Tue. Dec 6th, 2022
    भूटान प्रधानमंत्री

    भूटान में सम्पन्न हुए चुनाव में लोटय तशेरिंग की जीत हुई थी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूटान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री तशेरिंग को जीत की बधाई दी।

    भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि पीएम मोदी ने भूटान में सफलतापूर्वक हुए तीसरे चुनाव के लिए भी चुनाव आयोग की तारीफ की। साल 2008 में राजशायी से मुक्त होने के बाद पर्वतीय राष्ट्र में यह तीसरी दफा चुनाव हुए हैं।

    भारतीय विदेश विभाग ने बताया कि पीएम मोदी ने लौटाय तशेरिंग को भूटान के तीसरे चुनाव के लिए बधाई दी साथ ही सफलतापूर्वक चुनाव संपन्न करने की तारीफ भी की। यह चुनाव भूटान में लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए अतिआवश्यक थे।

    विजयी सेंटर लेफ्ट पार्टी ड्रक नयमरूप टशॉप की संस्थापना साल 2013 में हुई थी। इस पार्टी ने 47 राष्ट्रीय सीटों में से 30 सीटे जीती। भूटान के चुनाव आयोग ने शुक्रवार को चुनाव परिणाम की घोषणा की थी।

    खबरों के मुताबिक 50 वर्षीय लोटेय तशेरिंग पेशे से सर्जन है जिन्होंने डॉक्टरी का अध्ययन बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया में पूर्ण किया है। विजयी प्रधानमंत्री का मकसद राष्ट्र निर्माण करना है। उन्होंने प्रचार के दौरान युवाओं को रोजगार, ग्रामीण गरीबी को कम करने और आपराधिक गैंग पर नकेल कसने के वादे किये थे।

    नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत भूटान के साथ  दोस्ती और सहयोग से साझेदारी को मजबूत करना चाहते हैं। यह संबंध साझा  हितों और मूल्यों पर आधारित होंगे। यह दो राष्ट्रों के मध्य आपसी सूझबूझ, विश्वास और सदभाव को बढ़ाएंगे।

    नरेंद्र मोदी ने दोनों राष्ट्रों के मध्य कूटनीति की गोल्डन जुबली जश्न के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार भूटान की नवनिर्वाचित सरकार के साथ कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध है। भारत भूटान के सामाजिक-आर्थिक विकास एयर भूटान के नागरिकों और सरकार के हित में कार्य करने के लिए तैयार है।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूटान के प्रधानमंत्री को भारत दौरे के लिए आमंत्रण भी दिया है। लोटेय तशेरिंग ने भारतीय प्रधानमंत्री का शुक्रिया अदा किया और भारत दौरे के न्योते को स्वीकार कर लिया है। भूटानी प्रधानमंत्री दोनो राष्ट्रों के मध्य द्विपक्षीय समझौतों को मजबूत करने के लिए तत्पर है।

    गत वर्ष भूटान के डोकलाम में जबरन चीनी सैनिकों के सड़क निर्माण करने पर भारत ने हस्तक्षेप किया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *