Fri. May 24th, 2024
    सचिन तेंदुलकर

    सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ने एक बार फिर मंगलवार को विश्वकप 2011 के सुनहरे पलो को याद किया। मंगलवार को भारत के दूसरे विश्वकप खिताब को पूरे 8 साल हो गए है। जिसे भारत ने 2011 में एमएस धोनी की कप्तानी में श्रीलंका के खिलाफ 6 विकेट से जीता था। इसे पल को याद करते हुए दिग्गज बल्लेबाज ने इस अपने क्रिकेट करियर का सबसे ‘अच्छा लम्हा’ कहा।

    पूर्व विस्फोटक भारतीय ओपनर बल्लेबाज ने अपने प्रशंसको से पूछा कि वह विश्वकप जीतने वाले दिन का कैसे जश्न माना रहे है। सचिन तेंदुलकर ने अपने ट्विटर अकाउंट से 1 मिनट 13 सैंकेंड का एक वीडियो पोस्ट किया और उसमें इस लम्हे के सबसे खास बताया।

    तेंदुलकर ने वीडियो में कहा, ” यह क्रिकेट फिल्ड में मेरी जिंदगी के सबसे बड़े दिनो में से एक रहा है। आठ साल बित गए है और अगला विश्वकप भी किनारे पर है। मैं जानता हूं कि टीम की घोषणा अबतक नही हुई है, लेकिन जो भी टीम वहां जाएंगी वह हमारी टीम होगी।”

    उन्होने आगे कहा, ” अगर आप टीम इंडिया की जर्सी देखते है तो, उस पर बीसीसीआई के तीन प्रतीक चिन्ह है। यह तीन स्टार तीन विश्वकप खिताबो को दर्शांते है। इसे अब चौथी बार अपने कब्जे में करने का समय आ गया है। आइए और मेरे साथ मिलकर भारतीय क्रिकेट टीम के समर्थन कीजिए।”

    तेंदुलकर के विश्वकप 2011 के ओपनिंग पार्टनर वीरेंद्र सहवग ने ट्विट क्या: ” क्या दिन है! विश्वकप 2001। 8 साल पहले इस ही दिन, हमने एक सपने को पूरा किया और पूरे देश ने जश्न मनाया था। आज आप कैसे जश्न माना रहे है।”

    तीन बार आईपीएल के खिताब पर कब्जा कर चुकी मुंबई इंडियंस की टीम ने भी इस जश्न में शामिल थी, और उन्होने तेंदुलकर, युवराज सिंह और जहीर खान तीनो की फोटो साझा की, जो विश्वकप 2011 की टीम का अहम हिस्सा थे।

    मुंबई इंडियंस की टीम ने ट्विट में लिखा, ” भारत के लिए सर्वाधिक स्कोर करने वाले। मैन ऑफ द टूर्नामेंट। मुंबई इंडियंस ने एक ट्वीट में कहा, जैसे ही घड़ी 12 से टकराती है, भारत के 2011 विश्व कप जीतने वाले तीन सदस्य उसी शहर में एक सेल्फी के लिए फिर से जुट जाते हैं।”

    भारत ने 1983 और 2011 में एकदिवसीय विश्वकप जीता है और 2007 में टी-20 विश्वकप। विश्वकप 2019 के लिए भारतीय टीम के घोषणा 20 अप्रैल तक हो जाएगी।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *