मंगलवार, अक्टूबर 15, 2019

हिंद महासागर में मालदीव वैश्विक ताकतों के हाथों की कठपुतली नहीं बनेगा: इब्राहिम मोहम्मद सोलिह

Must Read

पाकिस्तान में विस्फोट, पुलिसकर्मी की मौत, 11 घायल

इस्लामाबाद, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान के दक्षिण पश्चिम बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में मंगलवार को अज्ञात आतंकवादियों द्वारा...

8वां विश्व पर्यटन आर्थिक मंच मकाओ में आयोजित

बीजिंग, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। 8वां विश्व पर्यटन आर्थिक मंच 14 अक्टूबर को मकाओ में उद्घाटित हुआ। देशी-विदेशी अतिथियों ने...

चीन का 36वां अंटार्कटिक अध्ययन शुरू होगा

बीजिंग, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। 15 अक्तूबर को दोपहर बाद चीन द्वारा स्वनिर्मित ध्रुवीय वैज्ञानिक जांच का आइसब्रेकर शुए लोंग...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

भारत और मालदीव कर रिश्ते बीते कुछ सालों में खराब रहे हैं और अब नवनिर्वाचित सरकार के मुखिया भारत के साथ एक नई साझेदारी की शुरुआत करने चाहते हैं। इस बाबत अपनी रणनीतियों पर बात करते हुए इब्राहिम सोलिह ने कहा कि भारत के साथ शताब्दियों पुराने सांस्कृतिक और एतिहासिक रिश्तों का हम आनंद उठा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह बेहद दुखद था कि हमारे पारंपरिक संबंधों के मध्य बेबुनियादी तनाव बना हुआ था। मैं बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ कि अपनी पहली विदेश यात्रा पर मुझे भारत आने का मौका मिला और साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरे शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होकर, दोनो देशों के रिश्तों में एक नई जान फूंक दी थी।

उन्होंने कहा कि हम स्वास्थ्य, संस्कृति, पर्यटन और हिन्द महासागर की सुरक्षा और स्थिरता के लिए भारत के साथ अपने संबंधों को अत्यधिक मज़बूत बनायेगे।

मालदीव के राष्ट्रपति ने कहा कि हमारा एक संप्रभु राष्ट्र है और हिन्द महासागर में हिमे हमारी भूरणनीतिक स्थिति ज्ञात है। हिन्द महासागर में शांति और स्थिरता कायम रखने की जरूरत से हम भी सचेत हैं, खासकर जब व्यापार,  आवाजाही और भूराजनीतिक तनाव उठते हैं। हम भारत के साथ सुरक्षा हित साझा करते हैं और किसी को भी अपने देश का इस्तेमाल नही करने देंगे ।

मालदीव की सरकार की भारत से उम्मीदों के बाबत इब्राहिम सोलिह ने कहा कि हमारी बिगड़ती आर्थिक स्थिति को समझने के लिए हैम भारत का शुक्रिया अदा करते हैं और भारत ने राहत पैकेज देकर तुरंत हमारी समस्या का निदान कर दिया था।

उन्होंने कहा कि हम भारत के साथ अपनी एतिहासिक और सांस्कृतिक समझौतों पर आधारित पारंपरिक और करीबी दोस्ती का लुत्फ उठाने चाहते हैं। इसमे एक दूसरे के देश के लिए सम्मान हो और साथ ही हैं महासागर इलाके की सुरक्षा और रक्षा बरकरार रखना चाहते हैं।

भारत और मालदीव की रणनीतिक और रक्षात्मक साझेदारी के बाबत उन्होंने कहा कि भारत और मालदीव ने हमेशा ही इसे कायम रखा है। उन्होंने कहा हम निरंतर नौसैन्य अभ्यास, गश्त और समुन्द्र की निगरानी रखते हैं। हम सभी समान प्राथमिकताओं जैसे आतंकवाद विरोधी अभियान को समझते हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पाकिस्तान में विस्फोट, पुलिसकर्मी की मौत, 11 घायल

इस्लामाबाद, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान के दक्षिण पश्चिम बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में मंगलवार को अज्ञात आतंकवादियों द्वारा...

8वां विश्व पर्यटन आर्थिक मंच मकाओ में आयोजित

बीजिंग, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। 8वां विश्व पर्यटन आर्थिक मंच 14 अक्टूबर को मकाओ में उद्घाटित हुआ। देशी-विदेशी अतिथियों ने कहा कि पर्यटन वैश्विक आर्थिक-व्यापारिक...

चीन का 36वां अंटार्कटिक अध्ययन शुरू होगा

बीजिंग, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। 15 अक्तूबर को दोपहर बाद चीन द्वारा स्वनिर्मित ध्रुवीय वैज्ञानिक जांच का आइसब्रेकर शुए लोंग नंबर-2 दक्षिण चीन के शेन...

महिला कल्याण योजनाओं की निगरानी महिला नोडल अधिकारी करेंगी : योगी

लखनऊ, 15 अक्टूबर(आईएएनएस)। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि महिलाओं से जुड़ी शासन की योजनाओं को लेकर सभी नामित महिला नोडल अधिकारी अपने-अपने...

भाजपा संगठन महामंत्री संतोष ने मनमोहन, प्रभाकर, नोबेल विजेता अभिजीत पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर, (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी.एल. संतोष ने कहा है कि एक बार फिर चुनाव आते...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -