हरिओम पांडे का अम्बेडकर नगर से टिकट कटा, उनकी जगह मुकुट बिहार को चुना

हरिओम पांडे

भारतीय जनता पार्टी नें आज उत्तर प्रदेश में आगामी लोकसभा चुनावों के लिए साथ सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की है। बड़े नामों में भोजपुरी कलाकार रवि किशन को गोरखपुर से टिकट दी है।

इसके अलावा बीजेपी नें अम्बेडकर नगर से सांसद हरिओम पांडे की टिकट काट ली है। उनकी जगह उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री मुकुट बिहार को टिकट मिली है।

हरिओम पांडे नें ट्विटर के जरिये अपनी प्रतिक्रिया दी।

हरिओम पांडे नें लिखा, “प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में प्रथम बार कमल खिलाकर 05 वर्ष (2014-2019) तक सेवा करने का अवसर देने के लिए लोकसभा क्षेत्र अंबेडकरनगर वासियों को धन्यवाद एवं आभार। मैं भविष्य में भी आप सबकी सेवा में सदैव तत्पर रहूंगा।”

इसके अलावा पार्टी नें भदोही सीट से रमेश बिंद को टिकट दिया है, जहाँ पहले से वीरेंदर सिंह सांसद थे। वीरेंद्र सिंह को बलिया भेज दिया गया है।

इसके अलावा बीजेपी नें प्रतापगढ़ से संगल लाल गुप्ता को भी टिकट दी है। बीजेपी की सहयोगी अपना दल नें 2014 में इस सीट को जीता था। इस बार गठबंधन में बीजेपी को यह सीट मिली है।

जौनपुर से बीजेपी के सांसद के पी सिंह नें अपनी सीट सुरक्षित रखी है।

इसके अलावा बीजेपी नें संत कबीर नगर से सांसद शरद त्रिपाठी का टिकट काट लिया है। जाहिर है शरद त्रिपाठी हाल ही में ख़बरों में तब आये थे जब उन्होनें स्थानीय विधायक राकेश बघेल पर जूते बरसाए थे।

शरद त्रिपाठी की जगह प्रवीण निषाद को चुना गया है। शरद त्रिपाठी के पिता रामपति राम त्रिपाठी की टिकट सुरक्षित है और उन्हें देवरिया से चुना गया है।

हरिओम पांडे के बागी तेवर

आज हालाँकि हरिओम पांडे का टिकट कटने के तुरंत बाद ही लगता है उनके बागी तेवर देखे जा सकते हैं।

अमर उजाला के मुताबिक एक कथित ऑडियो वायरल हो रहा है जिसमें हरिओम पांडे पार्टी पर कई गंभीर आरोप लगा रहे हैं।

ऑडियो में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश में योगी कैबिनेट जिस तरह से काम कर रही है उससे समूचे पूर्वांचल में वाराणसी को छोड़ भाजपा कोई और सीट नहीं जीतने जा रही। ऑडियो में यह भी कहा जा रहा है कि संगठन महासचिव सुनील बंसल की गणेश परिक्रमा न करने की वजह से ही उनको टिकट नहीं दिया गया है।

ऑडियो में यह भी कहा गया कि नरेन्द्र मोदी चाहें तो प्रधानमंत्री बने लेकिन पार्टी को उसके किये का खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होनें कहा कि वे बहुत सीधे हैं और यही शायद उनके खिलाफ गया है। आगे कहा गया है कि वे सोच समझकर अगला कदम उठाएंगे।

हरिओम पांडे नें यह भी कहा है कि बाहरी लोगों को आंकड़ों के दम पर चुनाव लड़ाया जा रहा है और पार्टी को इससे खासा नुकसान होने जा रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here