Tue. Dec 6th, 2022
    हाफिज सईद पाकिस्तान

    पाकिस्तान के हाफिज सईद का आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की कश्मीर में उग्रवाद को बढ़ावा देने में कई बार नाम शामिल हुआ है। लेकिन इस बार राष्ट्रीय जांच एजेंसी के मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा के फंड से हरियाणा में एक मस्जिद का निर्माण हुआ है।

    एनआईए ने 3 अक्टूबर को पलवल के उत्तावर जिले में खुलफ़ा-ए-राशिदान मस्जिद की खोज की है जो पाकिस्तानी आतंकी संगठन के दिए पैसों से बनाया गया है। हाल ही में एनआईए के अधिकारियों ने मस्जिद के इमाम सहित आतंकी गुटों से पैसों के लेनदेन के जुर्म में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

    उत्तावर के स्थनीय नागरिकों के मुताबिक मस्जिद का निर्माण एक विवादित जमीन पर हुआ है और उनको इमाम के पाकिस्तानी आतंकी से सम्बन्ध होनो की खबर नहीं थी। तफ्तीश के दौरान एनआईए के अधिकारियों के हिसाब की किताब, मस्जिद से जुड़े दस्तावेज़ और फंड की जानकारी को जब्त कर लिया है।

    एनआईए ने बीते 26 सितम्बर को मोहम्मद सलीम और सज्जाद अब्दुल वानी को लाहौर स्थित आतंकी गुट से पैसे लेने के जुर्म में गिरफ्तार किया था। जाँच एजेंसी के मुताबिक आरोपी सलमान ने इसी पैसे से मस्जिद का निर्माण करवाया। इस मस्जिद में 70 लाख रूपए की लागत आयी थी। अब यह पैसा कहां से जुटाया और किस जगह उपयोग किया इसकी जांच अभी बाकी है।

    जांच के अधिकारी के मुताबिक आरोपी सलमान मस्जिद के निर्माण में सबसे बड़ा भागीदार है जो बचपन से दिल्ली का निवासी है। जांच एजेंसी के मुताबिक ये पैसा आतंकी संगठन एफआईएफ से मिलता था। जांच एजेंसी के बयान के मुताबिक तफ्तीश के दौरान सामने आया कि मोहम्मद सलमान दुबई में पाकिस्तानी संचालक के साथ लगातार संपर्क में था और बाद में फलाह-ए-इंसानियत के संपर्क में आया।

    उत्तावर जिले के खालिद हुसैन ने बताया कि एनआईए की कहानी पर गांववालों को यकीन नहीं है। किसी ने पुलिस को गलत सूचना दी है।

    आरोपी सलमान एक इज़्ज़दार खानदान का बच्चा है और उसके परिवार के खिलाफ कभी कोई आपराधिक केस नहीं हुआ। संदिग्ध सलमान के परिवारजनों ने बताया कि वह बेक़सूर है। इस्लाम में राष्ट्र से सर्वोपरी कुछ नहीं होता, हाफिज सईद विदेशी है और खुदा से खौफ खाने वाला सलमान ऐसा नहीं कर सकता है।

    एनआईए के मुताबिक कथित आरोपी सलमान टैक्सी और डेयरी उतपादो का व्यापार करता था लेकिन व्यापार में घाटे के कारण वह सऊदी अरब चला गया। मोहम्मद सलमान दुबई जाकर पाकिस्तान के आतंकी संचालकों के संपर्क में आया।

    दिल्ली में छापेमारी के दौरान एनआईए को सलमान के घर से संदेहजनक दस्तावेज, 6 मोबाइल और 18 लाख नकदी मिली थी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *