दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » प्राकृतिक रूप से सफ़ेद रक्त कोशिकाएं कैसे बढ़ाएं?
स्वास्थ्य

प्राकृतिक रूप से सफ़ेद रक्त कोशिकाएं कैसे बढ़ाएं?

how to increase white blood cells in hindi

हमारे शरीर में पायी जाने वाली सफ़ेद रक्त कोशिकाएं हमें संक्रमण से बचाने का कार्य करती हैं लेकिन तब क्या होता है जब शरीर में इनकी मात्रा में कमी आ जाती है। ऐसा होने पर शरीर में संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।

सफेद रक्त कोशिकाओं (डब्ल्यूबीसी) को ल्यूकोसाइट्स के साथ-साथ सफेद कॉर्पसकल भी कहा जाता है। ये रक्त के सेलुलर घटक हैं जिनमें हीमोग्लोबिन की कमी होती है लेकिन इसमें नाभिक होता है। सफेद रक्त कोशिकाएं का मुख्य कार्य शरीर को संक्रमण और बीमारी से बचाने के लिए होता है।

सफ़ेद रक्त कोशिकाओं का कार्य (white blood cells function in hindi)

सफेद रक्त कोशिकाएं हमारे शरीर को बाहरी कणों और सेलुलर मलबे के संक्रमण से बचाती हैं। ये कोशिकाएं एंटीबॉडी के उत्पादन को भी सुविधाजनक बनाती हैं और संक्रामक एजेंटों के साथ-साथ कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट करने में मदद करती हैं।

कई कारणों से सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या में उतार-चढ़ाव हो सकता है। व्यायाम के दौरान आप अपने सफेद रक्त कोशिका गिनती में वृद्धि देख सकते हैं, जबकि आप आराम करते समय गिनती गिर सकती है।

सफ़ेद रक्त कोशिकाओं में कमी के कारण (white blood cells low reasons in hindi)

  • विषाणु संक्रमण
  • जन्मजात विकार
  • कैंसर
  • ऑटोम्यून्यून विकार
  • गंभीर संक्रमण जिसमें बहुत सारे सफेद रक्त कोशिकाओं की आवश्यकता होती है
  • एंटीबायोटिक दवाओं
  • खराब पोषण
  • शराब का सेवन

सफ़ेद रक्त कोशिकाओं में कमी के लक्षण (low white blood cells symptoms in hindi)

  • उच्च बुखार
  • ठंड लगना
  • पसीना आना

यदि इसमें गिरावट संक्रमण के कारण आई है तो निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

  • सूजन और लाली
  • मुँह में छाले
  • गले में खराश
  • गंभीर खांसी
  • साँसों की कमी

सफ़ेद रक्त कोशिकाओं को बढाने के उपाय (how to increase white blood cells in hindi)

1. लहसुन (garlic)

लहसुन में इम्मुनोमोडूलेट्री और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण है जो विभिन्न सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को उत्तेजित करके अपनी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है – जिसमें लिम्फोसाइट्स, ईसीनोफिल, और मैक्रोफेज शामिल हैं।

सामग्री:

  • 1-2 चम्मच कसा हुआ या बारीक कटा हुआ लहसुन

कैसे इस्तेमाल करें?

  • अपने पसंदीदा व्यंजन में लहसुन डालें और रोज़ खाएं।
  • यदि आप इसकी रेज़ दुर्गन्ध झेल सकते हैं तो आप इसे कच्चा भी खा सकते हैं।

प्रतिदिन लहसुन का सेवन करें।

2. पालक (spinach)

पालक विटामिन ए, सी, और ई का समृद्ध स्रोत है – जिनमें से सभी डब्लूबीसी की संख्या को बढ़ावा देने के लिए जाने जाते हैं।

सामग्री:

  • पके हुए पालक का एक भाग

कैसे इस्तेमाल करें?

  • अपने आहार में पके हुए पालक का एक भाग शामिल करें।
  • आप सीधा पालक खा सकते हैं या अपने सलाद या पास्ता में शामिल कर सकते हैं।

जल्दी ठीक होने के लिए प्रतिदिन पालक खाएं।

3. पपीते की पत्तियां (papaya leaves)

पपीता के पत्तों में एसीटोजेन होते हैं, जो महत्वपूर्ण यौगिक होते हैं जो डब्लूबीसी की संख्या को बढ़ाकर प्रतिरक्षा को बढ़ावा देते हैं। वास्तव में, पत्तियां डेंगू बुखार के लिए एक महान उपाय के रूप में कार्य करती हैं।

सामग्री:

  • पपीते की पत्तियों का एक झुण्ड
  • पानी(आवश्यकतानुसार)

कैसे इस्तेमाल करें?

  • धुली हुई पपीते की पत्तियों को पीस लें।
  • इस मिश्रण में थोडा पानी डालकर दोबारा पीस लें।
  • इस मिश्रण को छान लें और इस रस का एक बड़ा चम्मच ले लें।
  • यदि यह अत्यधिक कडवा हो तो आप इसमें थोडा शहद भी मिला सकते हैं।

इसे प्रतिदिन 1-2 बार लें।

4. दही (curd)

दही में प्रोबायोटिक्स प्रतिरक्षा को बढ़ावा देते हैं। उनके पास उत्तेजनात्मक गुण भी हैं जो डब्लूबीसी की संख्या बढ़ाने में मदद करते हैं।

सामग्री:

  • 1 कटोरी प्रोबायोटिक दही

कैसे इस्तेमाल करें?

  • एक कटोरी प्रोबायोटिक दही खा लें।

इसे प्रतिदिन कम से कम एक बार खाएं।

5. जिंक (zinc)

जिंक सफेद रक्त कोशिकाओं के सामान्य कामकाज को बहाल करने में मदद कर सकता है, जिससे प्रतिरक्षा को बढ़ावा मिलता है।

सामग्री:

  • 8-11 एमजी जिंक सप्लीमेंट

कैसे इस्तेमाल करें?

  • जिंक सप्लीमेंट को खा लें।
  • आप ओएस्टर, लाल मांस, सेम, और नट्स जैसे जिंक में समृद्ध खाद्य पदार्थों का भी उपभोग कर सकते हैं।

इसे प्रतिदिन लें।

6. ब्रोक्कोली (broccoli)

ब्रोकोली में एक सल्फोराफेन (एसएफएन) रसायन की उपस्थिति आपके सफेद रक्त कोशिका संख्या को नियंत्रित करने और अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है।

सामग्री:

  • 1 कप पकी हुई ब्रोक्कोली

कैसे इस्तेमाल करें?

  • एक कप पकी हुई ब्रोक्कोली ले लें।
  • इसमें थोडा नमक डाल सकते हैं या ऐसे ही खा सकते हैं या अपने पसंदीदा सलाद में डाल सकते हैं।

इसका प्रतिदिन सेवन करें।

7. सेलेनियम (selenium)

सेलेनियम के आहार सेवन में सफेद रक्त कोशिकाओं, विशेष रूप से लिम्फोसाइट्स और न्यूट्रोफिल के उत्पादन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। सेलेनियम भी संक्रमण और बीमारियों के खिलाफ आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाता है।

सामग्री:

  • 200 एमजी सेलेनियम सप्लीमेंट

कैसे इस्तेमाल करें?

  • सेलेनियम सप्लीमेंट का प्रतिदिन सेवन करें।
  • आप ट्यूना, सार्डिन, चिकन और टर्की के अधिक से अधिक उपभोग करके अपनी दैनिक सेलेनियम आवश्यकता को भी पूरा कर सकते हैं।

सेलेनियम सप्लीमेंट का प्रतिदिन एक बार सेवन करें।

8. कीवी (kiwi)

कीवी में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और यह पोटेशियम और विटामिन सी और ई के समृद्ध स्रोत भी होटी है। ये सभी पोषक तत्व आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाने और सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

सामग्री:

  • 1-2 कीवी

कैसे इस्तेमाल करें?

  • कीवी को छीलें, काटें और तुरंत खा लें।

उच्च परिणाम के लिए प्रतिदिन 2-3 कीवी खाएं।

9. नोनी फल (noni fruit)

नोनी फल में प्रमुख पोषक तत्वों में से एक विटामिन सी है, यही कारण है कि यह फल आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाने में बहुत अच्छा काम करता है। यह उत्तेजक गुण प्रदर्शित करता है जो आपके टी और बी लिम्फोसाइट्स की गिनती बढ़ाने में मदद करते हैं।

सामग्री:

  • 30-60 एमएल बिना शक्कर का नोनी रस

कैसे इस्तेमाल करें?

  • नोनी रस पी लें।
  • आप बाज़ार से खरीद सकते हैं या खुद इसका रस निकाल सकते हैं।

इसे प्रतिदिन पीयें।

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

दिव्या

6 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!