Sun. Jul 14th, 2024
    विराट कोहली, रवि शास्त्री

    विराट कोहली इस समय बिना किसी संदेह के विश्व के सबसे बहतरीन बल्लेबाज है। उन्होने विश्व में हर जगह हर गेंदबाजी अतिक्रमण के खिलाफ रन मारे है। लेकिन कोहली को एक बहतर कप्तान बनने में समय लगा जब से उनके पास साल 2015 में टेस्ट की कप्तानी आयी थी। भारतीय टीम के कप्तान ने कहा मुख्य कोच रवि शास्त्री के इनपुट के कारण वह एक बेहतर कप्तान बनकर सामने आए है।

    कोहली ने स्टार स्पोर्टस से बात करते हुए कहा, ” 2014 के बाद से मुझे लगता है शास्त्री एक ऐसे इंसान है जिन्होने मुझे एक ईमानदार प्रतिक्रिया दी है, जब भी चीजो को बदलना आवश्यक होता है। मुझे याद है कि हम (पिछले साल) एक साथ बैठे थे। मैंने इंग्लैंड में एक ही टेस्ट में शतक और एक अर्धशतक बनाया था, इसलिए उन्होंने मुझे बुलाया और उन्होंने कहा, जहां तक ​​बल्लेबाजी का सवाल है, मैं अब आपके साथ कुछ भी चर्चा नहीं करने जा रहा हूं क्योंकि आपने कुछ किया है जिस पर मुझे गर्व है और सभी को गर्व है। लेकिन एक कप्तान के रूप में, मुझे यह सोचने की ज़रूरत है कि इस टीम से सर्वश्रेष्ठ कैसे हासिल किया जाए और रणनीति पर कैसे ध्यान दिया जाए।  वास्तव में मुझे ऐसा लगा, क्योंकि मुझे ऐसा लगा, आप जानते हैं, कप्तानी के अलावा भी बहुत कुछ है।”

    भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ पिछले साल 1-4 से हार का सामना करना पड़ा था, लकिन हाल हा में टीम नें ऑस्ट्रलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज में जीत हासिल की। कोहली ने कहा शास्त्री ने उन्हे बहतर कप्तान बनाने के लिए उन्हे बदलने की कभी कोशिश नही की।

    कोहली ने कहा, ” क्योंकि उन्होने बहुत कमंट्री की है, तो वह खेल को बहुत करीब से देखते है और खुद को बहुत ज्यादा खेलते है- सिर्फ खेल देखकर- उन्हे पता है की खेल कहा जा रहा है। तो इसलिए उनसे लगातार प्रतिक्रिया लेना मेरे लिए सबसे बड़ी मदद रही है, अपने व्यक्तित्व को कप्तानी के मामले में डालने में। वह एक ऐसे है जिन्होने मुझे कभी बदलाव करने को नही कहा सिर्फ मुझे कप्तानी के मोड में बदलने को कहा।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *