Sat. Feb 4th, 2023
    काम्या पंजाबी: दिल्ली के छोले कुल्चे बहुत अच्छे हैं, वो आपको मुंबई में नहीं मिलते

    15 साल से टेलीविजन इंडस्ट्री का हिस्सा रही काम्या पंजाबी ने अब नाटक ‘पजामा पार्टी’ के साथ अपने थिएटर की शुरुआत की है। उन्होंने हाल ही में दिल्ली में अपना नाटक प्रस्तुत किया जिस पर उन्होंने टाइम्स ऑफ़ इंडिया को बताया-“टेलीविजन मेरा पहला बच्चा है, और थिएटर एक ऐसी जगह है, जहां मैंने अभी-अभी प्रवेश किया है। थिएटर एक ऐसी चीज है जिसे व्यक्ति को अधिक सीखना चाहिए, अधिक महसूस करना चाहिए और अधिक करना चाहिए।”

    “मैं पिछले 15 वर्षों से एक अभिनेत्री हूँ, टीवी मेरे घर जैसा है, मैं इस पर राज़ करती हूँ। जो भूमिका दोगे, मैं इसे करुँगी,  लेकिन थिएटर में, एक ही बार में दो घंटे प्रदर्शन करना कोई मज़ाक नहीं है। आप अटक नहीं सकते, आप रुक नहीं सकते। आपको दर्शकों से तुरंत प्रतिक्रिया मिलती है। थिएटर में हमारा उतार चढ़ाव, सब दर्शक होते हैं। अगर दर्शकों को आपका प्रदर्शन पसंद है, तो यह सबसे बड़ा इनाम है। यह एक चुनौती है जिसे हर अभिनेता को अनुभव करना चाहिए।”

    https://www.instagram.com/p/BxZGAD5ADSt/?utm_source=ig_web_copy_link

    उनके नाटक की बात करें तो, ये एक व्यंग्य है जो यौन हमले के विषय को छूता है- काम्या एक मजबूत, स्वतंत्र महिला के किरदार को चित्रित करती है, जो एक तलाकशुदा और एकल माँ है। यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी बेटी को नाटक की कहानी के बारे में समझाना मुश्किल था, उन्होंने बताया-“मैं उसे इससे दूर रखने की कोशिश कर रही हूँ, क्योंकि वह मुश्किल से नौ साल की है, और एक माँ होने के नाते, मैं उसके बारे में काफी सुरक्षात्मक हूँ । वह उस उम्र में है जहां मैं चाहती हूँ कि वह धीरे-धीरे चीजों को जाने। लिंग संबंधी मुद्दों के बारे में सीखना महत्वपूर्ण है लेकिन यह (कहानी) परेशान करने वाली है। और मैं इस उम्र में उसके साथ असहज सच्चाइयों पर चर्चा नहीं करना चाहती। मैं चाहती हूँ कि वह इसे आराम से ले।”

    https://www.instagram.com/p/Bw_0zemgMPb/?utm_source=ig_web_copy_link

    काम्या ने आगे दिल्ली के खाने को लेकर अपना प्यार ज़ाहिर किया। उनके मुताबिक, “मुझे दिल्ली में मिलने वाले छोले कुल्चे बहुत पसंद हैं। मुंबई में कहीं नहीं मिलते हैं। पिछली बार, जब मैंने राजधानी का दौरा किया था, तो मैंने अपने दोस्तों को बताया था कि मेरे लिए बहुत सारे छोले कुल्चे मंगवाना, और मैं सब खा जाउंगी। मेरे दोस्तों के बीच दिल्ली के खाने के बारे में इतनी बातें होती हैं। हमें दिल्ली के खाने से प्यार है। अपनी पिछली यात्रा के दौरान, मैंने कुछ बहुत ज्यादा स्वादिष्ट मटन गलौटी कबाब खाया था, जो मैंने कोई स्ट्रीट ज्वाइंट से खाये थे।”

    https://www.instagram.com/p/BzUw_hajikr/?utm_source=ig_web_copy_link

    इस दौरान, अभिनेत्री टीवी शो ‘शक्ति…अस्तित्व के एहसास की’ में भी दिखाई देती हैं। वह मुख्य किरदार हरमन (विवियन डीसेना) की माँ का किरदार निभाती हैं।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *