Fri. May 24th, 2024
    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

    बुधवार के दिन, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने “मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना” का शुभारंभ किया जिसके तहत दिल्ली में 70 विधानसभा क्षेत्रों में से प्रत्येक के 1,100 वरिष्ठ नागरिक को मुफ्त तीर्थयात्रा करने का अवसर मिलेगा। इस योजना के तहत, 60 वर्ष से अधिक दिल्ली निवासी, अपने पति / पत्नी के साथ मुफ्त तीर्थयात्रा लेने के योग्य होंगे।

    यदि बुज़ुर्ग या उसके पति / पत्नी 70 साल से ऊपर हैं, तो वे 20 साल से ऊपर के एक व्यक्ति को अपने साथ भी ले जा सकते है। उस व्यक्ति का खर्चा भी दिल्ली सरकार द्वारा उठाया जाएगा। मंत्रिमंडल की उपस्थिति में इस योजना का शुभारम्भ करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ऐसा देश जो अपने वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान नहीं करता और उसका ख्याल नहीं रखता वे प्रगति नहीं कर सकता है।

    उनके मुताबिक, “इस योजना को एक उद्देश्य के साथ शुरू किया गया था कि प्रत्येक बुजुर्ग व्यक्ति की जिंदगी में तीर्थयात्रा करने की इच्छा पूरी हो। मैं सभी बच्चो और विधायकों से आग्रह करता हूं कि वे बुजुर्गों को पंजीकृत कराने में मदद करे और फॉर्म भरें ताकि वे सेवा का लाभ उठा सकें। तीर्थयात्रा शुरू करने के इच्छुक लोगों को क्षेत्रीय विधायक से मतदाता पहचान पत्र, चिकित्सा प्रमाणपत्र और सिफारिश करनी चाहिए।”

    आवेदन ऑनलाइन के माध्यम से प्राप्त किए जाएंगे और तीर्थयात्रियों का चयन ड्रॉ के माध्यम से किया जाएगा। यहाँ दिए लिंक पर क्लिक कर आप आवेदन कर सकते हैं – https://edistrict.delhigovt.nic.in/

    संबधित क्षेत्र के सांसद यह प्रमाणित करेंगे कि लक्षित लाभार्थी दिल्ली से हैं या नहीं। तीन दिन और दो रात की तीर्थ यात्रा, दिल्ली-मथुरा-वृंदावन-आगरा-फतेहपुर सीकरी-दिल्ली; दिल्ली-हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ-दिल्ली; दिल्ली-अजमेर-पुष्कर-दिल्ली; दिल्ली-अमृतसर-वाघा सीमा-आनंदपुर साहिब-दिल्ली; और दिल्ली-वैष्णो देवी-जम्मू-दिल्ली के सर्किट पर की जा सकती है।

    योजना जुलाई में ‘आप सरकार’ द्वारा मंजूर की गई थी। एक अधिकारी ने कहा कि कोई आय मानदंड नहीं है लेकिन पहले ‘फर्स्ट-कम-फर्स्ट-सर्व’ के आधार पर आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को प्राथमिकता दी जाएगी। इस योजना के तहत, ‘आप सरकार’ हर साल 77,000 तीर्थयात्रियों के खर्च सहन करेगी। केंद्रीय, राज्य और स्थानीय सरकार या स्वायत्त निकाय के कर्मचारी इस योजना के लिए योग्य नहीं होंगे।

    दिल्ली सरकार ने इस योजना का लाभ उठाने वाले तीर्थयात्रियों को किये वादे को पूरा करने के लिए रेलवे के साथ समझौता ज्ञापन पर भी साइन करा लिए हैं।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *