Wed. May 29th, 2024
    मुकेश अंबानी भारत अर्थव्यवस्था

    रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी के लिए साल 2019 शुरू से ही बहुत लाभकारी साबित हो रहा है। मुकेश अंबानी ने हाल ही में अपनी संपत्ति के मामले में वाल्टन ब्रदर्स को पछाड़ कर दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूचि में 11वें स्थान पर आ गए हैं। इसके साथ उनकी संपत्ति रोज़ नई ऊंचाइयां छू रही है।

    मुकेश अंबानी की संपत्ति के आंकड़े:

    ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स के अनुसार, अंबानी अब 47.1 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ पृथ्वी पर 11वें सबसे अमीर आदमी हैं। साल 2019 में अब तक, आरआईएल प्रमुख की कुल संपत्ति 2.75 बिलियन डॉलर बढ़ी। लेकिन यह जानना सबसे दिलचस्प था कि जब आरआईएल 1,200 रुपये के स्तर पर पहुंचा तो अंबानी की संपत्ति सिर्फ एक दिन के समय में 1.73 अरब डॉलर बढ़ गई। 

    जल्द ही शीर्ष 10 अमीर व्यक्तियों में होंगे शुमार :

    विशेषज्ञों के अनुसार यदि मुकेश अंबानी की संपत्तियो इसी गति से बढती रही तो वे जल्द ही दुनिया के 10 सबसे अमीर व्यक्तियों की सूचि में शामिल हो जायेंगे। ऐसा करने के लिए मुकेश अंबानी को अपनी सम्पत्ति में केवल कुछ अरब और जोड़ने हैं। इसके बाद वे जल्द ही गूगल एवं ओरेकल के संस्थापकों को पीछे छोड़कर शीर्ष 10 की सूचि में आ जायेंगे। विशेषज्ञों का माना है की ऐसा होने में ज्यादा समय नहीं बचा है।

    अंबानी गूगल के संस्थापक सर्गे ब्रिन के थोडा पीछे हैं, जिनकी संपत्ति 10 वीं रैंक पर 51.4 बिलियन डॉलर है, जबकि लैरी एलिसन और लैरी पेज 52.7 बिलियन डॉलर और 52.8 बिलियन की संपत्ति के साथ 9 वें और 8 वें रैंक पर हैं।

    क्या है मुकेश अंबानी की सम्पत्ति में तेज़ वृद्धि का कारण :

    मुकेश अंबानी की संपत्ति में तेज वृद्धि का मुख्या कारण रिलायंस के दमदार प्रदर्शन को माना जा रहा है। उदाहरण के लिए, रिलायंस साल 2019 की तीसरी तिमाही में 10,000 करोड़ रुपये से अधिक का मुनाफा कमाने वाली भारत की पहली कंपनी बन गई है। यही नहीं, आरआईएल ने एक बार फिर बाजार मूल्य के मामले में टीसीएस से सबसे बड़ी कंपनी का टैग छीन लिया है। मंगलवार के अंत तक, आरआईएल का बाजार मूल्यांकन 782,663.75 करोड़ रुपये रहा, जो टीसीएस से आगे रहा, जिसका पूंजीकरण 713,084.43 करोड़ रुपये था।

    यह बात उल्लेखनीय है की केवल तीन दिनों के व्यापार सत्र में रिलायंस के शेयर की कीमत 5% से बढ़ गई है और 1,200 रुपये के स्तर से अधिक चल रही है। इससे निवेशकों का भी रिलायंस में आत्मविश्वास बना हुआ है।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *