Sun. Jul 21st, 2024

    उत्तर प्रदेश के मिरज़ापुर से एक शर्मनाक घटना सामने आई है। मिरज़ापुर में सीआरपीएफ के एक जवान और एक सेवानिवृत्त जेलर के बेटे सहित चार लोगों से दसवीं कक्षा की छात्रा का अपहरण कर उसके साथ कार में सामूहिक बलात्कार किया है। जानकारी के मुताबिक कार पर पुलिस का लोगो चित्रित था।

    हलिया पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर, देविवर शुक्ला ने बताया कि अपहरण, सामूहिक बलात्कार और पोस्को अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने कहा कि सभी चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और बुधवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किए जाने की संभावना है।

    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय मिर्ज़ापुर से 50 किलोमीटर दूर हलिया में एक सूनसान जगह पर लेजाकर 15 वर्षीय लड़की पर सोमवार को कथित तौर पर हमला किया गया। गिरफ्तार व्यक्तियों में से एक जय प्रकाश मौर्य है। जो कि सेवानिवृत्त जेलर बृजलाल मौर्य का बेटा है। जय प्रकाश की बहन शादी के बाद हलिया के एक गाँव में बस गई थी। जिसके बाद वह पिछले कुछ महीनों में कई बार हलिया जा चुका था। इस दौरान उसने एक किशोरी से दोस्ती कर ली थी।

    पुलिस ने कहा कि पीड़िता के पिता ने सोमवार को आरोप लगाया कि जय प्रकाश ने मोबाइल पर उनकी बेटी को फोन किया और उसेसे गांव के बाहरी इलाके में एक जगह पर मिलने के लिए बुलाया। जहां वह एक कार में अपने तीन दोस्तों के साथ मौजूद था। जिसके बाद जय प्रकाश उसे जबरन एक अलग स्थान पर ले गया। जहां चारों ने उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किया।

    जिस कार में चार आरोपियों द्वारा लड़की के साथ बलात्कार किया गया। जिसके बाद वह वापस लड़की को लेकर उसके गांव जा रहा था। इस दौरान चेकिंग के लिए उसकी कार को रोका गया। कार रुकते ही पड़िता रोने लगी। जिससे पुलिस को शक हुआ। जिसके बाद ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मी चारों आरोपियों और लड़की को थाने ले आए।

    पुलिस ने बताया कि लड़की ने अपने पिता को पूरी घटना की जानकारी दी। जिसके बाद उन्होंने चारों व्यक्तियों – जय प्रकाश, लव कुमार पाल, गणेश प्रसाद और सुल्तानपुर में तैनात सीआरपीएफ के सिपाही महेंद्र कुमार यादव के खिलाफ मामला दर्ज किया।

    एक अधिकारी ने बताया कि कार जय प्रकाश मौर्य की है। कार पर पुलिस का लोगो उसने कैसे लगाया इसकी जांच की जा रही है। चारों आरोपियों को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है।

    यह घटना पिछले हफ्ते भर में बच्चों और महिलाओं के खिलाफ अपराधों के कई मामलों में देशव्यापी आक्रोश के बीच आई है। जिसमें 28 नवंबर को हैदराबाद के 26 वर्षीय पशु चिकित्सक द्वारा चार पुरुषों द्वारा सामूहिक बलात्कार और क्रूर हत्या शामिल है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *