मंगलवार, दिसम्बर 10, 2019

ऑक्सीजन और पानी का महत्व पर निबंध

Must Read

रावलपिंडी टेस्ट : पाकिस्तान के ऐतिहासिक टेस्ट में बारिश बन सकती है बाधा

पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच बुधवार से यहां शुरू हो रहे दो मैचों की ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज में बारिश...

पाकिस्तान को एशियाई बैंक से 1.3 अरब डॉलर का कर्ज मिला

आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को मनीला स्थित एशियाई विकास बैंक (एडीबी) से 1.3 अरब डॉलर का कर्ज...

मौजूदा सरकार के थोपे जाने के बाद मानवाधिकार हनन के मामले बढ़े : बिलावल भुट्टो जरदारी

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस (10 दिसंबर) के अवसर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान व अन्य सत्तारूढ़ नेताओं ने कश्मीर...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

ऑक्सीजन और पानी पृथ्वी के वातावरण को जीने लायक बनाता है। वे सभी जीवित जीवों के अस्तित्व और विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। पौधे प्राणवायु उत्सर्जित करते हैं जो मनुष्य को अपने अस्तित्व के लिए चाहिए। मनुष्य, पौधों और जानवरों को समान रूप से पानी की आवश्यकता होती है। यह कई उद्देश्यों को पूरा करता है।

ऑक्सीजन और पानी का महत्व पर निबंध, 200 शब्द:

ऑक्सीजन पृथ्वी के वायुमंडल में मौजूद मुख्य गैसों में से एक है। हमारे पारिस्थितिक तंत्र में मौजूद हवा का 21% हिस्सा ऑक्सीजन है। श्वसन की प्रक्रिया के लिए मनुष्यों और जानवरों द्वारा ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। पौधे भी रात के दौरान ऑक्सीजन की कमी करते हैं।

दिन के समय में, पेड़ और पौधे कार्बन डाइऑक्साइड को साँस लेते हैं और ताज़ी ऑक्सीजन लेते हैं। यह हवा में ऑक्सीजन की आपूर्ति को बनाए रखता है। मानव शरीर के कामकाज के लिए ऑक्सीजन महत्वपूर्ण है। यह शरीर के लिए ईंधन का काम करता है और इसे उर्जावान रखता है। ऑक्सीजन का उपयोग विभिन्न औद्योगिक उद्देश्यों और मनोरंजक गतिविधियों के लिए भी किया जाता है।

पृथ्वी पर जीवित प्राणियों के अस्तित्व के लिए भी पानी आवश्यक है। इसका उपयोग मुख्य रूप से पीने के उद्देश्य के लिए किया जाता है और यह मनुष्य, जानवरों और पौधों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। यह शरीर से अपशिष्ट पदार्थ को बाहर निकालने में मदद करता है। मस्तिष्क की कोशिकाओं के समुचित कार्य के लिए इसकी आवश्यकता होती है।

यह पाचन में सहायक होता है और शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। इसका उपयोग सफाई, धुलाई और स्वच्छता सहित कई अन्य उद्देश्यों के लिए किया जाता है। इसका उपयोग कृषि और औद्योगिक उद्देश्यों के लिए भी किया जाता है।दिलचस्प है, जबकि ऑक्सीजन और पानी पृथ्वी पर जीवन को संभव बनाते हैं।

इनमें से बहुत खतरनाक हो सकता है। ऑक्सीजन की अधिकता से दृष्टि की हानि, मांसपेशियों में मरोड़ और खांसी हो सकती है। इसी तरह, आवश्यक मात्रा से अधिक पानी का सेवन किडनी को प्रभावित कर सकता है। यह हाइपोनेट्रेमिया का कारण भी बन सकता है, एक ऐसी स्थिति जिसमें शरीर में नमक और सोडियम का स्तर वास्तव में कम हो जाता है।

Importance of oxygen and water in hindi (300 शब्द)

प्रस्तावना:

पृथ्वी का वायुमंडल अन्य ग्रहों से अलग होने का मुख्य कारण ग्रह पर पानी और ऑक्सीजन की उपस्थिति है। ये दोनों तत्व हमारे ग्रह पर प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। हमें विभिन्न स्रोतों जैसे वर्षा, नदी, नालों, महासागरों और समुद्रों से पानी की निरंतर आपूर्ति होती है। हमारे आसपास के पौधों और पेड़ों द्वारा ऑक्सीजन लगातार वायुमंडल में भरी जाती है।

ऑक्सीजन का महत्व:

ऑक्सीजन हमारे अस्तित्व के लिए बुनियादी आवश्यकताओं में से एक है। हमें सांस लेने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है। हमारा शरीर ऑक्सीजन का उत्सर्जन करता है और कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालता है। हमारे श्वसन तंत्र को ताजा ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता होती है। ऑक्सीजन हमारे शरीर के लिए ईंधन का काम करता है।

यह हमारी कोशिकाओं को हमारे द्वारा उपभोग किए जाने वाले भोजन से ऊर्जा उत्पन्न करने में सक्षम बनाता है। ऑक्सीजन को औद्योगिक उपयोग के लिए भी रखा जाता है। कई उद्योगों को विभिन्न मशीनों को चलाने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। कुछ चिकित्सकीय उपचारों के लिए भी ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, ऑक्सीजन का उपयोग विभिन्न मनोरंजक गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

जल का महत्व:

हमें स्वस्थ जीवन जीने और नेतृत्व करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीने की आवश्यकता है। विभिन्न अन्य प्रयोजनों के लिए भी पानी की आवश्यकता होती है। हमें खाना पकाने, सफाई, धुलाई, स्वच्छता उद्देश्य, कृषि और उद्योगों के लिए इसकी आवश्यकता है। जल विभिन्न औद्योगिक वस्तुओं के निर्माण में एक आवश्यक हिस्सा बनाता है जिनकी हमें अपने नियमित जीवन में आवश्यकता होती है। पानी का उपयोग बिजली का उत्पादन करने के लिए भी किया जाता है जिसके बिना हम अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते।

जानवरों को अपने अस्तित्व के लिए भी पानी की आवश्यकता होती है। वे मुख्य रूप से इसका उपयोग पीने के उद्देश्य से करते हैं। गर्मी के महीनों में चिलचिलाती गर्मी को मात देने के लिए वे खुद को पानी में भिगोते हैं। जल जलीय जीवों के आवास के रूप में कार्य करता है।

विकास और अस्तित्व के लिए पौधों को भी नियमित रूप से पानी दिया जाना चाहिए। पानी उन्हें मिट्टी से पोषक तत्व लाने में मदद करता है जो उन्हें हरा और स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है।

निष्कर्ष:

इस प्रकार, ऑक्सीजन और पानी दोनों का उपयोग हमारे द्वारा प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से किया जाता है। ये तत्व पृथ्वी पर पारिस्थितिक संतुलन बनाए रखते हैं और जैव विविधता को समृद्ध करते हैं।

ऑक्सीजन और पानी का महत्व पर निबंध, 400 शब्द:

प्रस्तावना:

पृथ्वी पर मुख्य जीवन देने वाले तत्वों में से एक ऑक्सीजन है। पानी, जो हाइड्रोजन और ऑक्सीजन का एक संयोजन है, हमारे अस्तित्व के लिए समान रूप से महत्वपूर्ण है। ये जीवित जीवों के लिए सबसे बुनियादी आवश्यकताएं हैं। एक जीवित प्राणी कुछ दिनों के लिए भोजन के बिना जा सकता है लेकिन पानी के बिना लंबे समय तक जीवित रहना मुश्किल है।

ऑक्सीजन की उपस्थिति के बिना, उत्तरजीविता प्रश्न से परे है। हमें अपने सभी शरीर के अंगों को उचित रूप से कार्य करने में सक्षम करने के लिए इस ताजी हवा की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता है।

ऑक्सीजन का स्रोत:

पेड़-पौधों से हमें ऑक्सीजन मिलती है। हमारे आस-पास के पेड़-पौधे वातावरण से कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालते हैं और ऑक्सीजन देने वाले प्राणों को बाहर निकालते हैं। हमारे आसपास घने जंगल और हरे-भरे बगीचे ऑक्सीजन का एक बड़ा स्रोत हैं। पारिस्थितिक संतुलन बनाए रखने के लिए वे ऑक्सीजन और इनहेल कार्बन डाइऑक्साइड को लगातार बाहर निकालते हैं।

वे वायुमंडल से अन्य हानिकारक गैसों को भी अवशोषित करते हैं। यह हवा को जीवित रखने और जीवों के लिए फिट रखने में मदद करता है। यही कारण है कि अधिक से अधिक पेड़ लगाने की सलाह दी जाती है। वातावरण में बड़ी संख्या में पेड़ एक शुद्ध और बेहतर वातावरण सुनिश्चित करते हैं।

पानी के स्रोत:

हमें विभिन्न स्रोतों से पानी मिलता है। पृथ्वी विशाल महासागरों को घेर लेती है जो ग्रह पर पानी का मुख्य स्रोत हैं। बड़ी संख्या में नदियाँ, झीलें, नदियाँ, समुद्र और जलाशय भी पूरे ग्रह पर उपलब्ध हैं। पानी के ये सभी स्रोत सतही जल की श्रेणी में आते हैं। पृथ्वी में भी भूजल की प्रचुरता है। यह पृथ्वी की सतह के नीचे मौजूद पानी है। यह झरझरा चट्टानों और मिट्टी के रास्ते सतह के नीचे रिसता है। कुओं की खुदाई करके और नलकूपों का निर्माण करके इसे निकाला जाता है।

जल चक्र जो स्वाभाविक रूप से होता है, मुख्य कारण है कि पृथ्वी पर पानी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। सूर्य की अत्यधिक गर्मी के कारण महासागरों में पानी वाष्पित हो जाता है। समुद्र, नदियों और अन्य स्रोतों से सतह का पानी भी वाष्पित हो जाता है। जैसे ही वाष्प उठते हैं और वायुमंडल में चले जाते हैं, वे बादलों को आकार देने के लिए ठंडा और संघनित होने लगते हैं।

अधिक से अधिक वाष्प में शामिल होने और अंत में फटने पर बादल भारी हो जाते हैं। बादलों से हुई गिरावट को बारिश के रूप में नदियों, समुद्रों और समुद्रों में फिर से पानी भरता है। वर्षा जल को पानी का शुद्ध रूप कहा जाता है। तो, पानी प्राकृतिक रूप से फिर से भर दिया जाता है और वातावरण में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होता है।

निष्कर्ष:

हमारे ग्रह पर ऑक्सीजन और पानी दोनों पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। हम सदियों से उनका उपयोग कर रहे हैं और वे अभी भी स्टॉक से बाहर नहीं हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारा वातावरण उन्हें स्वाभाविक रूप से फिर से भर देता है। हालाँकि, वे अब उतने शुद्ध और ताजे नहीं रहे, जितने पहले हुआ करते थे।

Importance of oxygen and water in hindi (500 शब्द)

प्रस्तावना:

ऑक्सीजन एक रंगहीन, बेस्वाद और गंधहीन गैस है जो पानी सहित विभिन्न यौगिकों का एक हिस्सा बनाती है। ऑक्सीजन अपने तरल और ठोस रूप में हल्के नीले रंग में बदल जाती है। उन स्थानों पर जहां तापमान कम है और दबाव अधिक है, ऑक्सीजन हल्के नारंगी, लाल, काले और यहां तक ​​कि धातु के रंग में दिखाई देता है।

ऑक्सीजन और हाइड्रोजन मिलकर पानी बनाते हैं। पानी एक रंगहीन, गंधहीन और बेस्वाद तरल है। हालांकि, अपने शुद्धतम रूप में पानी एक हल्के नीले रंग की झलक दिखाता है। पानी की मोटाई बढ़ने पर रंग नीला गहरा हो जाता है। यह रंग सफ़ेद प्रकाश के अवशोषण और प्रकीर्णन का परिणाम माना जाता है।

पृथ्वी पर पानी और ऑक्सीजन की प्रचुरता:

चूंकि पृथ्वी के वायुमंडल में हाइड्रोजन और ऑक्सीजन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं, इसलिए हमारे ग्रह पर पानी भी भारी मात्रा में उपलब्ध है। भले ही पानी और ऑक्सीजन दोनों का उपयोग सदियों से किया जा रहा है, फिर भी वे प्राकृतिक रूप से फिर से भरने की क्षमता के कारण पृथ्वी के वातावरण में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।

जल चक्र के माध्यम से पृथ्वी पर पानी की भरपाई होती है। जल चक्र में वाष्पीकरण, संघनन और वर्षा सहित विभिन्न चरण शामिल हैं। समान ऑक्सीजन के लिए चला जाता है, भले ही हम इसे लगातार उपभोग करते हैं, यह पेड़ों और पौधों द्वारा वायुमंडल में वापस जारी किया जाता है जो इसे लगातार साँस छोड़ते हैं।

मानव शरीर में ऑक्सीजन की भूमिका:

मनुष्य के साथ-साथ अन्य स्तनधारियों और जानवरों और पक्षियों की कई अन्य प्रजातियों को अपने शरीर के विभिन्न कार्यों को करने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। शरीर में प्रत्येक कोशिका के समुचित कार्य के लिए इसकी आवश्यकता होती है। जीवित प्राणी अपने फेफड़ों में ऑक्सीजन सांस लेते हैं।

यहां, रक्त इस गैस को अवशोषित करता है। फिर इसे पूरे शरीर में विभिन्न कोशिकाओं में भेजा जाता है जहाँ इसका उपयोग कोशिकीय श्वसन के लिए किया जाता है। ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। ऑक्सीकरण नामक एक प्रक्रिया के माध्यम से, ऑक्सीजन शरीर में भोजन और तरल को ऊर्जा में बदलता है।

ऑक्सीजन हमारी कोशिकाओं की मरम्मत करती है और उनके स्वास्थ्य को बनाए रखती है। यह हमारे मस्तिष्क को खिलाता है और हमारी नसों को शांत रखता है। हमारा शरीर आपातकाल के लिए ऑक्सीजन का भंडारण करता है। ऐसे स्थान हैं जहां ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं है। शरीर में संग्रहीत ऑक्सीजन का उपयोग इन स्थानों पर जीवित रहने की रणनीति के रूप में किया जाता है।

मानव शरीर में पानी की भूमिका:

पानी हमारे शरीर के ऑक्सीजन के रूप में समुचित कार्य के लिए महत्वपूर्ण है। हमारे शरीर के प्रत्येक कोशिका, अंग और ऊतक को पानी की आवश्यकता होती है। हमारे शरीर के तापमान को नियंत्रित करने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। यह शरीर में रक्त ऑक्सीजन परिसंचरण में सुधार करता है। यह जोड़ों के लिए स्नेहक का काम करता है। यह पाचन में सहायक होता है। यह हमारे शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है।

यह हमारे मस्तिष्क की कोशिकाओं के कामकाज में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके नुकसान को फिर से भरने के लिए हमारे लिए प्रत्येक दिन पर्याप्त मात्रा में पानी होना महत्वपूर्ण है। पर्याप्त पानी होने से ऊर्जा का स्तर उच्च रखने में मदद मिलती है। यह शारीरिक प्रदर्शन को तेज करने में मदद करता है।

पौधों के लिए पानी और ऑक्सीजन का मूल्य:

पौधों को जीवित रहने और बढ़ने के लिए ऑक्सीजन और पानी की भी आवश्यकता होती है। रात में पौधों को ऑक्सीजन मिलती है। इसलिए, जिस तरह हमें ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है, उसी तरह उन्हें भी जीवन के लिए इस शुद्ध गैस की आवश्यकता होती है। पौधों को भी नियमित रूप से पानी पिलाया जाना चाहिए। वे हाइड्रेटेड और हरे रहने के लिए पानी को अवशोषित करते हैं। पानी मिट्टी से पोषक तत्वों को पौधों की पत्तियों तक ले जाने में भी मदद करता है जहां प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया होती है।

निष्कर्ष:

इस प्रकार, पौधों और जानवरों के साथ-साथ मनुष्य के अस्तित्व के लिए पानी और ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। वे हमारे वातावरण के लिए जीवन प्रदान करते हैं।

ऑक्सीजन और पानी का महत्व पर निबंध, 600 शब्द:

प्रस्तावना:

हमारे ग्रह पर ऑक्सीजन और पानी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। हमें उस ऑक्सीजन के लिए भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है जो हम सांस लेते हैं और न ही हमें पृथ्वी पर मौजूद पानी के विभिन्न स्रोतों के लिए भुगतान करना पड़ता है। यही कारण है कि हम, मानव ने इन तत्वों को लेना शुरू कर दिया है। मनुष्य इन जीवन देने वाले तत्वों की कीमत पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उन्नति कर रहा है।

मनुष्य की कई कृतियाँ जैसे वाहन, एयर कंडीशनर और बिजली संयंत्र लगातार वायुमंडल में जहरीली गैसों को छोड़ते हैं जिससे ऑक्सीजन प्रदूषित होती है। कारखानों के साथ-साथ घरों से निकलने वाले अपशिष्ट उत्पादों को पानी में फेंक दिया जाता है जिससे जल निकाय प्रदूषित होते हैं।

जल प्रदूषण का बढ़ता स्तर:

यह दुख की बात है कि हमारी खूबसूरत नदियाँ, समुद्र के किनारे, घनीभूत धाराएँ और विशाल महासागर जो कभी ताजे पानी के स्रोत थे, अब तीव्र गति से प्रदूषित हो रहे हैं। औद्योगिक क्रांति के बाद से जल प्रदूषण विशेष रूप से बढ़ रहा है। कारखानों से बड़ी मात्रा में अपशिष्ट पदार्थ पास की नदियों और समुद्रों में फेंक दिया जाता है क्योंकि इन्हें एक आसान पलायन के रूप में देखा जाता है। इससे जलस्रोत अपवित्र हो जाते हैं।

जल प्रदूषण समुद्री जीवों के जीवन को बाधित करता है। रासायनिक और रेडियोधर्मी प्रदूषक इन निर्दोष प्राणियों के लिए जीवित रहना मुश्किल बनाते हैं। उनमें से कई विभिन्न प्रकार के रोगों को विकसित करते हैं जो उनके जीवन को कठिन बनाते हैं। दूसरों के प्रभाव का सामना करने और जीवन का त्याग करने में असमर्थ हैं। जल प्रदूषण के कारण जलीय जीवों की कई प्रजातियां विलुप्त हो गई हैं और कई के गायब होने की संभावना है।

नदी के किनारे बसे समुदायों के लिए नदियाँ पीने के पानी का एक स्रोत हैं। उनमें से अधिकांश जल शोधन प्रणाली बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं और नदी पर भरोसा करते हैं और अपने पीने और खाना पकाने की जरूरतों के लिए पानी प्रवाहित करते हैं। हालांकि, यह पानी अब सीधे पीने के लायक नहीं है। नतीजतन, वे गंभीर बीमारियों को जन्म देते हैं। जल प्रदूषण भी खाद्य श्रृंखला और जैव विविधता को परेशान करता है और अंततः पारिस्थितिक तंत्र में असंतुलन पैदा करता है।

वायु प्रदूषण का बढ़ता स्तर:

सड़क पर चलने वाले वाहन वातावरण में बड़ी मात्रा में हानिकारक गैसों को छोड़ते हैं। दुनिया भर में कारखानों की बढ़ती संख्या से विषाक्त गैसें भी निकलती हैं। वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर में ये योगदान दे रहे हैं। हमारा वातावरण कार्बन मोनो-ऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड और कार्बन डाइऑक्साइड जैसी हानिकारक गैसों से भरा जा रहा है। अब हम वायुमंडल से ताजी और शुद्ध ऑक्सीजन नहीं ले रहे हैं।

ऑक्सीजन वास्तव में है, अपने शुद्ध रूप में उपलब्ध नहीं है। हम वातावरण से सभी प्रकार की रासायनिक गैसों को बाहर निकालते हैं जो विभिन्न बीमारियों का कारण बनती हैं। वायुमंडल में वायु प्रदूषण की बढ़ती मात्रा के कारण इन दिनों फेफड़ों की बीमारियां बढ़ रही हैं। वायु प्रदूषण विभिन्न अन्य जानवरों को भी प्रभावित कर रहा है। उनके लिए सांस लेना उतना ही मुश्किल है जितना कि इंसानों के लिए।

वन ताजा ऑक्सीजन का एक समृद्ध स्रोत हैं। लेकिन दुर्भाग्य से, मानव तेजी से जंगलों को काट रहा है। इस प्रकार, सिस्टम में खोई हुई ऑक्सीजन की भरपाई नहीं हो रही है और हानिकारक गैसों की मात्रा बढ़ रही है जिससे वायु प्रदूषण बढ़ रहा है।

हमें पानी और ऑक्सीजन बचाना चाहिए:

यदि हम पेड़ों को काटना जारी रखते हैं, वाहनों को चलाते हैं जो धुएं का कारण बनते हैं, कारखानों में ईंधन जलाते हैं और पानी में रासायनिक अपशिष्ट का निपटान करते हैं, तो हमारा ग्रह कुछ दशकों के बाद जीवित प्राणियों के अस्तित्व के लिए ठीक नहीं रहेगा। हम पहले से ही बढ़ते जल और वायु प्रदूषण के नकारात्मक प्रभावों को देख रहे हैं और आने वाले समय में स्थिति केवल सबसे खराब होगी। हममें से प्रत्येक को वायु और जल प्रदूषण को रोकने के लिए अपना योगदान देना चाहिए।

निष्कर्ष:

जल निकायों और वायु को साफ रखने की आवश्यकता के बारे में बच्चों को संवेदनशील होना चाहिए। उन्हें उन विभिन्न तरीकों के बारे में भी सिखाया जाना चाहिए जिनमें ये कार्य पूरे किए जा सकते हैं। दुनिया भर के अलग-अलग देशों की सरकार को अपने-अपने देशों में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए योजनाओं के साथ आना चाहिए और नागरिकों को उनका पालन करना चाहिए।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.8 / 5. कुल रेटिंग : 127

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

इस लेख से सम्बंधित अपने सवाल और सुझाव आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

रावलपिंडी टेस्ट : पाकिस्तान के ऐतिहासिक टेस्ट में बारिश बन सकती है बाधा

पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच बुधवार से यहां शुरू हो रहे दो मैचों की ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज में बारिश...

पाकिस्तान को एशियाई बैंक से 1.3 अरब डॉलर का कर्ज मिला

आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को मनीला स्थित एशियाई विकास बैंक (एडीबी) से 1.3 अरब डॉलर का कर्ज मिला है, जिससे देश के...

मौजूदा सरकार के थोपे जाने के बाद मानवाधिकार हनन के मामले बढ़े : बिलावल भुट्टो जरदारी

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस (10 दिसंबर) के अवसर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान व अन्य सत्तारूढ़ नेताओं ने कश्मीर में मानवाधिकारों का रोना रोया...

भारतीय फुटबॉल टीम कप्तान सुनील छेत्री का प्यूमा के साथ 3 साल का करार

भारतीय पुरुष फुटबाल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने स्पोर्ट्स ब्रांड प्यूमा के साथ तीन साल का करार किया है। इंडियन सुपर लीग (आईएसएल)...

विरोध प्रदर्शनों से शांतिपूर्ण तरीके से निपटने पर इराक और अमेरिका सहमत

इराकी राष्ट्रपति बरहाम सोलिह और अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने सहमति जताई है कि इराक में चल रहे विरोध प्रदर्शन से बाहरी हस्तक्षेप के...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -