Sun. Jun 23rd, 2024
    amit-shah-

    भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नेशनल हेराल्ड अखबार के प्रकाशकों को राष्ट्रीय राजधानी में परिसर को खाली करने के एक अदालत के आदेश के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी पर निशाना साधते हुए कहा सार्वजनिक संपत्ति पर कब्जा करने वालों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप नहीं लगाने चाहिए।

    उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण गाँधी परिवार गले तक भ्रष्टाचार में डूबा है जबकि प्रधानमंत्री मोदी पर अब एक एक छींट भी नहीं पड़ी है।

    सिलवासा में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने लोगों से दादर और नगर हवेली के भाजपा सांसदों को एक और मौका देने की अपील की।

    दिल्ली उच्च न्यायालय ने पिछले महीने नेशनल हेराल्ड के प्रकाशक एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) को राष्ट्रीय राजधानी में आईटीओ में प्रेस एन्क्लेव में परिसर को खाली करने के लिए कहा था। एकल न्यायाधीश ने अपने आदेश में कहा था कि एजेएल को यंग इंडियन (वाईआई) द्वारा “कब्जा किया गया था जिसमे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और उनकी  मां सोनिया गांधी शेयरधारक थे।

    श्री शाह ने कहा, “सार्वजनिक संपत्ति को कब्जाने वाले लोग मोदी को निशाना नहीं बना सकते। जब राहुल गांधी मोदी के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हैं, तो उन्हें पहले अपनी आँखें खोलनी चाहिए। उनका पूरा परिवार पीढ़ी दर पीढ़ी  भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरी हुई है और प्रधानमंत्री मोदी पर एक भी धब्बा नहीं है।”

    उन्होंने कहा “राहुल बाबा भाजपा सरकार के चार सालों का रिपोर्ट कार्ड मांग रहे थे। उन्हें पहले अपने चार पीढ़ियों का रिपोर्ट कार्ड देना चाहिए।

    शाह ने कहा कि सरकार इस केंद्र शासित प्रदेश में 5,000 करोड़ रुपये की विकास योजनायें चला रही है।

    असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अवैध घुसपैठिये हमारे देश को दीमक की तरह खा रहे हैं और उन्हें भगाने के लिए ही सरकार असम में एनआरसी ले कर आई है। उन्होंने कहा न तो हम घुसपैठियों को बचायेंगे और न किसी को बचाने देंगे।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *