Sat. Dec 10th, 2022
    farmers

    बुधवार को बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने जानकारी दी की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसान सम्मान योजना के तहत 24 फरवरी को किसानों को उनके 6000 रूपए में से 2000 रुपयों की पहली किश्त अदा करेंगे। यह स्कीम रेल मंत्री पियूष गोयल द्वारा पेश किये गए अंतरिम बजट में पेश की गयी थी।

    सत्येन्द्र सिन्हा का बयान :

    बुधवार को मीडिया में एक बयान में बीजेपी के वरिष्ठ नेता सत्येन्द्र सिन्हा ने बताया की प्रधानमंत्री की किसान सम्मान निधि योजना जोकि अंतरिम बजट में पेश की गयी थी जिसके अंतर्गत किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रूपए मिलने हैं। इसकी पहली किश्त 24 फरवरी को गोरखपुर के फर्टिलाइजर ग्राउंड में किसान महाअधिवेशन के दौरान अदा की जायेगी।

    दो दिन चलने वाले इस किसान अधिवेशन का 23 फरवरी को अमित शाह द्वारा उदघाटन किया जाएगा।

    किसान सम्मान योजना की जानकारी :

    यूनियन बजट में घोषित की गयी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में ग्रामीण अर्थव्यवस्था और किसानों को तरजीह दी है। किसानों के लिए सीधी राहत की घोषणा करते हुए सरकार ने 2 हेक्टेयर जमीन वाले किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की मदद दिए जाने का एलान किया है। किसानों को यह रकम सीधे उनके खाते में दी जाएगी।

    इन लोगों को नहीं मिलेगा लाभ :

    सरकार ने अपनी घोषणा में कहा की ऐसे किसान जोभूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हों, वर्तमान या पूर्व मंत्री, मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष, केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों हैं, इन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इसके अतिरिक्त पेशेवर डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे इस लाभ का हकदार नहीं माना जाएगा।

    योजना के लिए इस तरह कर सकते हैं पंजीकरण :

    यदि आप किसान योजना का लाभ उठाना चाहते हिं तो उसके लिए कृषि विभाग में रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। प्रशासन द्वारा आपके रजिस्ट्रेशन का वेरीफिकेशन किया जाएगा। इसके लिए आपके पास जरूरी कागजात होने चाहिए जिसमें रेवेन्यू रिकॉर्ड में जमीन मालिक का नाम, सामाजिक वर्गीकरण (अनुसूचित जाति/जनजाति), आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर, मोबाइल नंबर देना होगा। इसके वेरिफिकेशन के बाद ये राशी सीधे आपके बैंक खाते में दाल दी जायेगी।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *