Sat. Jul 13th, 2024
    सैमसंग और शाओमी में कौन रहा आगे

    सैमसंग ने भारतीय बाजार में अपना खोया हुआ दबदबा फिर से हासिल करने के लिए एक बड़ी छलांग लगाई है। कैनालिस के एक रिपोर्ट के अनुसार सैमसंग ने 2018 की दूसरे तिमाही यानी अप्रैल से जून तक 99 लाख स्मार्टफोन्स की बिक्री की है। वहीं अगर शाओमी की बात करें तो उन्होंने भी इस तिमाही में 99 लाख स्मार्टफोन्स बेचे जो की भारतीय बाजार में किसी भी मोबाइल कम्पनी की सबसे बेहतर तिमाही है।

    अगर भारतीय फोन बाजार में हिस्सेदारी की बात करें तो दोनों कंपनियां मिलकर मिलकर 60% मार्केट पे कब्जा जमाए हुए हैै। एक साल पहले यही आंकड़ा 43% था।

    केनालिस के विश्लेषक तुआनाह ग्वेन ने अधिक जानकरी देते हुए कहा की सैमसंग अब शाओमी को सीधे टक्कर देने वाले बजट फोन लांच कर रहा है जिस कारण से भारतीय बाजार में उसकी वापसी सम्भव हुई है। उनके अनुसार सैमसंग आए दिन नए-नए फीचर को जोड़ कर अपने स्मार्टफोन्स के कैमरे को भी बेहतर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

    किस फोन ने मारी बाजी?

    अगर दोनों कम्पनियों के सबसे ज्यादा बिकने वाले डिवाइस की बात करें तो सैमसंग ने 23 लाख “J2 प्रो” बेचे जबकि शाओमी ने 33 लाख “रेडमी 5A” फोन की बिक्री की।

    वहीं अगर बांकी कम्पनियों की बात करें तो तीसरे नंबर पर रही वीवो की 11% बाजार पर हिस्सेदारी है तो वहीं ओप्पो 10% मार्केट पे कब्जा जमा कर चौथे नंबर पर रही। समीक्षाधीन तिमाही में भारत में कुल 3 करोड़ स्मार्टफोन्स बेचे गए जो की पिछले साल से लगभग 22% ज्यादा है।

    क्या है कैनालिस?

    कैनालिस सिंगापुर की एक मार्किट रिसर्च कम्पनी है जो बाजार में सक्रिय कंपनियों की आर्थिक गतिविधियों पर नजर रखती है और आंकड़ों को सार्वजनिक करती है।

    By अनुपम कुमार सिंह

    बीआईटी मेसरा, रांची से कंप्यूटर साइंस और टेक्लॉनजी में स्नातक। गाँधी कि कर्मभूमि चम्पारण से हूँ। समसामयिकी पर कड़ी नजर और इतिहास से ख़ास लगाव। भारत के राजनितिक, सांस्कृतिक और भौगोलिक इतिहास में दिलचस्पी ।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *