Thu. Jun 13th, 2024
    अश्विन, जडेजा और कुलदीप

    भारतीय क्रिकेट टीम के लिए कुलदीप यादव काफी प्रभावशाली रहे हैं क्योंकि बाएं हाथ के चाइनामैन ने नियमित अंतराल पर विकेट लिए हैं और जब विदेशी परिस्थितियों की बात आती है, तो उन्होंने कई मौकों पर अपनी सूक्ष्मता साबित की है।

    कुलदीप यादव ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में भी सबको प्रभावित किया था और उन्होने उस तीन मैचो की सीरीज में 4 विकेट चटकाए थे, उसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्हे आखिरी टेस्ट मैच में टीम में जगह मिली थी, जहां उन्होने पांच विकेट चटकाए थे। न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच एकदिवसीय मैच में भी उनकी शानदार शुरूआत रही और उन्होने माउंट मांउगुनई में खेले दूसरे मैच में पांच विकेट लिए थे।

    भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी बाएं- हाथ के स्पिनर की जमकर प्रशंसा की क्योंकि वह पिछले कुछ समय से बहुत बेहतरीन गेंदबाजी करते आ रहे है और उन्होने यह भी कहा की वह विदेशी परिस्थिति में अपने आप को टॉप पसंद बनाने के लिए तब्दील कर रहे है।

    शास्त्री ने कहा, ” उन्होने विदेशी परिस्थिति में क्रिकेट खेला है और पांच विकेट भी चटकाए है तो इसलिए अब वह हमारे मुख्य विदेशी स्पिनर है। आगे बढ़ते हुए, कोई स्पिनर खेलता है तो, वह यह है जिसे हम चुनेंगे। हर किसी के लिए एक टाईम होता है (अश्विन की 2018 में बेकार फिटनेस को लेकर)। लेकिन अब कुलदीप हमारे नंबर एक विदेशी स्पिनर है।”

    शास्त्री ने उनके उस प्रयास की प्रशंसा की जो उन्होने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में चोट के कारण आर.अश्विन की जगह लेते हुए दी थी। उन्होने क्रिकबज्ज को दिए अपने इंटरव्यू में कहा, ” मैं उससे बहुत प्रभावित था जिस प्रकार कुलदीप ने सिडनी में गेंदबाजी की। टेस्ट क्रिकेट में भी, यह कलाई की स्पिन का युग है, विशेष रूप से विदेशी टेस्ट क्रिकेट में। जिस तरह से उन्होने सिडनी में गेंदबाजी की, वह अब विदेशी सरजमीं में हमारे नंबर एक स्पिनर बन गए है।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *