Wed. Oct 5th, 2022
    नाटो के अध्यक्ष

    अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के साथ बातचीत करने के बाद नाटो के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने मंगलवार को कहा कि “अफगान शांति प्रक्रिया में अमेरिकी प्रयासों का नाटो पूरी तरह से समर्थन करता है। अफगानिस्तान में आतंकवादी समूह के साथ समझौता अब आकार लेने लगा है।”

    डॉन के अनुसार, पोम्पेओ ने ब्रसेल्स में नाटो प्रमुख से मुलाकात की क्योंकि संयुक्त राज्य अमेरिका ने युद्धग्रस्त अफगान राष्ट्र में 18 साल के लंबे गृहयुद्ध और संकट को समाप्त करने के लिए तालिबान के साथ एक समझौते को अंतिम रूप देने का प्रयास कर रहे हैं।  जिसके तहत अमेरिका क्षेत्र से 5,400 अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाएगा और इसके बदले तालिबान आतंकवादियों से सुरक्षित पनाह न देने की गारंटी देगा।

    स्टोल्टेनबर्ग ने ट्वीट कर कहा कि “वर्तमान सुरक्षा मुद्दों पर सचिव माइक पोम्पियो के साथ शानदार चर्चा हुई थी। नाटो पूरी तरह से अफगानिस्तान में शांति को हासिल करने के प्रयासों का समर्थन करता है। मैं हाल ही के भीषण हमलों की निंदा करता हूं और नाटो अफगान सेनाओं का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है।”

    नाटो के साथ पोम्पियो की बैठक ब्रुसेल्स की दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा के दौरान हुई थी। इसके साथ ही पोम्पियो ने  ईयू के नए नेतृत्व के साथ मुलाकात की थी और साथ ही चुने गए नए अध्यक्ष उर्सुला वों डेर लियेन से भ मुलाकात की थी।  मिशेल ने अमेरिकी विदेश मंत्री के साथ बैठक के समापन के बाद कहा कि” उन्होंने साझा मूल्यों और साझा हितों पर चर्चा की थी।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.