Wed. Apr 24th, 2024
    ग़ज़ा पट्टी पर प्रदर्शन

    हमास ने गाजा पट्टी में तनाव को कम करने के लिए इजराइल के साथ समझौता कर लिया है। फिलिस्तानी नागरिक इस हफ्ते प्रदर्शन की पहली सालगिरह के आयोजन की तैयारियां कर रहे हैं। इजराइल के साथ गाजा की बाड़ में बीते वर्ष प्रदर्शन हुआ था, जिसमे काफी रक्तपात हुआ था। इसमें इजराइल स्नाइपर फायर से 260 से अधिक फिलिस्तानी नागरिकों की मृत्यु हुई थी। करीब 7000 लोग जख्मी हुए थे।

    महीनों से सैन्य तनाव बढ़ने के कारण मिस्र भी बिचौलिए की भूमिका निभा रहा है। समारोह के शाम को कथित व्यापक प्रदर्शन हुआ। आयोजन समिति ने प्रदर्शनकारियों को निर्देश दिए कि इजराइल की बंदूकों से दूर रहे, जमीन पर आयोजनकर्ताओं के कमांड का पालन करे, कोई आक्रमक कार्रवाई न करे और टायरों को न जलाये।

    अल जजीरा के मुताबिक हमास के अधिकारी खलील अल्हैया ने कहा कि “हमने मिस्र के प्रतिनिधियों से सकारात्मक प्रतिक्रिया सुनी है। हम, फिलिस्तानी और हमारी जनता अपनी वैध और निष्पक्ष मांग को हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।” इस मामले के फिलिस्तानी जानकार ने कहा कि “प्रस्तावित डील के मुताबिक, शनिवार को प्रदर्शनकारियों को इजराइल की बाड़ से दूर रहना है।

    गाजा के स्वास्थय मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि “इजराइल की परिधि के नजदीक एक फिलिस्तानी नागरिक को इजराइल की सेना ने शुक्रवार को गोली मार दी थी, प्रदर्शन से कुछ घटों पूर्व ही उसकी मौत हो गयी है। 21 वर्षीय मोहम्मद साद को बाड़ के नजदीक प्रदर्शन शिविर में गोली लगी थी।”

    शुक्रवार को इजराइल की सेना ने मोहम्मद साद को गोली मार दी थी। युवक का भाई विलाप करता हुआ (स्रोत: रायटर्स)

    इजराइल की सेना ने इस पर को तत्कालित प्रतिक्रिया नहीं दी है। अलजजीरा के पत्रकार ने ग़ज़ा से रिपोर्टिंग करते हुए कहा कि “हमास के मुखपत्र ने अल रिशाद ने शुक्रवार रात को इजराइल और हमास के समझौते के बाबत रिपोर्ट दी थी।समझौते के मुताबिक “इजराइल ने प्रतिमाह तनख्वाह को 15 मिलियन डॉलर से बढाकर 40 मिलियन डॉलर कर दिया है, फिशिंग क्षेत्र को 9 नॉटिकल मील से 12 नॉटिकल मील कर दिया है और इजराइल से गज़ा में बिजली सप्लाई में भी वृद्धि की है।”

    इजराइल ने इस समझौते में रॉकेट नहीं दागने को कहा है। हाल ही में तेल अवीव पर दागे गए रॉकेट में एक परिवार का घर ध्वस्त हो गया था और साथ लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए थे। शनिवार को सैकड़ों प्रदर्शनकारी इजराइल की बाड़ के नजदीक गज़ा शहर में पहुंचना शुरू हो गए थे। प्रदर्शन में पहली बार हमास के सुरक्षा अधिकारी सेना की वर्दी में दिखेंगे।

    फिलिस्तीन के प्रमुख प्रदर्शन का आंकड़ा (स्रोत: अलजजीरा)

    इजराइल ने पहले ही अतिरिक्त सैनिक और टैंक सीमा पर भेज दिए हैं। बाड़ पर संयमता की गारंटी पर टैंक का इस्तेमाल न करने को कहा है।

    साल 1976 में छह फिलिस्तानियों की हत्या के स्मरण में 30 मार्च को वार्षिक प्रदर्शन किया जाता है। यह प्रदर्शनकारी यहूदी समुदाय को बसाने के लिए अपनी जमीन के कब्जाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। यूएन जांच के मुताबिक बीते वर्ष कई प्रदर्शनकारियों ने हिंसक बर्ताव किया था, लेकिन अधिकतर लोग निहत्थे और शांतिपूर्ण थे। इजराइल गोलाबारूद के इस्तेमाल के लिए कोई स्पष्टीकरण नहीं दे पाया है।

    इजराइल में 9 अप्रैल को चुनावों का आयोजन होना है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि ‘सभी इजराइल वासियों को जानना चाहिए है कि अगर व्यापक अभियान की जरुरत होगी तो हम उसमे सुरक्षित और मज़बूती से प्रवेश करेंगे, लेकिन यह सभी विकल्पों से थक जाने के बाद संभव होगा।”

    हमास भी घरेलू राजनीतिक दबाव में हैं। इस माह की शुरुआत में बढ़ती महंगाई और शुल्क वृद्धि के कारण प्रदर्शनकारियों का हुजूम सड़कों पर उतर आया था। हमास के सुरक्षा अधिकारीयों ने प्रदर्शनकारियों को पीटकर और गिरफ्तार कर प्रदर्शन को खत्म किया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *