Sun. Jan 29th, 2023
    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

    अमेरिका ने इस वर्ष पाकिस्तान के आतंकवाद पर लगाम के लिए कड़े कदम न उठाने के कारण 3 बिलियन डॉलर की सहायता राशि बंद कर दी थी। ट्रम्प प्रशासन द्वारा जारी किये 1.3 बिलियन डॉलर के आंकड़े से यह काफी ज्यादा है। अमेरिका द्वारा बंद की गयी सहायता राशि के आंकड़े जुटाने पर 3 बिलियन डॉलर आ रहा है।

    हालांकि अभी इन आंकड़ों का खुलासा सार्वजनिक नहीं किया गया है। राष्ट्रपति ट्रम्प ने पाकिस्तान की रोकी सहायता राशि 1.3 बिलियन डॉलर बताई थी जबकि पेंटागन ने यह आंकड़ा 1.66 बिलियन डॉलर बताया था। हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति और पाकिस्तानी प्रधानमन्त्री के मध्य ट्विटर जंग छिड़ गयी थी।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिका के लिए रत्ती भर भी कार्य नहीं किया है, सिर्फ अमेरिका से करोड़ों रूपए वसूले थे।

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1064544156960387072

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1064540462848098304

    इमरान खान ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के ट्वीट पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें इतिहास के तथ्यों को खंगाल लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को 20 बिलियन डॉलर की सहायता राशि मुहैया की है, लेकिन इस अमेरिकी आतंक की जंग में पाकिस्तान ने 75 हज़ार लोग और 123 बिलियन डॉलर गँवाए हैं।

    कई सालो से अमेरिकी अधिकारी पाकिस्तान पर इल्ज़ाम लगा रहे हैं कि वह अमेरिका के साथ दोहरी चाल चल रहा है और आतंकी समूहों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं कर रहा है। पाकिस्तान ने अपनी  सरजमीं पर हक्कानी, तालिबान और लश्कर ए तैयबा जैसे आतंकी संगठनों को पनाह दे रखी है।

    पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में सांसदों ने पाकिस्तान से सहायता के बदले कुछ सख्त शर्ते रखने का सुझाव दिया था। लेकिन डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के पहले राष्ट्रपति है जिन्होंने पाकिस्तान की साहयता राशि पर पूर्णविराम लगाया है। डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण पाकिस्तान ने पिछले 15 वर्षों में 33 बिलियन डॉलर से अधिक की राशि मुहैया की है और पाकिस्तान ने हमें झूठ और धोखा दिया है, वह हमारे नेताओं को मूर्ख समझता है।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को सुरक्षा प्रदान करता है और हम अफगानिस्तान में जूझते हैं। उन्होंने कहा कि अब बस, अब और पाकिस्तान को सैन्य सहायता राशि नहीं मुहैया की जाएगी। अमेरिका ने कहा कि जब तक पाकिस्तान आतंकियों के खिलाफ अपना रुख नहीं बदलेगा, अमेरिका उन्हें कोई आर्थिक सहायता नहीं देगा।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *