स्टेचू ऑफ़ यूनिटी: एक दिन में 19 लाख रूपए की रिकॉर्ड कमाई, 7710 पर्यटक पहले दिन पधारे

स्टेचू ऑफ़ यूनिटी

विश्व की सबसे विशाल प्रतिमा स्टेचू ऑफ़ यूनिटी भारत का पर्यटन स्थल बन चुकी है। भारत के पहले गृह मंत्री और उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा को गुजरात के नर्मदा जिले में स्थापित किया गया था।

इस प्रतिमा को देखने के लिए 7710 पर्यटक प्रतिमा को देखने के लिए आये थे, इस दौरान 19,10,405 रूपए का टिकट कलेक्शन हुआ था।

अनावरण के कुछ दिनों बाद तक प्रतिमा को देखने के लिए 4796 पर्यटक आये थे और 9.53 लाख रूपए के टिकट बिके थे। 1 नवम्बर को 2737 पर्यटकों ने स्टेचू को देखने के लिए 546050 रूपए का योगदान दिया था। वहीँ दूसरे दिन 2299 पर्यटकों ने 407650 रूपए के टिकट ख़रीदे थे।

पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र का अनावरण प्रधामंत्री नरेन्द्र मोदी ने लौह पुरुष सरदार पटेल के जन्मदिवस पर किया था। प्रतिमा के विभाग ने बताया कि प्रति व्यक्ति टिकट की कीमत 380 रूपए है जिसमे 30 रूपए पार्किंग से प्रतिमा तक जाने का किराया है। पीआरओ ऑफिस के मुताबिक टिकट पास के सर्किट हाउस में उपलब्ध है।

भारत में निर्मित लौह पुरुष की प्रतिमा विश्व की सबसे लम्बी प्रतिमा है, इसकी लम्बाई 182 मीटर है। इसके बाद चीन का बुद्ध मंदिर और अमेरिका के स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी दुनिया के दूसरे और तीसरे पायदान पर मौजूद हैं। यह भव्य प्रतिमा भारतीय इंजीनियरिंग को समर्पित की गयी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here