Tue. Apr 16th, 2024
    तुर्की

    सीरिया की उत्तरी सीमा पर सैन्य अभियान को अंजाम देने की अपनी कार्रवाई का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि “यह अभियान संभावित आतंकवाद के खतरे से आत्मरक्षा और तुर्की की सीमा सुरक्षा के लिए अंजाम दिया जायेगा।” उन्होंने यूएन के महासचिव एंटोनियो गुएटरेस को पत्र लिखा था।

    सीरिया में अभियान पर यूएन की होगी बैठक

    यूएन में तुर्की के स्थायी प्रतिनिधि फेरीडून सिनिर्लिओग्लु ने बुधवार को कहा कि “तुर्की ने शान्ति अभियान की शुरुआत आत्मरक्षा के अधिकार के लिए 9 अक्टूबर को की थी ताकि संभावित आतंकवादी खतरे से निपटा जा सके। तुर्की की सीमा सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सके और तुर्की की सीमा से सटे इलाकों से आतंकवादियों का सफाया किया जा सके।”

    तुर्की ने कहा कि “वह अभी भी सीरिया में राजनीतिक समाधान के जरिये संकट को सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध है जैसे कि जिनेवा और यूएन सुरक्षा परिषद के नियमो के तहत बताया था। राजदूत ने आश्वस्त किया कि इस अभियान का मकसद आतंकवादियों और ठिकानो, वाहनों, शिविरों, हथियारों और उपकरणों को निशाना बनाना है।”

    संयुक्त राष्ट्र की गुरूवार को हालिया तनाव पर चर्चा के लिए एक आपात बैठक का आयोजन होना है। तुर्की ने उत्तरी सीरिया में एक आक्रमक अभियान की शुरुआत की थी। सीरिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ कार्रवाई में अमेरिकी समर्थित कुर्द को अंकारा ने निशाना बनाया था।

    अंकारा अमेरिकी समर्थित सीरियन डेमोक्रेटिक फाॅर्स यानी कुर्द को निशाना बनाकर हमले को अंजाम देना चाहते हैं। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रीषम ने कहा कि “तुर्की अपनी पूर्वनियोजित अभियान के साथ जल्द ही उत्तरी सीरिया की तरफ बढेगा। अमेरिका की हथियार बंद सेना न इसका समर्थन करेगी और न ही इस अभियान में शामिल होंगी।

    कुर्द के साथ सीरिया से नजदीक सीमा पर वांशिगटन के करीबी सहयोगी होने पर तुर्की ने कई बार आपत्ति दर्ज की है। उन्हें कुर्दिश वर्कर पार्टी से जोड़ा गया है जिसे तुर्की में आतंकवादी संगठन की सूची में शामिल कर रखा है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *