मंगलवार, अप्रैल 7, 2020

कुलभूषण जाधव तक राजनयिक पंहुच की भारत की मांग इस वक्त उचित नहीं है: पाकिस्तान

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान ने कहा कि भारत की कुलभूषण जाधव तक राजनयिक पंहुच की मांग इस वक्त उचित नहीं है क्योंकि उसका मामला अभी अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक अदालत में लंबित है।

पाकिस्तान टुडे के मुताबिक विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने इस्लामाबाद में पत्रकारों से कहा कि “भारत ने कुलभूषण जाधव के पासपोर्ट पर पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।”

जाधव को पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में  आतंकवाद और जासूसी के आरोप में मौत की सज़ा दी थी। पाकिस्तान का दावा है कि उनके सुरक्षा बलों ने जाधव को 3 मार्च 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था जब वह ईरान की सीमा पार कर पाकिस्तान में दाखिल हो रहे थे।

इसके उलट भारत का दावा है कि जाधव अपहरण ईरान से किया गया था जहां वह नौसेना से सेवानिवृत्त होने के बाद कारोबार के लिए गए थे। पाकिस्तानी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि “आईसीजे में उनका मामला लंबित है और इस वक्त भारत की राजनयिक पंहुच की मांग उचित नहीं है।”

भारत के कश्मीर में आर्टिकल 370 को हटाने के बाबत पाक प्रवक्ता ने कहा कि “यह यूएन के कानून का उल्लंघन है। हम इसे किसी भी हालात में स्वीकार नहीं करेंगे और कश्मीरी भी इसे स्वीकार नहीं करेंगे।”

उन्होंने कहा कि “पाकिस्तान सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550 वीं सालगिरह तक करतारपुर गलियारे का संचालन करने के लिए प्रतिबद्ध है। अगर यह गलियारा संचालित नहीं होता तो इसका जिम्मेदार भारत होगा।”

भारत ने गुरूवार को कहा कि “पाकिस्तान ने अभी तक रिपोर्ट्स पर आधारित भारत के सवालों का जवाब नहीं दिया है कि करतारपुर गलियारे की कमिटी में विवादित तत्वों की भी नियुक्ति की गयी है।” खबरों के मुताबिक पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे की कमिटी में खालिस्तानी समर्थक को भी जगह दी है।

अमेरिका द्वारा भारत को एंटी सबमरीन बेचने के बाबत मोहम्मद फैसल ने कहा कि “ऐसे निर्णय क्षेत्र में हथियारों रेस को बढ़ावा देंगे। हम तैयार हैं और  हम शान्ति चाहते हैं लेकिन हम अपनी सुरक्षा को नज़रअंदाज़ नहीं करेंगे। हम नेशनल एक्शन प्लान को लागू करने के लिए सभी पर्याप्त कदम उठा रहे हैं। इसमें आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवई भी है और हम और हम अपने हित के लिए ऐसा कर रहे हैं।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -