Thu. Feb 22nd, 2024
    omar-abdullah_

    नेशनल कांफ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शुक्रवार को राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद कहा कि उन्हें नहीं लगता इस फैसले के बाद राफेल एक चुनावी मुद्दा रह जाएगा।

    उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि “इस फैसले के बाद उन्हें नहीं लगता कि राफेल मुद्दे को अब चुनावों के दौरान उठाया जा सकेगा।”

    सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि अभी अभी भाजपा को विधानसभा चुनाव में झटका लगा है। ऐसे में इस फैसले के लिए इससे बेहतर समय नहीं हो सकता था। भाजपा किस्मत की बहुत धनी है।”

    पत्रकारों ने जब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से विधानसभा चुनावों के बारे में पूछा तो अमित शाह ने कहा कि “मैं इस वक़्त राफेल कार आये सुप्रीम कोर्ट के फैसले से ध्यान नहीं भटकाना चाहता। हम चुनावों की बात किसी और दिन करेंगे।”

    राफेल डील में करोड़ों रुपये के घोटाले के आरोप लगते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी संसद से लेकर सड़क तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार को घेर रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री पर “चौकीदार चोर है” कह कर कई आरोप लगाए। हालिया विधानसभा चुनावों में राहुल गाँधी हर मंच से राफेल में घोटाले का जिक्र करते और प्रधानमंत्री मोदी के लिए “चौकीदार चोर है” शब्द का इतेमाल करते थे।

    अब तक इस मुद्दे पर रक्षात्मक रुख अपना अपना रही भाजपा भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुखर हो गई है। आज संसद में भाजपा सदस्यों ने “राहुल गांधी माफ़ी मांगो” के नारे लगा कर हंगामा किया।

    भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी प्रेस कांफ्रेंस कर राहुल गाँधी से प्रधानमंत्री मोदी पर लगाए गए आरोपों के लिए माफ़ी की मांग की। उन्होंने राहुल गाँधी के “चौकीदार चोर है” का जवाब देते हुए कहा कि “आज साबित हो गया चौकीदार चोर नहीं होता है।”

    इस मुद्दे पर मचे घमासान के बाद आज उमर अब्दुल्ला ने भी कहा कि कोर्ट के फैसले के बाद राफेल अब चुनावी मुद्दा नहीं रह जाएगा।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *