मंगलवार, नवम्बर 12, 2019

किसी और को ये विषय बहुत प्यारा है: क्या करण जौहर ने नेपोटिस्म पर बात करते हुए किया कंगना रनौत पर वार?

Must Read

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के...

आयात एक्सपो में काफी संख्या में अमेरिकी प्रदर्शक

बीजिंग, 12 नवंबर (आईएएनएस)। चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की आयोजन समिति द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान एक्सपो में...

भाजपा महासचिव ने फडणवीस को बताया मैन ऑफ द मैच, शिवसेना पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 12 नवंबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के महासचिव(संगठन) बीएल संतोष ने महाराष्ट्र में अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

2017 में, कंगना रनौत ने करण जौहर के चैट शो ‘कॉफी विद करण’ पर नेपोटिस्म की बहस छेड़ी थी जिसकी आग अभी भी इंडस्ट्री में लगी हुई है। अभिनेत्री ने करण को ‘नेपोटिस्म का ध्वजधारक’ बुलाया जब वह अपने रंगून सह-कलाकार सैफ अली खान के साथ शो पर नज़र आई थी।

दो साल बाद भी, ये बहस मरने का नाम नहीं ले रही है। हाल ही में, मुंबई में आयोजित हुए यूट्यूब फैनफेस्ट में करण जौहर ने नेपोटिस्म का नाम लेकर कंगना पर चुटकी ली। मशहूर यूटूबर और कॉमेडियन भुवन बम ने निर्माता-निर्देशक को अपने चैट शो ‘टीटू टॉक्स’ पर बुलाया जहाँ उन्होंने केसरी निर्माता से पूछा-“आपको नेपोटिस्म शब्द से क्यूँ प्यार है?”

करण ने भी बिना कोई देरी किये जवाब दिया-“मुझे ये विषय प्यारा नहीं है, किसी और को ये विषय बहुत प्यारा है और क्या बोलू मैं, हम बोलेगा तो बोलोगे की बोलता है, तो बोलने का काम मैंने उनको सौंप दिया है, काम करने का मैंने ले लिया है।”

बिनी किसी देरी के, आप भी देखिये ये विडियो-

हाल ही में, मिड-डे से बात करते हुए कंगना से भी सवाल पूछा गया था कि क्या वह अपने बच्चे को नेपोटिस्म के जरिये, बॉलीवुड में मदद करेंगी।

अभिनेत्री ने कहा कि अगर उन्होंने मदद की तो उसके अच्छे निर्देशक बनने की संभावना मात्र 50 प्रतिशत तक रह जाएगी और ये भी कहा कि अगर वे वास्तव में उसकी परवाह करती हैं तो वह उसे अपना रास्ता खुद बनाने देंगी। उनके मुताबिक, “अगर मैं माँ होने के नाते वास्तव में उसकी परवाह करती हूँ, मैं उसे अपना रास्ता खुद बनाने दूंगी क्योंकि वह किसी भी चीज़ से, कही से भी अच्छी ज़िन्दगी बना सकता है।”

उन्होंने आगे कहा-“लेकिन अगर मैं चाहती हूँ कि वह असाधारण व्यक्ति बने, मुझे उसे समुन्द्र में फेंक देना चाहिए। या तो वह डूब जाएगा या पार कर जाएगा।”

उन्होंने ये भी साझा किया कि उनका भाई पिछले चार साल से पायलट बनने के लिए संघर्ष कर रहा है और नौकरी ढून्ढ रहा है, जबकि वह एक कॉल कर उसकी मदद कर सकती हैं मगर वो ऐसा करेंगी नहीं।

 

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के...

आयात एक्सपो में काफी संख्या में अमेरिकी प्रदर्शक

बीजिंग, 12 नवंबर (आईएएनएस)। चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की आयोजन समिति द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान एक्सपो में अमेरिकी प्रदर्शनी क्षेत्र लगभग 47,500...

भाजपा महासचिव ने फडणवीस को बताया मैन ऑफ द मैच, शिवसेना पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 12 नवंबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के महासचिव(संगठन) बीएल संतोष ने महाराष्ट्र में अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम में देवेंद्र फडणवीस को मैन...

चिप से स्मार्टफोन को बनाएं कार की चाभी

नई दिल्ली, 12 नवंबर (आईएएनएस)। एनएक्सपी सेमीकंडक्टर ने मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि उसने अपने अल्ट्रा-वाइडबैंड (यूडब्ल्यूबी) चिप को नए ऑटोमोटिव इंटिग्रेटेड...

झारखंड : 50 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी लोजपा, जारी किए 5 उम्मीदवारों के नाम (लीड-2)

नई दिल्ली, 12 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुआई वाले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -