मंगलवार, दिसम्बर 10, 2019

स्टोक्स-लीच की जोड़ी ने बनाया रिकार्ड

Must Read

दिल्ली अनाज मंडी अग्निकांड : सीबीआई जांच, न्यायिक जांच की याचिका खारिज

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को अनाज मंडी अग्निकांड की न्यायिक और सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका खारिज...

मध्य प्रदेश भाजपा नेता प्रहलाद लोधी की विधानसभा सदस्यता बहाल

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक प्रहलाद लोधी की विधानसभा सदस्यता बहाल कर दी गई है। विधानसभाध्यक्ष एन. पी....

‘कुंग फू पांडा’ के निर्देशक जॉन स्टीवेन्सन भारत में काम करने को हैं तैयार

ऑस्कर के लिए नामांकित फिल्म निर्माता और अनुभवी एनिमेटर जॉन स्टीवेन्सन 'कुंग फू पांडा' और 'शरलॉक गोम्स' जैसी अपनी...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

नई दिल्ली, 26 अगस्त (आईएएनएस)| लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स और जैक लीच ने जो किया, वो इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है। इन दोनों ने आखिरी विकेट के लिए 76 रनों की साझेदारी कर न सिर्फ आस्ट्रेलिया के मुंह से जीत छीनी, साथ ही इंग्लैंड को एशेज सीरीज में बनाए रखा है।

इसी के साथ यह दोनों चौथी पारी में 10वें विकेट के लिए दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी का रिकार्ड अपने नाम करने में सफल रहे हैं। टेस्ट मैच की चौथी पारी में 10वें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकार्ड श्रीलंका के कुशल परेरा और विश्वा फर्नाडो के नाम है। इन दोनों ने इसी साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 304 रनों का पीछा करते हुए 78 रनों की साझेदारी कर श्रीलंका को जीत दिलाई थी।

इंग्लैंड को इस मैच में 359 रनों का लक्ष्य मिला था जिसे उसने एक विकेट शेष रहते हासिल किया। यह इंग्लैंड की टेस्ट में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत भी है। इससे पहले इंग्लैंड ने मेलबर्न में 1928 में 332 रनों का पीछा करते हुए जीत हासिल की थी। साथ ही यह हेडिंग्ले में लक्ष्य का पीछा करते हुए दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इस मैदान पर आस्ट्रेलिया ने 1948 में 404 रनों का पीछा करते हुए जीत हासिल की थी।

इंग्लैंड इस मैच में अपनी पहली पारी में 67 रनों पर ही ढेर हो गई थी। टेस्ट इतिहास में ऐसा सिर्फ तीन बार ही हुआ है कि पहली पारी में टीम इससे भी कम रन बनाकर ऑल आउट हो गई हो लेकिन अंतत: मैच जीतने में सफल रही हो। यह तीनों मैच 1880-90 के दशक में खेले गए थे।

इस पारी में स्टोक्स द्वारा लगाए गए छक्के भी चर्चा में रहे। वह एक मैच की चौथी पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों की फेहरिस्त में तीसरे नंबर आ गए हैं। स्टोक्स ने इस मैच में आठ छक्के मारे। उनसे ज्यादा छक्के सिर्फ नाथन एस्ले (11) और टिम साउदी (9) ने लगाए हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली अनाज मंडी अग्निकांड : सीबीआई जांच, न्यायिक जांच की याचिका खारिज

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को अनाज मंडी अग्निकांड की न्यायिक और सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका खारिज...

मध्य प्रदेश भाजपा नेता प्रहलाद लोधी की विधानसभा सदस्यता बहाल

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक प्रहलाद लोधी की विधानसभा सदस्यता बहाल कर दी गई है। विधानसभाध्यक्ष एन. पी. प्रजापति ने लोधी को उच्च...

‘कुंग फू पांडा’ के निर्देशक जॉन स्टीवेन्सन भारत में काम करने को हैं तैयार

ऑस्कर के लिए नामांकित फिल्म निर्माता और अनुभवी एनिमेटर जॉन स्टीवेन्सन 'कुंग फू पांडा' और 'शरलॉक गोम्स' जैसी अपनी फिल्मों के लिए जाने जाते...

चिली का सैन्य विमान लापता, 38 लोग थे सवार

अंटार्कटिका जा रहा चिली का एक सैन्य विमान सोमवार को लापता हो गया। विमान में 38 लोग सवार थे। देश की वायु सेना ने...

लोकसभा में 311 मतों के समर्थन के साथ पारित हुआ नागरिकता संशोधन विधेयक

लोकसभा में आखिरकार सोमवार की आधी रात के बाद नागरिकता संशोधन विधेयक पारित कर दिया। जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले गैर-मुस्लिम...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -