दा इंडियन वायर » खेल » आईपीएल : रोमांचक मुकाबले में पंजाब ने चेन्नई को 4 विकेट से हराया
खेल

आईपीएल : रोमांचक मुकाबले में पंजाब ने चेन्नई को 4 विकेट से हराया

आईपीएल चेन्नई बनाम पंजाब

आईपीएल 2018 के 11 वें मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई सुपर किंग्स को 4 रनों से हराया।

टॉस जीतकर चेन्नई की टीम ने पंजाब को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। पंजाब ने पहले बैटिंग करते हुए 20 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर 197 रन बनाकर चेन्नई के सामने 198 रनो का लक्ष्य रखा।

इसके जवाब में चेन्नई की टीम 20 ओवरों में 193 रन ही बना सकी। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (79) की शानदार पारी के बावजूद चेन्नई को इस मैच में 4 रन से हार का सामना करना पड़ा। सीएसके की तरफ से धोनी ने सर्वाधिक 79 रन 44 गेंदों में बनाये।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरे पंजाब के ओपनर क्रिस गेललोकेश राहुल ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए पहले विकेट के लिए 7.6 ओवर में 96 रन जोड़े।

क्रिश गेल ने 190 की स्ट्राइक से 7 चौको व 4 छक्को की मदद से 63 रन बनाये। लोकेश राहुल (37) व मयंक अग्रवाल (30) की जुझारू परियों की मदद ने पंजाब ने 11.3 ओवर में दो विकेट गवाकर 127 रन के साथ मजबूत स्थिति में थी लेकिन चेन्नई ने वापसी करते हुए पंजाब के स्कोर को 197 से आगे बढ़ने नहीं दिया।

चेन्नई की तरफ से ताहिर व ठाकुर ने दो दो और हरभजन, वाटसन व ब्रावो ने एक एक विकेट अर्जित किये।

लक्ष्य का का पीछा करने उतरी चेन्नई की शुरुआत अच्छी नहीं रही। चेन्नई का पहला विकेट 17 रन के स्कोर पर वाटसन (11) के रूप में गिरा। वाटसन मोहित शर्मा की गेंद पर बरिंदर सरन के हाथो लपके गए।

मुरली विजय भी कुछ ख़ास न कर सके और बरिंदर के हाथो लपके गए। मुरली का विकेट एंड्र्यू टॉय ने झटका। इसके बाद आए सैम बिलिंग्स और अम्बाती रायडू पारी में 17 रन ही जोड़ पाए थे कि बिलिंग्स अश्विन की गेंद पर एलबीडब्लू हो गए। यह चेन्नई की टीम को तीसरा झटका था।

चेन्नई को हार से बचाने के लिए के लिए खुद कप्तान धोनी मैदान में थे। धोनी ने रायडू के साथ मिलकर 57 रनो की शानदार साझेदारी करते हुए टीम आंकड़े को 100 के पार पहुंचाया।

पंजाब के लिए कप्तान कप्तान आश्विन ने कमान अपने हाथों में लेते हुए फिर एकबार चेन्नई को झटका दिया। इस बार आश्विन का शिकार रायडू थे जो 35 गेंदों पर 5 चौको और एक छक्के की मदद से 49 निजी स्कोर पर आउट हुए।

चेन्नई को जीत के लिए 36 गेंदों में 85 रनो की जरुरत थी। चेन्नई की जीत के रास्ते का कांटा बनते हुए एंड्र्यू टॉय ने रायडू के बाद बल्लेबाजी करने आए जडेजा को अश्विन के हाथो कैच कराकर मैच को पंजाब के पाले में ला खड़ा किया।

अंतिम 6 गेंदों पर चेन्नई को जीत के लिए 17 रनो की जरुरत थी पर माही सिर्फ 13 रन ही बना सके और चेनाई की टीम ने यह मैच 4 रन से गवां दिया। चेन्नई की टीम 193 रन ही बना सकी। टूर्नामेंट में ये चेन्नई की पहली हार है।