Wed. Feb 8th, 2023
    स्मृति ईरानी ने साझा की 'क्योंकि' से पुरानी तस्वीर, कहा एकता कपूर ने मुझे #faceappchallenge से पहले बूढ़ा बना दिया था

    आये दिन सोशल मीडिया पर एक नया ट्रेंड शुरू हो जाता है जिसमे मशहूर हस्तियों के साथ साथ आम जनता भी शामिल होने लगती है। सबसे खास बात ये है कि इन ट्रेंड के साथ काफी मजेदार परिणाम भी देखने को मिलते हैं जैसा हालिया ट्रेंड में देखने को मिल रहा है जिसमे सब ये जानने के लिए उत्सुक हो रहे हैं कि अपने बुढ़ापे में वे कैसे दिखेंगे। लोग फेस एप के साथ अपनी तस्वीरो को एडिट कर रहे हैं जिसके बाद उनको अपना बुढ़ापा दिखने लगता है।

    इसमें काफी मशहूर हस्तियाँ भी जुड़ी जिसमे हमारे टीवी सितारें भी शामिल हैं। और इसमें एक दिलचस्प तड़का लगाया है अभिनेता से राजनेता बनी स्मृति ईरानी ने। केंद्रीय मंत्री जिन्हे अपने शानदार सेंस ऑफ़ ह्यूमर के लिए जाना जाता है, ने इंस्टाग्राम पर शो ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी‘ से अपने किरदार तुलसी की एक तस्वीर साझा की है। ये तस्वीर बूढी तुलसी की है और इसे साझा करते हुए, स्मृति ने मजाक किया निर्माता एकता कपूर ने उन्हें ट्रेंड शुरू होने से पहले ही बूढ़ा बना दिया था।

    https://www.instagram.com/p/B0CquJSna-k/?utm_source=ig_web_copy_link

    एकता ने भी उनके पोस्ट का जवाब देते हुए लिखा-“और आपने ये एक बॉस की तरह किया। वो तीसरा लीप था ना।”

    स्मृति और एकता व्यक्तिगत ज़िन्दगी में करीबी बंधन साझा करती हैं और बेस्ट फ्रेंड्स हैं। दोनों एक-दूसरे के साथ हर सुख दुःख में रही हैं। जब स्मृति का शो ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ आया था तो तुलसी घर घर का नाम बन गया था और टीवी पर करीब आठ साल तक प्रसारित हुआ। भारतीय टेलीविज़न के इतिहास में ये शो 1000 एपिसोड्स पूरा करने वाला पहला डेली सोप बन गया था।

    https://www.instagram.com/p/BscdBtuABSe/?utm_source=ig_web_copy_link

    इस दौरान, स्मृति भाजपा की मंत्री हैं। वह पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार में सबसे कम उम्र वाली मंत्री हैं और इस बार के लोक सभा चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को हराकर अमेठी से सांसद चुनी गयी हैं। वह वर्तमान में महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं।

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *