Thu. Jul 25th, 2024
    पंजाब प्रान्त के मंत्री

    पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त के एक मंत्री को हिन्दू विरोधी बयान देना भारी पर पड़ गया और उन्हें अपना पद गंवाना पड़ा। पाकिस्तान तहरीक ए इन्साफ पार्टी ने ट्वीटर अकाउंट पर आधिकारिक जानकारी देते हुए कहा कि “हिन्दू विरोधी बयान देने पर पंजाब प्रान्त सूचना एवं सांस्कृतिक मंत्री को उनके पद से बर्खास्त कर दिया गया है।”

    मंत्री का बेतुका बयान

    पंजाब सूबे के मंत्री फय्याजुल हस्सान चौहान ने 24 फरवरी को पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिन्दुओं के खिलाफ बयान दिया था। वह लाहौर में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। यह बयान भारत और पाकिस्तान के मध्य जारी तनाव के दौरान दिया गया था।

    पाक के समर्थित आतंकी समूह जैश ए मोहम्मद ने भारत में कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था। इस आतंकी हमले में सेना के 40 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे।

    प्रेस कांफ्रेंस में पंजाब के सूचना मंत्री ने हिन्दुओं को गाय का मूत्र पीने वाला बताया था। उन्होंने कहा था कि “हम मुस्लमान हैं और हमारा ध्वज है, यह मौला अली की बहादुरी का ध्वज है, वह उम्र का झंडा है। वह तुम्हारे पास नहीं है, वह झंडा तुम्हारे हाथों में हैं हैं। इस धोखे में मत रहो की तुम हमसे सात गुना बेहतर हो, जो हमारे पास है, वो तुम्हारे पास नहीं है।”

    मंत्री की आलोचना

    अल्पसंख्यकों पर की गयी टिप्पणी की आलोचना करते हुए पाकिस्तानी में अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री शिरीन मज़ारी ने कहा कि “किसी के धर्म पर किसी को हमला करने का अधिकार नहीं है। हमारे हिन्दू नागरिकों ने देश के लिए कुर्बानियां दी हैं। हमारे प्रधानमंत्री का हमेशा सहिष्णुता और सम्मान की बात करते हैं।”

    इसी बात को दोहराते हुए इमरान खान के राजनीतिक मामलों के विशेष असिस्टेंट नईमल हके ने कहा कि “पंजाब मंत्री का हिन्दू समुदाय के खिलाफ अपमानजनक और आपत्तिजनक बयान सख्त कार्रवाई की मांग कर रहा है। सरकार की वरिष्ठ सदस्य की तरफ से ऐसे बेतुके बयानों को पीटीआई सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी। मुख्यमंत्री से विचार विमर्श के बाद मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *