Fri. Feb 3rd, 2023
    अंटार्कटिक महाद्वीप antarctica continent in hindi

    अंटार्कटिका महाद्वीप की जानकारी (Antarctica information in hindi)

    अंटार्टिका पृथ्वी के दक्षिणी हिस्से में पाया जाने वाला महाद्वीप है जो दक्षिणी गोलार्ध में मौजूद है। यहाँ दक्षिणी ध्रुव मौजूद है और दक्षिणी महासागर से घिरा हुआ है। यह पांचवा सबसे बड़ा महाद्वीप है जिसका क्षेत्रफल 14 मिलियन स्क्वायर किमी है।

    ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप से यह दुगुना बड़ा है। यहाँ का 98% भाग बर्फ से ढाका हुआ है जिसकी मोटाई लगभग 1.9 किमी या 6200 फिट रहती है। इस महाद्वीप पर संसार कर 90% बर्फ एवं 70% साफ़ जल बर्फ के रूप में मौजूद है।

    यह सबसे ठंडा, शुष्क एवं हवादार महाद्वीप है एवं इस जगह की औसतन ऊंचाई सबसे ज्यादा है। इसको सफ़ेद मरुस्थल भी कहा जाता है क्योंकि दूर दूर तक बर्फ दिखाई देती है और औसतन बारिश की मात्रा सिर्फ 200 मिलीमीटर है। यहाँ का सबसे काम तापमान -89.2॰ सेल्सियस के रूप में दर्ज किया गया है। साल के तीन चौथाई समय तक यहाँ का औसतन तापमान -63॰ सेल्सियस रहता है।

    यहां लगभग 1200 लोगों का वास है जो सभी विभिन्न देशों के रिसर्च वैज्ञानिक हैं और यहाँ अलग अलग जगहों पर रिसर्च स्टेशन बना के रहते हैं। दूसरे प्रजातियों में यहां कई प्रकार के कवक (fungi), बैक्टीरिया, शैवाल (algae), पेड़ पौधे, प्रॉटिस्टा इत्यादि पाए जाते हैं। उसके अलावा दूसरे जानवर जैसे कि सील, पेंगुइन, नेमाटोड, टरडिग्रड आदि पाए जाते हैं। यहाँ टुंड्रा वनस्पतियों का वास है।

    इतिहास में अंटार्कटिका का स्थान (History of Antarctica in Hindi)

    अंटार्टिका सबसे आखिरी महाद्वीप है जिसकी खोज हुई। 1820 में रूस के वोस्तोक अभियान के दौरान बेल्लिंगशोषण और लाज़रेव नामक नाविकों ने अंटार्टिका के एक भाग फिम्बुल आइस शेल्फ की खोज की जोकि अंटार्टिका का एक छोटा सा हिस्सा था। लेकिन उचित साधन, सरकार के तरफ से समर्थन की कमी इत्यादि वजहों के कारण इस खोज को उन्नीसवीं सदी के बाकि समय के दौरान ज्यादा तवज्जोह नहीं दी गई। उसके बाद 1895 में नॉर्वे के एक नाविक दल ने यहाँ एक अभियान भेजा।

    अंटार्टिका महाद्वीप, अंटार्कटिक ट्रीटी सिस्टम के अंतर्गत शाषित सम्मिलित सहधिकार (de facto condominium) है जो 1959 में घोषित हुआ था। दुनिया के 38 देश इस पर हस्ताक्षर कर चुके हैं। इसके अंतर्गत इस महाद्वीप पर सैन्य गतिविधि, खनिजों का खनन, नुक्लेअर एक्सप्लोजन, नुक्लेअर वेस्ट का निपटारन आदि कार्य प्रतिबंधित हैं।

    1956 में अमेरिकन नेवी के एक दल ने रियर एडमिरल डूफेक के नेतृत्व में वहां एक हवाई जहाज उतारा। पैम यंग, लुइस जोंस, के लिंडसे आदि पहली महिलाएं थीं जो 1969 में अंटार्टिका पहुंचे।

    इस महाद्वीप का भूगोल (Geography of Antarctica in Hindi)

    यहाँ बहुत सारी नदियां और झीलें पायी जाती हैं जो हर समय जमी हुई रहती हैं। ओनिक्स यहां की सबसे लम्बी नदी है और वोस्तोक सबसे बड़ी झील है। इसका समुद्र तट किमी लम्बा है और वहां बर्फ जमी हुई रहती है।

    अंटार्टिका दो ट्रांसटार्कटिक पहाड़ों के द्वारा विभाजित है जो रॉस सागर एवं वेडेल सागर के आसपास मौजूद हैं। वेडेल सागर का पश्चिमी भाग एवं वेडेल सागर का पूर्वी भाग वाला इलाका पश्चिमी इलाका कहलाता है और वेस्ट अंटार्कटिक आइस शीट से ढका हुआ है। बाकी का भाग पूर्वी अंटार्कटिका कहलता है और ईस्ट अंटार्कटिक आइस शीट से ढका हुआ है।

    इल्सवर्थ पहाड़ों में पाया जाने वाला विंसन मैसिव यहाँ का सबसे ऊँचा शिखर है। यहाँ कई सक्रिय ज्वालामुखी भी मौजूद हैं। रॉस द्वीप पर पाया जाने वाला माउंट इरेबस दक्षिणी गोलार्ध का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी है। साल 2004 में कैनेडियन और अमरीकी शोधकर्ताओं ने पानी के नीचे ज्वालामुखी की खोज की थी।

    आप अपने सवाल एवं सुझाव नीचे कमेंट बॉक्स में व्यक्त कर सकते हैं।

    2 thoughts on “अंटार्कटिका महाद्वीप की जानकारी, विशेषता”
    1. Antartica mein sabhi jagahon pr barf jami hui hai to fir humen yah kaise pata chal paata hai ki is jagah rivers hai or is jagah lakes??

    2. Kya antartica me rivers or lakes bhi hoti Hain? Ye Kahan Hain? Antartica me sabse badi lake or river ka Kya naam hai?

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *