दा इंडियन वायर » विदेश » सफलता से ज्यादा नाकामी हाथ लगी: इमरान खान पर बेनजीर भुट्टो का बयान
विदेश

सफलता से ज्यादा नाकामी हाथ लगी: इमरान खान पर बेनजीर भुट्टो का बयान

इमरान खान

पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की बेटी एसेफा भुट्टो जरदारी ने कहा कि मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान की असफलताएं उनकी सफताओं से ज्यादा हैं। एसेफ़ा ने कहा कि “इमरान खान को सफलताओं की तुलना में अधिक असफलताएं मिली हैं। अभिव्यक्ति की आज़ादी और संघठन की स्वतंत्रता पर रोक और  मानवाधिकारों का उल्लंघन ये सभी उनके कार्यकाल में हो रहा है।”

बेनजीर भुट्टो और आसिफ अली जरदारी के तीन बच्चों में असीफा सबसे छोटी हैं। सबसे बड़े बेटे बिलावल भुट्टो जरदारी विपक्ष की पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष हैं। एसेफा ने कहा कि “उसने खान सरकार और पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की तानाशाही के बीच बहुत सारी समानताएं देखीं है। खान के समक्ष मुशर्रफ के वही कैबिनेट मंत्रियो का जमघट  हैं।”

26 वर्षीय एसेफा ने खान के पिछले वादों पर भी निशाना साधा था। एसेफा ने कहा कि “उन्होंने पाकिस्तानी लोगों से वादा किया था कि वह एक करोड़ नौकरियों का सृजन करेंगे। हालांकि, उन्होंने अभी तक एक भी नौकरी नहीं दी है। उन्होंने वास्तव में अधिक अस्थिरता पैदा की है और कई लाख लोगों को इस आर्थिक अस्थिरता के कारण  लाखो लोगो को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।”

एसेफा ने कहा कि ” इमरान खान ने वादा किया था कि वह 50 लाख घरो का निर्माण करेंगे। हालाँकि अभी तक एक भी घर का निर्माण नहीं किया है बल्कि लाखो की संख्या में घरो को तबाह कर दिया है।  उन्होंने कहा था कि वह अन्य राष्ट्रों से सहायता मांगने के बजाय आत्महत्या कर लेंगे। हालांकि, वह हर एक देश में सामने अपने हाथ में एक ही भीख के कटोरे के साथ देखे जाते हैं।”

इमरान खान के पाकिस्तान में अब यू टर्न पर यू टर्न लिए जा रहे हैं। कठिनाइयों के बावजूद राजनीति में शामिल होने की अपनी प्रेरणा के बाबत उन्होंने कहा कि “मैंने अपने दादा, अपनी मां को खो दिया था और मेरे परिवार ने कई कुर्बानियां दी है। मेरे भाई समस्त पाकिस्तान के लिए बोलते हैं और इसलिए हम अपने अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी के साथ बोलेंगे और खड़े रहेंगे।”

About the author

कविता

कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!