Wed. Oct 5th, 2022
    ओयो रूम्स

    ओयो रूम्स ने हाल ही में जापान की सॉफ्टबैंक से करीब 80 करोड़ डॉलर का निवेश इकट्ठा किया है, इसी के साथ ओयो रूम्स की कुल कीमत करीब 5 अरब डॉलर के आसपास पहुँच गयी है।

    हाल ही में ओयो ने चीन में भी करीब 60 करोड़ डॉलर का बड़ा निवेश करने की योजना बनाई है। जिसके तहत ओयो चीन के साथ एशिया के बड़े हिस्से में अपनी पैठ बनाने पर ध्यान केन्द्रित कर रहा है।

    इंटरव्यू में अंकित टंडन ने कहा है कि “चीन ओयो के लिए बहुत बड़ा बाज़ार है। वैश्विक बाजार में अपनी पकड़ बनाने के लिए चीन को भी ध्यान में रखना होगा। हमने शून्य से कंपनी शुरू की थी और हम अभी भी सीख रहे हैं। इस दौरान समस्याएं हमेशा एक ही तरह से सामने आती हैं। चीन में बजट के अंदर अच्छा होटल ढूँढना एक चुनौती है। हम पिछले 11 महीनों से चीन में अपने कारोबार को बढ़ा रहे हैं।”

    अपने साधारण बिजनेस मॉडल के चलते ओयो तेज़ी से आगे बढ़ता जा रहा है, ओयो फिलहाल अपने साथ अधिक से अधिक कमरों को जोड़ता जा रहा है और इसी क्रम में ओयो 2022 तक विश्व में सबसी बड़ी चेन बन कर उभर सकता है।

    ओयो रूम्स की सुविधाओं को लेकर हाल ही में आई शिकायतों पर अंकित टंडन ने कहा है कि “ओयो के साथ सबसे बेहतरीन टीम काम कर रही है। एक ओर टीम लीडर मैदान पर होते हैं, वहीं दूसरी ओर हमने सुविधाओं पर नज़र रखने के लिए एक एप भी रखी है। जिसके तहत हमारे कर्मचारी क्वालिटी पर पूरी नज़र बनाए रखते हैं। इसी के साथ ही हम अपने ग्राहक से मिले फीडबैक को भी बेहद गंभीरता से लेते हैं। ओयो की सोशल मीडिया टीम इसके लिए हमेशा सक्रिय रहती है।”

    वर्तमान में ओयो देश में 1.25 लाख कमरों के साथ अपने अपने घरेलू व्यवसाय के तहत लाभ कमा रहा है, लेकिन विदेश में अभी इसे मुनाफा इकट्ठा करने में थोड़ा वक़्त लग सकता है।

    ओयो फिलहाल सीमित बजट व टाउन-हाल जैसी सुविधाएं उपलब्ध करा रहा है। इसी क्रम में टंडन ने कहा है कि ओयो में हुआ निवेश ओयो को बहुत लंबे समय तक बाज़ार में टिकाये रखने के लिए पर्याप्त है।

    इंग्लैंड, चीन जैसे देशों में अपने पहुँच बनाने के बाद ओयो नें अब संयुक्त अरब अमीरात में भी अपने प्रवेश की घोषणा कर दी है।

    (यहाँ प्रस्तुत जानकारी ओयो के सीओओ अंकित टंडन द्वारा ‘द हिंदू बिजनेस‘ को दिये गए एक इंटरव्यू पर आधारित है।)

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.