Fri. Jun 14th, 2024
    कर्नाटक चुनाव रैली

    कर्नाटक विधानसभा चुनावों के नजदीक आते ही राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप तेज हो गए है। कर्नाटक में कांग्रेस की सिद्धरमैया सरकार को हटाने के लिए बीजेपी लगातार रैलियां कर रही है। वहीं कांग्रेस अपनी सरकार बचाने में जुटी हुई है। सोमवार को पीएम नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर हमला तेज करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी सत्ता में विकास की गति को धीमा कर रही है।

    बेंगलुरू से करीब 125 किलोमीटर दूर मैसूर में एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि केन्द्र सरकार रेलवे और सभी के लिए आवास जैसी योजनाओं को लागू करने का सबसे अच्छा प्रयास कर रही है। इससे व्यापार व नौकरियों को बढ़ावा दिया जाएगा। देश में कम से कम 40 मिलियन गरीब लोगों को घर मिल सकेगा।

    मोदी ने रैली मे लोगो से पूछा क्या आप कमीशन वाली सरकार को फिर से देखना चाहते है। कर्नाटक की सिद्धरमैया सरकार किसी भी परियोजना को 10 प्रतिशत कमीशन लेने पर ही स्वीकार करती है। मोदी से पहले राहुल गांधी भी कर्नाटक में ताबडतोड रैलियां कर रहे है।

    विधानसभा चुनावों में पार्टी के समर्थन दिलाने के लिए राहुल विभिन्न जिलों का दौरा कर रहे है। कर्नाटक विधानसभा चुनावों का असर आगामी लोकसभा चुनावों में भी देखा जाएगा। इसलिए दोनों ही पार्टियां अपनी मेहनत कर चुनाव जीतने की जुगत कर रही है।

    मोदी ने मैसूर में रैली की जिसे कांग्रेस व सिद्धरमैया का गढ़ माना जाता है। रैली के अलावा मोदी ने मैसूरू और बेंगलुरु के बीच रेलवे लाइन के विद्युतीकरण का उद्घाटन किया। साथ ही 12 साल में बनी 57 फीट लंबा श्रावणबेलागोला में भगवान बाहुबली की अखंड प्रतिमा का उद्घाटन किया।

    मोदी ने कहा कि दशकों में संसद के अंदर कांग्रेस ने लगभग 9 ट्रिलियन मूल्य की परियोजनाओं की घोषणा की थी लेकिन सत्ता में होने के बावजूद भी वो केवल कागजों पर ही थी।

    मोदी ने चुनावों से पहले कर्नाटक को कई सारी सौगाते दी। मोदी ने घोषणा की कि मैसूर-बेंगलूरू रोड के 117 किलोमीटर लंबे मार्ग को 6,400 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से छह लेन राष्ट्रीय राजमार्ग में परिवर्तित किया जाएगा। उन्होंने मैसूरू के लिए एक नया सैटेलाइट रेलवे स्टेशन की स्थापना की घोषणा की, जिसे 800 करोड़ रुपये के बजट के साथ बनाया जाएगा।