Sun. Jan 29th, 2023
    हरभजन सिंह, श्रीसंत

    इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के उद्घाटन संस्करण में सामने आई कुख्यात घटना के बाद से एक दशक से भी अधिक समय से स्पिनर हरभजन सिंह को एस। श्रीसंत को थप्पड़ मारने का अफसोस है। यह घटना आईपीएल 2008 में मुंबई इंडियंस और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैच में हुई थी, जब एक हरफनमौला हरभजन ने श्रीसंत को पिच पर थप्पड़ मारा और बाद में किंग्स इलेवन पंजाब के ड्रेसिंग रूम में माफी मांगी थी।

    हरभजन सिंह उस समय मुंबई इंडियंस से खेलते थे जबकि श्रीसंत किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से। इस बात को अब 11 साल हो गए है, भज्जी, जो भारत की तरफ से खेलने वाले सबसे सफल स्पिनरो में से एक है, उन्हे इस घटना पर गहरा अफसोस है और उन्हे लगता है उन्हे यह नही करना चाहिए था जो उन्होने किया। उन्होंने कहा कि अगर जीवन में कोई एक चीज है जिसे वह वापस ठीक करना चाहेंगे, तो यह ‘स्लैगगेट’ होगा।

    हरभजन ने बिहाइंडवुड्स एयर को बताया, “श्रीसंत के साथ जो भी हुआ .. मैं और वह मैदान पर थे .. उस घटना के बारे में बहुत सारे लोग अब बात करते हैं।” “अगर मुझे वापस जाना है और अपने जीवन में कुछ सुधार करना है, तो मैं इसे सही करूंगा। मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था।”

    हरभजन ने आगे कहा, ” वह एक गलती थी और मुझे उस पर खेद है। ऐसा नही होना चाहिए था। श्रीसंत एक शीर्ष व्यक्ति है और उनके पास कुशलता है। श्रीसंत को उनके बच्चो और उनकी पत्नी को मेरी शुभकामनाएं। कोई फर्क नही पड़ता लोग क्या कहते है, मैं अभी भी तुम्हारा भाई हूं।”

    हरभजन सिंह इस समय अब चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते है और उन्होने अपने आईपीएल करियर में अबतक चार खिताब जीते है- तीन उन्होनें मुंबई की टीम से जीते थे तो एक चेन्नई से जीता है। इस बीच, श्रीसंत अभी भी क्रिकेट के सभी प्रारूपो से बैन चल रहे है। क्योंकि वह आईपीएल के दौरान स्पॉट-फिक्सिंग के दोषी पाए गए थे और भारतीय क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ने उनको क्रिकेट से जीवन भर के लिए प्रतिबंध लगा दिया था। हाल ही में श्रीसंत बिग-बॉस में भी नजर आए थे जहां वह उपविजेता रहे थे।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *