Mon. Feb 26th, 2024
    एयरटेल का नया प्लान

    टेलिकॉम मार्किट में चल रही प्रतिस्पर्धा में अपने आप को एक कदम आगे ले जाने के लिए एयरटेल एक नए प्रीपेड प्लान एक साथ आया है। यह प्रीपेड प्लान लम्बी वैद्यता चाहने वाले यूजर्स पर केन्द्रित है। इसका मूल्य 998 रुपए होगा और इसकी वैद्यता कुल 336 दिनों की होगी। ऐसे यूजर्स जोकि हर महीने न्यूनतम रिचार्ज नहीं कराना चाहते, उनके लिए यह एक उत्तम विकल्प है।

    इसके साथ ही एयरटेल ने कुछ समय पहले एक 597 रूपए का प्लान भी बाज़ार में लांच किया था जोकि ग्राहकों को कुल 168 दिनों की विअद्यता के साथ कई लाभ प्रदान करवाता है। यदि यूजर्स को और भी बड़ी विअद्यता का प्लान चाहिए तो एयरटेल का वार्षिक प्लान जिसका 1699 है, उसको चुन सकते हैं।

    ₹998 के प्लान के बारे में :

    एयरटेल द्वारा लांच किया गया यह सबसे हालिया प्लान लम्बी वैद्यता चाहने वाले यूजर्स पर केन्द्रित होकर बनाया गया है। 998 रूपए मूल्य पर यह प्लान यूजर को कुल 336 दिनों की वैद्यता अवधि देता है। इस पूरी वैद्यता अवधि में उपभोक्ताओं को असीमित स्थानीय, नेशनल और रोमिंग कालिंग के साथ साथ हर महीने 300 मुफ्त एसएमएस करने की सुविधा भी प्रदान करवाई जाती है।

    इसके अलावा यूजर्स को पूरी वैद्यता अवधि के लिए कुल 12 GB 4G इन्टरनेट मिलता है। एयरटेल द्वारा प्रदान किये जा रहे इस प्लान की वैद्यता 336 दिन होगी और इससे उपभोक्ताओं को हर महीने न्यूनतम रिचार्ज कराने की ज़रुरत नहीं पड़ेगी।

    ₹597 के प्रीपेड प्लान की जानकारी :

    एयरटेल का यह ₹597 का प्रीपेड रिचार्ज प्लान भी लंबी वैद्यता वाले प्लानों के अंतर्गत आता है। एयरटेल ने प्रतिस्पर्धा के बढ़ते पहले बाज़ार से हटा लिया था लेकिन कुछ समय पहले इसे दुबारा बाज़ार में लांच कर दिया गया था। यदि इस प्लान से मिलने वाले लाभों की बात करें तो यह प्लान 168 दिनों की वैद्यता के साथ आता है जिस अवधि में ग्राहकों को असीमित ल लोकल, एसटीडी और नेशनल और रोमिंग कॉल की बिना किसी लिमिट के सुविधा मिलती है।

    इसके साथ ही ग्राहकों को हर महीने 300 एसएमएस की सुविधा मिलती है और पूरी वैद्यता अवधि के लिए 6 GB 4G इन्टरनेट मिलता है। इन सुविधाओं के अलावा एयरटेल इस प्लान के सब्सक्राइबर को एयरटेल टीवी एप की भी सदस्यता देता है।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *