बुधवार, जनवरी 22, 2020

किसी और को ये विषय बहुत प्यारा है: क्या करण जौहर ने नेपोटिस्म पर बात करते हुए किया कंगना रनौत पर वार?

Must Read

स्टीव स्मिथ का मानना है ऑस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं जोश फिलिप

स्टीव स्मिथ को लगता है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश फिलिप में आस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने की काबिलियत...

सीएए पर बहस करने को तैयार अखिलेश यादव, गृहमंत्री के ‘डंके की चोट’ शब्द को लेकर कहा, यह राजनेता की भाषा नहीं हो सकती

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून (सीएए) और विकास...

महिला निशानेबाज मनु भाकर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार नहीं मिलने पर पिता ने उठाए सरकार पर सवाल

भारत के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुकी युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार न...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

2017 में, कंगना रनौत ने करण जौहर के चैट शो ‘कॉफी विद करण’ पर नेपोटिस्म की बहस छेड़ी थी जिसकी आग अभी भी इंडस्ट्री में लगी हुई है। अभिनेत्री ने करण को ‘नेपोटिस्म का ध्वजधारक’ बुलाया जब वह अपने रंगून सह-कलाकार सैफ अली खान के साथ शो पर नज़र आई थी।

दो साल बाद भी, ये बहस मरने का नाम नहीं ले रही है। हाल ही में, मुंबई में आयोजित हुए यूट्यूब फैनफेस्ट में करण जौहर ने नेपोटिस्म का नाम लेकर कंगना पर चुटकी ली। मशहूर यूटूबर और कॉमेडियन भुवन बम ने निर्माता-निर्देशक को अपने चैट शो ‘टीटू टॉक्स’ पर बुलाया जहाँ उन्होंने केसरी निर्माता से पूछा-“आपको नेपोटिस्म शब्द से क्यूँ प्यार है?”

करण ने भी बिना कोई देरी किये जवाब दिया-“मुझे ये विषय प्यारा नहीं है, किसी और को ये विषय बहुत प्यारा है और क्या बोलू मैं, हम बोलेगा तो बोलोगे की बोलता है, तो बोलने का काम मैंने उनको सौंप दिया है, काम करने का मैंने ले लिया है।”

बिनी किसी देरी के, आप भी देखिये ये विडियो-

हाल ही में, मिड-डे से बात करते हुए कंगना से भी सवाल पूछा गया था कि क्या वह अपने बच्चे को नेपोटिस्म के जरिये, बॉलीवुड में मदद करेंगी।

अभिनेत्री ने कहा कि अगर उन्होंने मदद की तो उसके अच्छे निर्देशक बनने की संभावना मात्र 50 प्रतिशत तक रह जाएगी और ये भी कहा कि अगर वे वास्तव में उसकी परवाह करती हैं तो वह उसे अपना रास्ता खुद बनाने देंगी। उनके मुताबिक, “अगर मैं माँ होने के नाते वास्तव में उसकी परवाह करती हूँ, मैं उसे अपना रास्ता खुद बनाने दूंगी क्योंकि वह किसी भी चीज़ से, कही से भी अच्छी ज़िन्दगी बना सकता है।”

उन्होंने आगे कहा-“लेकिन अगर मैं चाहती हूँ कि वह असाधारण व्यक्ति बने, मुझे उसे समुन्द्र में फेंक देना चाहिए। या तो वह डूब जाएगा या पार कर जाएगा।”

उन्होंने ये भी साझा किया कि उनका भाई पिछले चार साल से पायलट बनने के लिए संघर्ष कर रहा है और नौकरी ढून्ढ रहा है, जबकि वह एक कॉल कर उसकी मदद कर सकती हैं मगर वो ऐसा करेंगी नहीं।

 

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

स्टीव स्मिथ का मानना है ऑस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं जोश फिलिप

स्टीव स्मिथ को लगता है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश फिलिप में आस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने की काबिलियत...

सीएए पर बहस करने को तैयार अखिलेश यादव, गृहमंत्री के ‘डंके की चोट’ शब्द को लेकर कहा, यह राजनेता की भाषा नहीं हो सकती

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून (सीएए) और विकास को लेकर भाजपा के लोगों...

महिला निशानेबाज मनु भाकर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार नहीं मिलने पर पिता ने उठाए सरकार पर सवाल

भारत के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुकी युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार न मिलने पर उनके पिता रामकिशन...

पाकिस्तान : पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने कहा, कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी इमरान सरकार

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार की आलोचना करते हुए...

चीन : कोरोना वायरस से हुए निमोनिया के 440 नए मामलों की पुष्टि

चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना वायरस से होने वाले निमोनिया के 440 नए मामलों की पुष्टि होने की बुधवार को घोषणा की। देश में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -