Sun. Jul 21st, 2024
    भूटान प्रधानमंत्री

    भूटान में हाल ही में हुए चुनाव में विपक्षी दल के नेता लोटे त्शेरिंग की जीत हुई है। भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद अमेरिका ने भी भूटान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री को जीत की बधाई दी है। अमेरिका ने भूटान को सफलतापूर्वक चुनाव के संपन्न होने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि भूटान के साथ मैत्री समझौते को मज़बूत करना चाहते हैं।

    भूटान में गुरूवार को हुए चुनाव में साल 2013 में नवगठित सेंटर लेफ्ट पार्टी द्रुक न्याम्रूप त्शोग्पा को जीत मिली है। डीएनटी ने चुनाव में संसद की 47 सीटों में से 30 पर कब्ज़ा जमाया है। डीएनटी का गठन साल 2013 में लोटे त्शेरिंग ने किया था। प्रधानमंत्री त्शेरिंग यूरोलॉजी सर्जन हैं जिन्होंने बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया से तालीम हासिल की थी।

    अमेरिका ने भूटान की स्वतंत्रता का हवाला देते हुए कहा कि क्षेत्रिय राष्ट्रों को भूटान से प्रेरणा लेनी चाहिए। अमेरिकी प्रवक्ता ने भूटान की जनता को चुनाव राष्ट्रीय चुनावों को सफलतापूर्वक संपन्न करने के लिए बधाई दी। उन्होंने लोटे त्शेरिंग की पार्टी को जीत की शुभकामनाएं दी।

    अमेरकी प्रवक्ता ने कहा कि हम प्रधानमंत्री त्शेरिंग और उनकी पार्टी के साथ दोनों देशों की जनता और राष्ट्रों के मध्य मैत्री संबंधों को प्रगाढ़ बनाना चाहते हैं। भूटान के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के किसी भी स्थायी सदस्य के साथ रणनीतिक सम्बन्ध नहीं है।

    भूटान और अमेरिका के मध्य कभी आधिकारिक कूटनीतिक सम्बन्ध नहीं बने। हालांकि भारत में स्थित अमेरिकी दूतावास के द्वारा अनौपचारिक सम्बन्ध बनाये रखे थे। साल 2008 में मिली स्वतंत्रता के बाद भूटान में तीसरी दफा चुनाव संपन्न हुए है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *