पाए जाते हैं। इससे आपकी खुजली ठीक हो जाती है।

सामग्री:
  • शहद(आवश्यकता अनुसार)
कैसे इस्तेमाल करें?
  • थोडा सा शहद लेकर उसे गर्म कर लें।
  • इस शहद को प्रभावित स्थानों पर लगायें।
  • इसे 10-15 मिनट लगा रहने दें फिर पानी से धो लें।

इसे प्रतिदिन 1-2 बार इस्तेमाल करें।

10. एलो वेरा

एलो वेरा को बहुत समय से उसके चिकित्सीय गुणों के कारण इस्तेमाल किया जाता रहा है। ये इसके एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुणों के कारण होता है। ये विटामिन ई का उच्च स्रोत होता है और त्वचा को रूखेपन से बचाता है।

सामग्री:
  • 2 बड़े चम्मच एलो वेरा जेल
कैसे इस्तेमाल करें?
  • एलो वेरा जेल को प्रभावित स्थानों पर लगा लें।
  • इसे 15-20 मिनट लगा रहने दें फिर पानी से धो लें।

इसे प्रतिदिन 1 बार इस्तेमाल करें।

11. ओलिव ओइल

 

ओलिव ऑइल

इसमें मौजूद पोलीफिनॉल के कारण ओलिव ओइल एक ज़बरदस्त एंटीओक्सीडैन्ट होता है। इन पोलीफिनॉल में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो खुजली से राहत दिलाते हैं।

सामग्री:
  • ओलिव ओइल(आवश्यकता अनुसार)
कैसे इस्तेमाल करें?
  • थोडा सा ओलिव ओइल अपने हाथों में लेकर नहाने के बाद शरीर पर लगा लें।

इसे प्रतिदिन 1 बार इस्तेमाल करें।

12. लहसुन

इसके एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीओक्सीडैन्ट गुणों के कारण लहसुन अत्यधिक लाभदायक होता है और कई चिकित्सीय गुणों से भरपूर होता है। ये आपकी त्वचा को पोषण प्रदान करता है और खुजली से राहत दिलाता है।

सामग्री:
  • 2-3 लहसुन की कलियाँ
  • 1/2 कप ओलिव ओइल
कैसे इस्तेमाल करें?
  • लहसुन की कलियों को थोड़े से ओलिव ओइल के साथ भून लें।
  • इसे रात भर रखा रहने दें।
  • सुबह इस तेल को प्रभावित स्थानों पर लगायें।
  • इसे 20-30 मिनट के लिए छोड़ दें और पानी से धो लें।

इसे प्रतिदिन 1 बार इस्तेमाल करें।

13. बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते है जो सूजन और जलन से छुटकारा दिलाते हैं। ये आपकी त्वचा को पोषण भी प्रदान करता है।

सामग्री:
  • 1 कप बेकिंग सोडा
  • नहाने का पानी
कैसे इस्तेमाल करें?
  • 1 कप बेकिंग सोडा अपने नहाने के पानी में डालें और इसे घुलने दें।
  • इस पानी में 15-20 मिनट के लिए शरीर को सोख लें फिर अपने आप को सुखा लें।

इसे प्रतिदिन 1 बार इस्तेमाल करें।

14. सेब का सिरका

सेब के सिरके में ऐसे एंजाइम होते हैं जो आपकी त्वचा का पीएच संतुलित कर देते हैं। इसके एंटीइंफ्लेमेटरी गुण खुजली से राहत दिलाते हैं और एंटीमाइक्रोबियल गुण संक्रमण से छुटकारा दिलाते हैं।

सामग्री:
  • 2 कप सेब का सिरका
  • नहाने का पानी
कैसे इस्तेमाल करें?
  • 2 कप सेब का सिरका अपने नहाने के पानी में डालें।
  • इस पानी में 15-20 मिनट के लिए शरीर को सोख लें फिर अपने आप को सुखा लें।
  • यदि खुजली कुछ ही जगहों पर हो रही हो तो उसके लिए 1 बड़ा चम्मच सेब का सिरका 1 कप पानी में डालें और इसमें रुई भिगोकर इसे प्रभावित स्थानों पर लगा लें।

इसे प्रतिदिन 1 बार इस्तेमाल करें। हालाँकि यहाँ ध्यान रहे कि आप इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में करें, वर्ना सेब के नुकसान भी बहुत हैं।(सम्बंधित: घर पर सेब का सिरका कैसे बनाएं?)

5. ओटमील

ओट्स

ओटमील में एंटीओक्सीडैन्ट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा की खुजली से राहत दिलाते हैं।

सामग्री:
  • 2 कप ओटमील
  • नहाने का पानी
कैसे इस्तेमाल करें?
  • 2 कप ओटमील अपने नहाने के पानी में डालें।
  • इस पानी में 15-20 मिनट के लिए शरीर को सोख लें, प्रभावित स्थानों पर थोडा ओटमील रगड़ लें। फिर अपने आप को सुखा लें।

इसे प्रतिदिन 1 बार इस्तेमाल करें।

यह पोस्ट आखिरी बार संसोधित किया गया March 31, 2018 18:46

दिव्या

टिप्पणियां देखें

  • meri peeth mein bahut khujli chalti hai kya ye shehed lagaane se theek hosakkti hai kyonki maine kai or methods try kar liye ye theek hi nahi horahi

  • meri tvachaa bahut sookhi ho gayi hai or bahut khujli bhi hoti hai ye kyun ho rahaa hai aap bataa sakte hain? iskaa kya solution hai?

Recent Posts

अमेरिकी वैज्ञानिक डेविड जूलियस और अर्देम पटापाउटिन ने नोबेल मेडिसिन पुरस्कार 2021 जीता

अमेरिकी वैज्ञानिकों डेविड जूलियस और अर्डेम पटापाउटिन ने सोमवार को तापमान और स्पर्श के रिसेप्टर्स…

October 5, 2021

किसान संगठन को कृषि कानूनों पर रोक के बाद भी आंदोलन जारी रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने लगायी फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी…

October 5, 2021

केंद्र सरकार ने वन संरक्षण अधिनियम में कई संशोधन किये प्रस्तावित

केंद्र सरकार ने मौजूदा वन संरक्षण अधिनियम (एफसीए) में संशोधन के तहत राष्ट्रीय सुरक्षा परियोजनाओं…

October 5, 2021

रूस और जर्मनी के बीच नॉर्ड स्ट्रीम 2 पाइपलाइन का निर्माण पूरा: यूरोपीय राजनीति में होंगे इसके कई बड़े परिणाम

जबकि ईरान-पाकिस्तान-भारत गैस पाइपलाइन, ईरान-भारत अंडरसी पाइपलाइन, और तुर्कमेनिस्तान-अफगानिस्तान-पाकिस्तान-भारत पाइपलाइन पाइप अभी भी सपने बने…

October 4, 2021

पैंडोरा पेपर्स का सचिन तेंदुलकर सहित कई वैश्विक हस्तियों के वित्तीय राज़ उजागर करने का दावा

रविवार को दुनिया भर में पत्रकारीय साझेदारी से लीक पेंडोरा पेपर्स नाम के लाखों दस्तावेज़ों…

October 4, 2021

बढे बजट के साथ आज पीएम मोदी करेंगे एसबीएम-यू 2.0 और अमृत ​​2.0 का शुभारंभ

वित्त पोषण, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने गुरुवार को कहा…

October 1, 2021