दा इंडियन वायर » भाषा » अधिकरण कारक : परिभाषा एवं उदाहरण
भाषा

अधिकरण कारक : परिभाषा एवं उदाहरण

इस लेख में हम कारक के भेद अधिकरण कारक के बारे में पढ़ेंगे।

(कारक के बारे में पढ़नें के लिए यहाँ क्लिक करें – कारक के उदाहरण, भेद, परिभाषा)

अधिकरण कारक की परिभाषा

अधिकरण का अर्थ होता है – आश्रय। संज्ञा का वह रूप जिससे क्रिया के आधार का बोध हो उसे अधिकरण कारक कहते हैं।

अधिकरण कारक के विभक्ति चिन्ह

इसकी विभक्ति में और पर होती है। भीतर, अंदर, ऊपर, बीच आदि शब्दों का प्रयोग इस कारक में किया जाता है।

अधिकरण कारक के उदहारण :

  • जब मैं घर में गया तो कोई भी नहीं था। 

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं कि में विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया गया है। यह बताता है की वक्ता घर के अंदर गया था।

जैसा कि हमें पता है, जब किसी वाक्य में में विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया जाता है तो वो अधिकरण कारक होता है। अतः यह उदहारण भी अधिकरण कारक के अंतर्गत आएगा।

  • वीर सिपाही युद्धभूमि में मारा गया।

ऊपर दिए गए वाक्य में जैसा कि आप देख सकते हैं, में विभक्ति चिन्ह का ही प्रयोग किया गया है।

हम जानते हैं की जब में विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया जाता है तो वहां अधिकरण कारक होता है। यहां में चिन्ह से हमें वीर सिपाही के युद्धभूमि में होने जा बोध हो रहा है। अतः यह उदारहण अधिकरण कारक के अंतर्गत आएगा।

  •  कुर्सी आँगन के बीच बिछा दो। 

जैसा कि आप ऊपर दिए गए वाक्य में देख सकते हैं बीच शब्द का प्रयोग किया गया है। जब यह शब्द प्रयोग किया जाता है तो वह अधिकरण कारक होता है।

यहाँ बीच शब्द से कुर्सी के आँगन के बीच होने का बोध हो रहा है। अतः यह उदाहरण अधिकार कारक के अंतर्गत आएगा।

अधिकरण कारक के कुछ अन्य उदाहरण :

  • मछली पानी में रहती है।
  • महल में दीपक जल रहा है।
  • मुझमे बहुत कम शक्ति है।
  • वह रोज़ सुबह गंगा किनारे जाता है।
  • वह पहाड़ों के बीच में है।
  • मनु कमरे के अंदर है।
  • महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में हुआ था।
  • फ्रिज में आम रखा हुआ है।

इस लेख के बारे में यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

सम्बंधित लेख:

  1. कर्ता कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  2. कर्म कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  3. करण कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  4. अपादान कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  5. सम्प्रदान कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  6. संबंध कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा
  7. संबोधन कारक – उदाहरण, चिन्ह, परिभाषा

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

3 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!