दा इंडियन वायर » भाषा » अपादान कारक : परिभाषा एवं उदाहरण
भाषा

अपादान कारक : परिभाषा एवं उदाहरण

इस लेख में हम कारक के भेद अपादान कारक के बारे में पढ़ेंगे।

(कारक के बारे में पढ़नें के लिए यहाँ क्लिक करें – कारक के उदाहरण, भेद, परिभाषा)

अपादान कारक की परिभाषा

जब संज्ञा या सर्वनाम के किसी रूप से किन्हीं दो वस्तुओं के अलग होने का बोध होता है, तब वहां अपादान कारक होता है।

अपादान कारक का विभक्ति चिन्ह

  • अपादान कारक का भी विभक्ति चिन्ह से होता है। से चिन्ह करण कारक का भी होता है लेकिन वहां इसका मतलब साधन से होता है।
  • यहाँ से का मतलब किसी चीज़ से अलग होना दिखाने के लिए प्रयुक्त होता है।

अपादान कारक के उदाहरण

  • पेड़ से आम नीचे गिर गया।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं, आम के पेड़ से अलग होने की बात कही जा रही है। इस वाक्य में से विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया जा रहा है।

यह चिन्ह हमें चीज़ों को अलग होने के बारे में बताता है। एवं जैसा कि हमें पता है कि जब डो चीज़ें अलग होती है तो वहां अपादान कारक होता है। अतएव ये उदाहरण अपादान कारक के अंतर्गत आयेगा।

  • उसके हाथ से घडी गिर गयी।

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा कि आप देख सकते हैं, घडी की हाथ से अलग होने की बात कही जा रही है। ऊपर दिए गए वाक्य में से उदाहरण का प्रयोग किया जा रहा है।

से चिन्ह अपादान कारक का विभक्ति चिन्ह होता है एवं किसी चीज़ का दूसरी चीज़ से अलग होने का बोध कराता है। यहाँ यह हमें हाथ से घडी के अलग होने का बोध करा रहा है। अतः यह उदाहरण अपादान कारक के अंतर्गत आएगा।

  • पेड़ से पत्ता टूटकर नीचे गिर गया।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं की पेड़ से पत्ते के टूटने की बात की जा रही है। यहाँ से विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया जा रहा है। अतः यह उदाहरण अपादान कारक के अंतर्गत आएगा।

अपादान कारक के कुछ अन्य उदाहरण :

  • मुझे भालू से दर लगता है।
  • सुरेश छत से गिर गया।
  • सांप बिल से बाहर निकला।
  • पृथ्वी सूर्य से बहुत दूर है।
  • आसमान से बिजली गिरती है।

अपादान कारक से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

सम्बंधित लेख:

  1. कर्ता कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  2. कर्म कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  3. करण कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  4. सम्प्रदान कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  5. अधिकरण कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  6. संबंध कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  7. संबोधन कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

7 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!