Mon. Apr 22nd, 2024
    भारत के विदेश सचिव

    पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने हुर्रियत कांफ्रेंस के नेता मिर्वैज़ उमर फारूक को कश्मीर मसले पर अपनी सरकार के प्रयासों के बाबत बताया था। भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त मोहम्मद सोहेल को कहा कि “पडोसी मुल्क के ऐसे कदम भर्र्त के अंदरूनी मामले में दखलंदाजी है।”

    पाकिस्तान राजदूत को रात 10:30 बजे अपने साउथ ब्लॉक के दफ्तर में तलब करते हुए विजय गोखले ने कहा कि “पाकिस्तान से हमने ऐसी चाल की उम्मीद नहीं की थी और ऐसे हठी व्यवहार के लिए आगाह किया था जिससे प्रभाव हो।” विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस 10 मिनट की बैठक के दौरान “भारतीय सचिव ने कड़े शब्दों में पाकिस्तान द्वारा हालिया कृत्य की आलोचन की और कहा कि “बल्कि और कोई नहीं खुद पाकिस्तानी विदेश मंत्री भारतीय अखंडता को विकृत और हमारी संप्रभुता व क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन कर रहे हैं।”

    विजय गोखले ने राजदूत से कहा कि “ऐसी खेदजनक कार्रवाई अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के सभी मानदंडों  का उल्लंघन करती है, बल्कि पाकिस्तान के खुद के मानकों का भी।” विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि “पाकिस्तानी विदेश मंत्री की ऐसी कार्रवाई सीधे भारतीय आन्तरिक मसलों में हस्तक्षेप है। विदेश सचिव ने कहा कि पाकिस्तान ऐसे रवैये इस बात की अधिकारिक पुष्टि कर रही है कि वह आतंकी और भारत विरोधी गतिविधियों को प्रोत्साहित करती है।”

    उन्होंने कहा कि “भारत के साथ सामान्य रिश्ते कायम रखने के इच्छुक पाकिस्तान के दोहरे चरित्र का पर्दाफाश अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के समक्ष हो गया है। पाकिस्तान शांतिपूर्वक रवैये की बात करता है और दूसरी तरफ भारत विरोधी गतिविधियों में लिप्त है।” विदेश सचिव ने पाकिस्तान के राजदूत को जम्मू कश्मीर पर भारत की स्थिति बता दी है, समस्त जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा था, है और रहेगा और पाकिस्तान का इस मसले से कोई लेना देना नहीं है।”

    पाकिस्तानी मंत्रालय की तरफ सेजारी एक बयान में “पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने आल पार्टीज हुर्रियत कांफ्रेंस से बातचीत की और जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ पाकिस्तान के प्रयासों के बाबत उन्हें सूचना दी।” मिर्वैज़ उमर फारूक ने इसके बाद पत्रकारों से कहा कि “पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने इस बात पर अफ़सोस व्यक्त किया है कि इमरान खान के निरंतर गंभीर प्रयासों के के बावजूद नई दिल्ली की तरफ से कोई सकारात्मक जवाब नहीं आया।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *