दा इंडियन वायर » लोग » ईशा कोप्पिकर की जीवनी
लोग

ईशा कोप्पिकर की जीवनी

Isha Koppikar biography in hindi

ईशा कोप्पिकर भारतीय फिल्मो की अभिनेत्री हैं। ईशा ने हिंदी फिल्मो के अलावा तेलुगु, तमिल, मराठी और कन्नड़ फिल्मो में भी अभिनय किया था। ईशा ने एक मॉडल के रूप में अपने व्यवसाय जीवन की शुरुआत की थी। बाद में उन्हें फिल्मो की दुनिया में देखा जाने लगा था और इसके बाद उन्होंने राजनीति में भाग लेने का फैसला लिया था।

ईशा के द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘जोड़ी’, ‘फ़िज़ा’, ‘प्यार, इश्क़ और मोहब्बत’, ‘आमदनी अट्ठनी खर्चा रुपैया’, ‘पिंजरा’, ‘दिल का रिश्ता’, ‘क़यामत: सिटी अंडर थ्रेट’, ‘हम तुम’, ‘मैंने प्यार क्यों किया?’, ‘डॉन’, ‘रब ने बना दी जोड़ी’, ‘केशवा’ जैसी बड़ी बड़ी फिल्मो में अभिनय किया है। ईशा ने अपने अभिनय की वजह से लोगो का बहुत प्यार पाया है और कई सारे अवार्ड्स को भी अपने नाम भी किया है।

ईशा कोप्पिकर का प्रारंभिक जीवन

ईशा कोप्पिकर का जन्म 19 सितम्बर 1976 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। ईशा के पिता का नाम ‘रगाव कोप्पिकर हैं और उनकी माँ का नाम ‘बैरल कोप्पिकर’ है। ईशा का एक भाई है जिनका नाम ‘अनोश कोप्पिकर’ है। ईशा ने अपने स्कूल की पढाई पूरी करने के बाद ‘रामनारायण रूइआ कॉलेज’, मुंबई से अपने ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की थी।

अपने कॉलेज के दौरान ही ईशा ने अपना पहला पोर्टफोलियो तैयार किया था और उन्हें अपने मॉडलिंग के करियर के दौरान कुछ टीवी विज्ञापनों में भी अभिनय करते हुए देखा गया था। उन्होंने लॉरिअल, रेक्सोना, कमय, कोका – कोला जैसे बड़े बड़े ब्रांड के लिए काम किया है।

ईशा ने साल 1995 में मिस इंडिया कांटेस्ट में ‘मिस टैलेंट क्राउन’ का ख़िताब जीता था। उन्होंने अपने मॉडलिंग के व्यवसाय में सफलता पाने के बाद पहली बार एक तमिल फिल्म में अभिनय किया था। यही से ईशा कोप्पिकर का अभिनेत्री बनने का सफर शुरू हुआ था।

ईशा कोप्पिकर का व्यवसायिक जीवन

ईशा कोप्पिकर का फिल्मो का शुरुआती सफर

ईशा ने साल 1998 से अपने अभिनय को फिल्मो में दर्शन शुरू किया था। उनकी फिल्म तेलुगु फिल्म थी, जिसका नाम ‘चंद्रलेखा’ था। इस फिल्म ने निर्देशक ‘कृष्णा वामसी’ थे और फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता ‘नागार्जुन’ ने अभिनय किया था। इसी साल की ईशा की दूसरी फिल्म का नाम ‘एन स्वासा कात्रे’ था। फिल्म के निर्देशक ‘के. एस. रवि’ थे और फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता ‘अरविन्द स्वामी’ को देखा गया था।

इसके बाद इसी साल उन्हें तीसरी फिल्म में देखा गया था, जिसका नाम ‘जोड़ी’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रवीन गाँधी’ थे और फिल्म के मुख्य किरदारों को ‘प्रशांता’ और ‘सिमरन’ ने निभाया था। ईशा ने इस फिल्म में कैमिओ किरदार को दर्शाया था। साल 1999 में ईशा को तमिल रोमांटिक एक्शन फिल्म ‘नेंजिलीने’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘एस. ए. चंद्रशेकर’ थे और फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता ‘विजय’ को देखा गया था।

साल 2000 में ईशा कोप्पिकर ने अपना डेब्यू तेलुगु और तमिल फिल्मो के बाद कन्नड़ फिल्मो में भी कर लिया था। उनकी पहली कन्नड़ फिल्म का नाम ‘हू आथिया उहू अथिया’ था, जिसके निर्देशक ‘प्रवीन नाइक’ थे। फिल्म में ईशा ने अभिनेता ‘रमेश’ के साथ अभिनय किया था। उसी साल उन्होंने दो और कन्नड़ फिल्मो में अभिनय किया था।

पहली फिल्म ‘रविचंद्रन’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘ओ नन्ना नाले’ थी और दूसरी ‘एस नारायण’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘सूर्य वंशा’ थी। ईशा की यह दोनों ही फिल्मे बॉक्स ऑफिस में सुपरहिट रही थी।

ईशा कोप्पिकर का बॉलीवुड का सफर

साल 2000 में ईशा कोप्पिकर ने अपना डेब्यू हिंदी फिल्मो में भी किया था। उनकी पहली हिंदी फिल्म ‘खालिद मोहम्मद’ द्वारा निर्देशित क्राइम थ्रिलर फिल्म ‘फ़िज़ा’ थी। इस फिल्म में उन्होंने ‘गीतांजलि’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को ह्रितिक रोशन, करिश्मा कपूर और जया बच्चन ने निभाया था। इसके बाद ईशा को दूसरी बार फिल्म ‘राहुल’ में एक आइटम गाने पर नाचते हुए देखा गया था। इन दोनों फिल्मो में थोड़ा बहुत अभिनय करने के बाद ईशा को साल 2001 में हिंदी फिल्म ‘प्यार, इश्क़ और मोहब्बत’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजीव राय’ थे।

फिल्म में ईशा के साथ सुनील शेट्टी, आफताब शिवदासानी और अर्जुन रामपाल ने अभिनय किया था। साल 2001 में ही एक बार फिर ईशा को एक बड़ी फिल्म में देखा गया था, जिसके निर्देशक ‘के. राघवेन्द्रा राव’ थे। फिल्म का नाम ‘आमदनी अट्ठनी खर्चा रुपैया’ था। फिल्म में ईशा ने ‘अंजलि’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म ने बोक्स ऑफिस में बहुत अच्छी कमाई की थी। साल 2002 में ईशा को फिल्म ‘कंपनी’ में एक आइटम गाने पर डांस को दर्शाते हुए देखा गया था।

इस फिल्म के निर्देशक ‘राम गोपाल वर्मा’ थे और फिल्म में मुख्य किरदारों को अजय देवगन, विवेक ओबेरॉय और मनीषा कोइराला ने निभाया था। इस गाने का नाम ‘खल्लास’ था, जिसे दर्शको ने बहुत पसंद किया था। इस फिल्म में ‘खल्लास’ गाने पर डांस करने के बाद ईशा को कुछ समय तक ‘खल्लास गर्ल’ नाम से पुकारा जाने लगा था। इसके बाद उन्होंने अपनी अगली फिल्म में भी एक आइटम गाने पर डांस किया था। इस फिल्म का नाम ‘कांटे’ था और गाने का नाम ‘इश्क़ समंदर’ था। इस गाने को भी दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2003 में ईशा कोप्पिकर को फिल्म ‘दिल का रिश्ता’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘नरेश मल्होत्रा’ थे। इस फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता अर्जुन रामपाल और ऐश्वर्या राय को देखा गया था। इसी साल की उनकी दूसरी फिल्म ‘प्रवाल रमन’ द्वारा निर्देशित हॉरर ड्रामा फिल्म ‘डरना मना है’ थी। इस फिल्म में ईशा ने अभिनेता ‘आफताब शिवदासानी’ के साथ ‘अभिलाषा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद ईशा की उस साल की तीसरी फिल्म ‘चंद्रप्रकाश द्विवेदी’ द्वारा निर्देशित ड्रामा फिल्म ‘पिंजरा’ थी।

इस फिल्म में ईशा ने उर्मिला मातोंडकर और मनोज बाजपाई के साथ अभिनय किया था। इस फिल्म को उस साल की बेस्ट फिल्म के रुप में चुना भी गया था। इसके बाद उसी साल ईशा ने ‘जे. पि. दत्ता’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘एलओसी कारगिल’ में अभिनेता सुनील शेट्टी के साथ अभिनय किया था। इस फिल्म में ईशा के किरदार का नाम ‘संतो’ था। इस साल की ईशा कोप्पिकर की आखरी फिल्म का नाम ‘क़यामत: सिटी अंडर थ्रेट’ था।

इस फिल्म में उन्होंने अभिनेता अजय देवगन और सुनील शेट्टी के साथ अभिनय किया था। इस फिल्म की वजह से ईशा को ‘बेस्ट विलन’ का अवार्ड भी मिला था। साल 2004 में भी ईशा ने लगतार हर दो महीनो के अंतर से, एक के बाद एक फिल्मो में अभिनय किया था। उस साल उन्होंने कुल 6 फिल्मो में अभिनय किया था।

साल 2004 में ईशा ने सबसे पहले ‘मणि शंकर’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘रुद्राक्ष’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘लाली’ का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद ईशा कोप्पिकर को ‘कुंदन शाह’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘एक से बढ़कर एक’ में देखा गया था, जिसमे उन्होंने ‘त्रसी’ का किरदार अभिनय किया था।

इस फिल्म में उन्होंने अभिनेता सुनील शेट्टी के साथ अभिनय किया था। इसी साल की उनकी तीसरी फिल्म का नाम ‘कृष्णा कॉटेज’ था, जिसके निर्देशक ‘संतराम वर्मा’ थे। इस फिल्म में ईशा के किरदार का नाम ‘दिशा’ था और उन्होंने अभिनेता ‘सोहेल खान’ की गर्लफ्रेंड का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें ‘पंकज पराशर’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘इन्तेक़ाम’ में देखा गया था। इस फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता मनोज बाजपाई को अभिनय करते हुए देखा गया था। यह फिल्म हॉलीवुड की फिल्म ‘बेसिक इंस्टिक्ट’ का रीमेक थी।

ईशा की साल 2004 की अगली फिल्म का नाम ‘हम तुम’ था, जिसके निर्देशक ‘कुनाल कोहली’ थे। इस फिल्म में ईशा ने सहायक का किरदार अभिनय किया था और मुख्य किरदारों को अभिनेता सैफ अली खान और अभिनेत्री रानी मुख़र्जी ने निभाया था। साल 2004 की ईशा की आखरी फिल्म का नाम ‘गर्लफ्रेंड’ था, जिसे ‘करन राज़दान’ ने निर्देश किया था। इस फिल्म में ईशा ने ‘तान्या’ का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ अमृता राओ और आशीष चौधरी को भी मुख्य किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था।

साल 2005 में ईशा ने ‘संगीत सिवान’ की निर्देश की गई कॉमेडी फिल्म ‘क्या कूल हैं हम’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में ईशा ने अनुपम खेर, रितेश देशमुख, और तुषार कपूर के साथ अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म बॉक्स ऑफिस में भी हिट लिस्ट में शामिल हुई थी।

 

 

साल 2005 में ईशा कोप्पिकर को दो और कॉमेडी फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा गया था। उन्हें डेविड धवन द्वारा निर्देशित फिल्म ‘मैंने प्यार क्यों किया?’ में अभिनेता सोहेल खान की गर्लफ्रेंड के किरदार में देखा गया था। इसके बाद ईशा को ’36 चीन टावर’ में अक्षय खन्ना और करीना कपूर के साथ ‘सोनिआ चंग’ के किरदार को अभिनय करते हुए देखा गया था।

साल 2006 की बात करे तो ईशा ने उस साल फरहान अख्तर द्वारा निर्देश की गई फिल्म ‘डॉन: द चेस बिगिन अगेन’ में अभिनेता शाहरुख़ खान के साथ अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई की थी और अपना नाम उस साल की ब्लॉकबस्टर फिल्मो की लिस्ट में दर्ज भी किया था। इसके बाद इसी साल ईशा को फिल्म ‘हसीना’ में देखा गया था, जो की बॉक्स ऑफिस पर ठीक ठाक कमाई करने में सफल हुई थी।

साल 2007 में ईशा कोप्पिकर को निखिल अडवाणी द्वारा निर्देशित फिल्म ‘सलाम-ए-इश्क़’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म में ईशा ने अभिनेता सोहेल खान के साथ अभिनय किया था। इसके बाद इसी साल ईशा ने फिल्म ‘डार्लिंग’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता फरदीन खान और ईशा देओल ने अभिनय किया था। साल 2008 में ईशा ने फिल्म ‘हैलो’ में अभिनय किया था, जो की लेखक ‘चेतन भगत’ की किताब ‘वन नाईट @ द कॉल सेंटर’ से प्रेरित होकर बनाई गई थी। इसी के बाद ही ईशा को फिल्म ‘एक विवाह….. ऐसा भी’ में देखा गया था। इस फिल्म में ईशा के साथ अभिनेता ‘सोनू सूद’ को अभिनय करते हुए देखा गया था।

साल 2009 में ईशा कोप्पिकर को किसी भी फिल्म में अभिनय करते हुए नहीं देखा गया था। साल 2010 में एक बार फिर उन्होंने हिंदी फिल्मो में वापसी की थी। उन्होंने उस साल सबसे पहले नीरज पाठक द्वारा निर्देशित फिल्म ‘राइट या रॉंग’ में अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल ईशा को ‘मनोज तिवारी’ की फिल्म ‘हैलो डार्लिंग’ में भी अभिनय करते हुए देखा गया था। यह दोनों ही फिल्म बॉक्स ऑफिस में फ्लॉप साबित हुई थी।

साल 2011 में ईशा को फिल्म ‘शबरी’ में देखा गया था, जिसमे उन्होंने एक मुंबई की गैंस्टर का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में ईशा के किरदार की क्रिटिक्स ने सराहना की थी लेकिन फिल्म बॉक्स ऑफिस में फ्लॉप लिस्ट में ही शामिल हुई थी।

साल 2013 में ईशा ने मराठी फिल्मो में अभिनय करने का सोचा था और उसी साल उन्हें मराठी फिल्म ‘मात’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मनोहर सर्वांकर’ थे। इस फिल्म में ईशा ने मुख्य किरदार को दर्शाया था और ईशा के साथ फिल्म में अभिनेता ‘समीर धर्ममाधीकरी’ को देखा गया था। साल 2013 के बाद ईशा को सीधा साल 2017 में तेलुगु फिल्म ‘केशवा’ में देखा गया था। इस फिल्म में ईशा ने ‘शर्मीला मिश्रा’ का किरदार अभिनय किया था।

साल 2018 में ईशा ने कन्नड़ फिल्म ‘लूटी’ में अभिनय किया था, जिसमे उन्होंने पुलिस ऑफिसर का किरदार अभिनय किया था। साल 2019 में भी उन्हें कन्नड़ फिल्म ‘कवच’ में देखा गया था, जिसमे एक बार फिर ईशा ने पुलिस ऑफिसर की भूमिका निभाई थी।

ईशा कोप्पिकर का निजी जीवन

ईशा कोप्पिकर के लव लाइफ की बात करे तो उन्होंने सबसे पहले अभिनेता ‘इन्दर कुमार’ को डेट किया था। इन दोनों के ब्रेकअप के बाद ईशा की मुलाकात ‘टिम्मी नारंग’ से हुई थी। टिम्मी नारंग पेशे से एक होटल के मैनेजर हैं। इन दोनों की मुलाकात अभिनेत्री प्रीटी ज़िंटा ने एक पार्टी में कराइ थी, जहाँ से इन दोनों के बीच पहले दोस्ती हुई थी और फिर धीरे धीरे प्यार का रिश्ता बढ़ने लगा था।

टिम्मी और ईशा ने साल 2009 में शादी की थी और साल 2014 में उन्होंने एक बेटी को जन्म दिया था। दोनों ने अपनी बेटी का नाम ‘रिआना’ रखा था।

ईशा के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में सबसे ज़्यादा जैपनीज़, थाई और इंडियन खान पसंद है। ईशा के पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन हैं और अभिनेत्रियों में उन्हें माधुरी दीक्षित पसंद हैं। ईशा ने टायक्वोंडो में ब्लैक – बेल्ट जीता है।

ईशा ने साल 2019 में ‘भारतीय जनता पार्टी’ का हिस्सा बनाने का फैसला लिया था और उन्हें बीजेपी की तरफ से ‘महिला परिवहन विंग’ के पद से सम्मानित किया गया था।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 85

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!