Sun. May 19th, 2024
    ओयो रूम्स

    भारत में इस समय सबसे तेज़ी से आगे बढने वाली व बेहद कम समय में 5 अरब डॉलर का निवेश जुटाने वाली भारत की दिग्गज ऑनलाइन होटल बुकिंग सेवा प्रदाता कंपनी ओयो ने हाल ही में चीन में अपने व्यवसाय को स्थापित करने के लिए करीब 60 करोड़ डॉलर के निवेश की योजना बनाई थी, लेकिन उसे चीन में अपने विस्तार को लेकर बेहद कठिन समय का सामना करना पड़ रहा है।

    आपको बताते चलें कि चीनी सरकार की नीतियों के चलते वहाँ अमेज़न, गूगल और ईबे समेत कई बड़ी कंपनियां अपना कारोबार नहीं चला सकीं थी और बहुत थोड़े समय में औंधे मुँह गिर पड़ीं थी।

    सूत्रों की मानें तो चीन में ओयो को अभी तक अपने व्यवसाय के लिए किसी बड़े ऑनलाइन पोर्टल की मदद नहीं मिल पायी है। चीन में ओयो का होटल बुकिंग व्यवसाय का बड़ा हिस्सा फिलहाल ऑफलाइन मोड पर ही संचालित हो रहा है। इसी के चलते कंपनी के सामने चीन के 171 शहरों में अपने 87 हज़ार कमरों के लिए बुकिंग ढूँढने में में मुश्किल हो रही है।

    ओयो इस समय चीन के बड़े ऑनलाइन पोर्टल मिटुआन पर अपना व्यवसाय शुरू करने की लगातार कोशिश में है।

    कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक फिलहाल ओयो ने अपने कमरों को लीज़ पर देने का फैसला किया है, जिससे उसे राजस्व मिलता रहे। इसी के साथ कंपनी को ऑफलाइन चैनल के माध्यम से बुकिंग मिल रहीं है लेकिन यह संख्या पर्याप्त नहीं है।

    मालूम हो कि ओयो में हाल ही में जापान की सॉफ्टबैंक ने 80 करोड़ डॉलर का निवेश किया था, जिसके बाद ओयो कंपनी की कुल कीमत 5 अरब डॉलर पहुँच गयी है। इसी के साथ ओयो के निवेशकों को ये उम्मीद है कि ओयो चीन में एक बड़ा व्यवसाय स्थापित करेगी। आप को बताते चलें कि चीन का कुल पर्यटन व्यवसाय करीब 134 अरब डॉलर वार्षिक का है।

    ओयो इस समय चीन में खुद का पोर्टल खोलने पर विचार कर रही है, लेकिन चीनी सरकार के नियमों के मुताबिक यह उसके लिए अमेरिका और भारत जैसे देशों की तुलना में काफी मुश्किल होगा।

    ऐसे में यदि ओयो चीन में अपना व्यवसाय सुचारु रूप से शुरू करने में सफल रहती है, तो ओयो ऐसी चुनिन्दा कंपनियों में गिनी जाएगी, जिन्होने तमाम मुश्किलों के बावजूद चीन में अपने व्यापार को स्थापित कर लिया। वहीं अगर ओयो ऐसा कर पाने में असफल रही तो उसकी गिनती इस मामले में गूगल और अमेज़न समेत अनेकों असफल कंपनियों में होगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *