दा इंडियन वायर » समाचार » हैदराबाद गैंगरेप-हत्या आरोपियों के एनकाउंटर के बाद लोगों ने दीं विभिन्न प्रतिक्रियाएं, किसी ने कहा न्याय मिला, किसी ने बताया कानून का उल्लंघन
समाचार

हैदराबाद गैंगरेप-हत्या आरोपियों के एनकाउंटर के बाद लोगों ने दीं विभिन्न प्रतिक्रियाएं, किसी ने कहा न्याय मिला, किसी ने बताया कानून का उल्लंघन

हैदराबाद में पशु चिकित्सक का सामूहिक बलात्कार और हत्या के आरोपियों को हैदराबाद पुलिस ने शुक्रवार सुबह एनकाउंटर में मार गिराया। जिसके बाद हर तरफ से इस घटना को लेकर विभिन्न प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं। जहां एक तरफ बड़ी संख्या में लोगों द्वारा हैरदाबाद पुलिस की कार्रवाई को सहारा गया और महीलाओं द्वारा पुलिस को राखी बांधी गई। वहीं दूसरी तरफ कुछ लोगों का मानना है कि यह गलत था। आरोपियों को सजा देने का अधिकार सिर्व न्यायालय को है।

इस घटना को लेकर जहां सोशल मीडिया पर जनता की तरफ से सकारात्मक और नकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिली हैं। वहीं राजनेताओं की राय भी इसे लेकर दो विभिन्न हिस्सों में बटी हुई हैं। घटना को लेकर प्रमुख हस्तियों की यह प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं।

रेखा शर्मा- राष्ट्रीय महिला आयोग अध्यक्ष

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म व हत्यारोपियों की पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने की खबर पर कहा ‘गुड’। रेखा शर्मा ने कहा, “पुलिस की ओर से यह एक अच्छा निर्णय लिया गया।” इसके साथ ही उन्होंने कहा, “लेकिन यह जांच का विषय है, क्योंकि मैं चाहती थी कि दोषियों को कानूनी प्रक्रिया के तहत सजा दी जाती। लेकिन परिस्थितियों को देखते हुए पुलिस ने जो किया, वह अच्छा निर्णय था।”

उन्होंने आगे कहा कि हमने हमेशा उनके लिए मृत्युदंड की मांग की, और यहां पुलिस सबसे अच्छी जज है, मुझे नहीं पता कि यह किन परिस्थितियों में हुआ।

समाजवादी पार्टी सांसद जया बच्चन

घटना में हैदराबाद पुलिस की भूमिका को लेकर समाजवादी पार्टी सांसद जया बच्चन ने कहा कि ‘देर आए दुरुस्त आए….देर आए, बहुत देर आए’

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बाघेल

पुलिस एनकाउंटर में चारो आरोपियों की मौत को लेकर छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बाघेल ने कहा कि, ‘जब एक अपराधी भागने की कोशिश करता है, तो पुलिस के पास कोई विल्कप नहीं बचता। यह कहा जा सकता है कि न्यया हुआ है।’

कांग्रेस सांसद शशि थरूर

घटना में तेलंगाना पुलिस की भूमिका को लेकर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा है कि पुरा विवरण सामने आने तक हमें निंदा नहीं करनी चाहिए।

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि जिस तरह लोग हैदराबाद दुष्कर्म कांड के आरोपियों की मुठभेड़ में मारे जाने की खबर से खुश हो रहे हैं, इससे साफ नजर आ रहा है कि उनका आपराधिक न्यायिक प्रणाली और जांच एंजेसियों से विश्वास उठने लगा है, जो चिंता का विषय है। केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा, “महिलाओं के खिलाफ कई अपराध हुए हैं, चाहे वह उन्नाव हो, हैदराबाद हो, इससे पूरे देश के लोगों के अंदर बहुत अधिक गुस्सा है।”

उन्होंने आगे कहा, “हैदराबाद की घटना को लेकर लोगों में बहुत खुशी और सुकून है। लोग मुठभेड़ का जश्न मना रहे हैं, लेकिन इससे यह भी नजर आ रहा है कि लोगों का न्यायिक प्रणाली और जांच एजेंसियों पर से विश्वास उठने लगा है। यह चिंता का विषय है कि लोगों का देश की न्याय व कानून-व्यवस्था से भरोसा टूट रहा है। हम सभी को अपने देश की कानून-व्यवस्था को मजबूत बनाना चाहिए, ताकि लोग पुन: इस पर विश्वास करें और हर पीड़िता को जल्द से जल्द न्याय मिले।”

केजरीवाल ने आगे कहा, “सभी सरकारों को एक साथ मिलकर न्यायिक प्रणाली और जांच एजेंसियों पर लोगों का भरोसा वापस लाने को लेकर कार्रवाई करने की आवश्यकता है।” वहीं निर्भया के दोषियों के बारे में केजरीवाल ने कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को उनकी दया याचिका खारिज कर देनी चाहिए।

उन्होंने कहा, “मैं काफी निराश हूं कि निर्भया के दोषियों को अभी तक फांसी पर नहीं लटकाया गया है। हमने उनकी दया याचिका खारिज कर दी है। मैं राष्ट्रपति से अपील करता हूं कि वे भी उनकी दया याचिका खारिज कर दें और उन्हें जल्द से जल्द फांसी दे दी जाए।”

बिहार पूर्व सीएम राबड़ी देवी

बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने तेलंगाना एनकाउंटर पर कहा है कि हैदराबाद में जो हुआ वह अपराधियों के खिलाफ निवारक के रूप में कार्य करेगा, हम इसका स्वागत करते हैं। बिहार में भी महिलाओं के खिलाफ अपराधों के मामले बढ़ रहे हैं। यहां राज्य सरकार शिथिल है और कुछ नहीं कर रही है।

भाजपा सांसद मेनका गांधी 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने हैदराबाद पुलिस द्वारा किए गए मुठभेड़ पर सवाल उठाए हैं, जिसमें महिला पशु चिकित्सक के साथ दुष्कर्म करने व उसकी हत्या करने के चारों आरोपी मारे गए हैं। मुठभेड़ की निंदा करते हुए मेनका गांधी ने कहा, “जो भी हुआ है बहुत भयानक हुआ है इस देश के लिए।

आप लोगों को इसलिए नहीं मार सकते, क्योंकि आप चाहते हैं। आप कानून को अपने हाथ में नहीं ले सकते, वैसे भी उन्हें अदालत से फांसी की सजा मिलती।”

उन्होंने कहा, “अगर न्याय बंदूक से किया जाएगा तो इस देश में अदालतों और पुलिस की क्या जरूरत है?”

योग गुरू बाबा रामदेव

तेलंगाना एनकाउंटर पर बाबा रामदेव ने खुशी व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि ‘पुलिस ने जो किया है वह बहुत साहसी है और मुझे कहना होगा कि न्याय दिया गया है। इस पर कानूनी सवाल अलग बात है, लेकिन मुझे यकीन है कि देश के लोगों को इससे शांती मिली है।’

निर्दलीय सांसद नवनीत राणा

तेलंगाना एनकाउंटर पर निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा है कि एक मां, बेटी और पत्नी होने के नाते, मैं पुलिस कार्रवाई का स्वागत करती हूं। वरना आरोपी सालों जेल में रहते। निर्भया का नाम निर्भया नहीं था। लोगों ने यह नाम दिया था। मुझे लगता है नाम देने के बयाज, इन्हें ऐसा अन्जाम देना जरूरी है।

कांग्रेस नेता कुमारी शैलजा

हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमार शैलजा ने तेलंगना एनकाउंटर को लेकर कहा है कि नागरिकों को विश्वास होना चाहिए कि अपराधी न्यायिक प्रणाली के माध्यम से समाप्त होंगे।

हरियाणा गृहमंत्री अनिल विज

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने हैदराबाद में युवा पशु चिकित्सक के साथ जघन्य सामूहिक दुष्कर्म और उसके बाद उसकी हत्या करने वाले सभी चारों आरोपियों के कथित ‘एनकाउंटर’ को शुक्रवार को उचित ठहराया। उन्होंने ट्वीट किया, “क्या हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों को मार गिराया गया है? एनकाउंटर हो गया, यह कैसे हुआ लेकिन सही हुआ।”

बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने महिला पशु चिकित्सक का सामूहिक दुष्कर्म और हत्या करने के आरोपियों की कथित मुठभेड़ में मारे जाने की घटना को लेकर शुक्रवार को हैदराबाद पुलिस की तारीफ की। नेहवाल ने ट्वीट किया, “शानदार कार्य हैदराबाद पुलिस.. हम आपको सलाम करते हैं।”

कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम

तमिलनाडु के शिवगंगा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस सांसद कार्ति पी. चिदंबरम ने हैदराबाद में एक पशुचिकित्सक युवकी के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के मामले के चारों आरोपियों को शुक्रवार को तेलंगाना पुलिस द्वारा मुठभेड़ में मार गिराए जाने की आलोचना की है।

कार्ति ने एक ट्वीट में कहा, “दुष्कर्म एक जघन्य अपराध है। इससे कानून के प्रावधानों के तहत कड़ाई से निपटा जाना चाहिए। जबकि मैं इस नृशंस कृत्य के कथित अपराधियों के लिए कोई सहानुभूति नहीं रखता, लेकिन मुठभेड़ में मार देना हमारे व्यवस्था पर एक धब्बा है।”

उन्होंने कहा, “हालांकि मैं तुरंत न्याय मिलने के आग्रह को समझता हूं, लेकिन यह तरीका सही नहीं है।” हालांकि, उनके ट्वीट पर कई ट्विटर यूजर्स ने नाराजगी भरी प्रतिक्रियाएं दी है।

ओडिशा कानून मंत्री प्रताप जेना

ओडिशा के कानून मंत्री प्रताप जेना ने शुक्रवार को हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म व हत्या मामले में चार आरोपियों के कथित ‘मुठभेड़’ पर पुलिस के कदम को सही ठहराया है। मंत्री ने कहा, “हैदराबाद की घटना बहुत ही संवेदनशील मुद्दा है। चार आरोपियों ने एक जघन्य अपराध किया था और मारे गए, क्योंकि उन्होंने पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की। मेरी निजी राय में आरोपी सजा के हकदार थे।”

मंत्री ने कहा, “मुझे नहीं पता कि मानवाधिकार आयोग या अन्य संगठन इस पर क्या कहेंगे, लेकिन दुष्कर्मियों के खिलाफ कुछ देशों में सख्त सजा दी जा रही है, जहां दुष्कर्म के आरोपी को गोली मारी जाती है और सार्वजनिक तौर पर सिर कलम कर दिया जाता है। जो कुछ भी हैदराबाद में हुआ है, सही कदम है और दरिंदों को सजा मिली है।”

उन्होंने कहा कि देश में दुष्कर्मियों के खिलाफ कड़े कानून की जरूरत है। मंत्री ने कहा, “कोर्ट के फैसलों व इस तरह के मामलों में सुस्त अदालती सुनवाई पर निर्भर रहने के बजाय इन आरोपियों को सजा देने के लिए शीघ्र सुनवाई के लिए कानूनी प्रावधान होना चाहिए।”

About the author

विन्यास उपाध्याय

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]