Fri. May 24th, 2024
    एसबीआई बैंक

    देश की सबसे बड़ी ऋण दाता व सार्वजनिक क्षेत्र की बैंकों में अग्रिणी भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अगले 2 महीनों में ही अपनी चार बड़ी सेवाओं पर बदलाव लाने जा रही है।

    इसी के तहत एसबीआई ने कुछ समय पहले ही यह घोषणा की थी कि वह लॉन्ग स्ट्रिप आधारित डेबिट व क्रेडिट कार्ड को जल्द ही बंद कर देगी। वहीं एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए एटीएम द्वारा नकदी निकासी की सीमा को भी परिवर्तित करने जा रही है। इसी के साथ एसबीआई अपनी ऑनलाइन बैंकिंग सुविधाओं में आमूलचूल परिवर्तन करने जा रही है।

    एसबीआई द्वारा उसकी सेवाओं में किए जा रहे परिवर्तनों की विस्तारपूर्वक जानकारी इस प्रकार है-

    1. एटीएम नकदी निकासी सीमा को घटा रहा है एसबीआई-

    एसबीआई ने हाल ही में ऐलान किया है कि वह अपने ग्राहकों के लिए एटीएम या डेबिट कार्ड के माध्यम से एक दिन में हो सकने वाली निकासी की सीमा को घटाने का फैसला किया है

    इस सीमा के तहत अब एसबीआई के ग्राहकों के लिए डेबिट कार्ड के द्वारा एक दिन में एटीएम के जरिये की जा सकने वाली नकदी निकासी की सीमा 40,000 रुपये से घटा कर 20,000 पर आ गयी है।

    एसबीआई का कहना है कि इस तरह से ग्राहकों के साथ होने वाली एटीएम संबंधी धोखाधड़ी में ग्राहक को कम नुकसान होगा।

    2. एसबीआई बंद कर रहा है अपनी ई-वालेट ‘एसबीआई बडी’ –

    एसबीआई ने हाल में ही ऐलान किया है कि वो अपनी मोबाइल वालेट सेवा को 1 नवंबर से बंद कर देगा। इसी के साथ एसबीआई ने बताया है कि जिन एसबीआई ई वालेट में शून्य धनराशि थी, उन्हे पहले से ही बंद कर दिया गया है।

    एसबीआई ने हाल ही में योनो नाम की एक नई डिजिटल बैंकिंग सुविधा को सबके सामने रखा है। एसबीआई की एप से करीब 1 करोड़ 20 लाख ग्राहक सीधे तौर पर जुड़े हैं।

    इसके तहत एसबीआई ने अभी यह नहीं बताया है कि जिन ग्राहकों की वालेट में धनराशि मौजूद है उन ग्राहकों के लिए एसबीआई क्या कदम उठाएगी?

    3. इंटरनेट बैंकिंग के लिए मोबाइल नंबर का लिंक होना है जरूरी-

    एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए एक नोटिफ़िकेशन जारी करते हुए कहा है कि जो भी ग्राहक एसबीआई की इंटरनेट बैंकिंग सेवा का लाभ उठा रहे हैं, उन सभी लोगों के लिए 1 दिसंबर से पहले ही अपने मोबाइल नंबर को अपने खाते से लिंक करवाना अति आवश्यक है, अन्यथा एसबीआई उनकी इंटरनेट बैंकिंग सेवा को बंद कर देगी

    ऐसे ग्राहकों को अपनी नजदीकी ब्रांच में जाकर इस प्रक्रिया को पूरा करना होगा। एसबीआई ने साफ किया है कि जो लोग तय सीमा के भीतर ऐसा नहीं कर पाते हैं, उनकी इंटरनेट बैंकिंग सेवा को बंद कर दिया जाएगा।

    4. स्ट्रिप डेबिट कार्ड की जगह लेगा चिप आधारित डेबिट कार्ड-

    आरबीआई के निर्देशों का पालन करते हुए एसबीआई ने भी अपने ग्राहकों के लिए गाइडलाइन जारी की है, एसबीआई के सभी ग्राहकों को उनके लॉन्ग स्ट्रिप डेबिट/क्रेडिट कार्ड को ईएमवी चिप आधारित डेबिट कार्ड से बदलना होगा

    इसके लिए एसबीआई 31 दिसंबर के बाद स्ट्रिप आधारित डेबिट कार्ड के प्रयोग को पूरी तरह से प्रतिबंधित भी कर सकता है। कार्ड बदलने केलिए लिए एसबीआई अपने खाताधारकों से किसी भी तरह के शुल्क की मांग नहीं कर रहा है। खाताधारक अपनी संबन्धित ब्रांच में जा कर एसबीआई कार्ड को बदलवा सकते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *