Sat. Apr 20th, 2024
    सीरिया की सीमा

    अमेरिका की सेना ने सोमवार को सीरिया के रास अल ऐन और तेल अबियद से दो निगरानी चौकियो को खाली कर दिया है। कुछ घंटो पूर्व ही तुर्की के राष्ट्रपति ने सीरिया में सैन्य अभियान की शुरुआत करने की धमकी दी थी। अमेरिका ने इससे पूर्व ही ऐलान कर दिया कि वांशिगटन उत्तरी सीरिया में अंकारा के सैन्य अभियान में सहयोग नहीं करेगा।

    व्हाइट हाउस के सचिव स्टेफेन ग्रीषम ने कहा कि “तुर्की जल्द ही उत्तरी सीरिया में अपने लम्बी अवधि की योजना की तरफ आगे बढ़ेंगे। अमेरिका की सेना न इस अभियान में शामिल होगी और न ही इसमें सहयोग करेगी।”

    अमेरिका के अभी उत्तरी सीरिया में करीब 1000 सैनिक तैनात है जहां वह कुर्दिश वाईपीजे सेना के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। कुर्दिश सेना सीरियन डेमोक्रेटिक फाॅर्स का नेतृत्व करती है। इस्लामिक स्टेट के खिलाफ संघर्ष में कुर्द अमेरिका के सबसे भरोसेमंद सहयोगी रहे हैं।

    अमेरिका उत्तरी सीरिया में तनाव को कम करने के लिए सीमा के नजदीक सेफ जोन की स्थापना पर कार्य कर रहा है। तुर्की के राष्ट्रपति ने हालिया दिनों में चेतावनी दी कि वह सीमा के नजदीक जल्द ही सैन्य अभियान की शुरुआत कर सकते हैं और यह आगामी कुछ दिनों में ही सम्भव हो सकता है।

    कुर्द के साथ सीरिया से नजदीक सीमा पर वांशिगटन के करीबी सहयोगी होने पर तुर्की ने कई बार आपत्ति दर्ज की है। उन्हें कुर्दिश वर्कर पार्टी से जोड़ा गया है जिसे तुर्की में आतंकवादी संगठन की सूची में शामिल कर रखा है। वांशिगटन ने भी पीकेके को आतंकवादी संगठन करार दिया है लेकिन इसमें वाईपीजी शामिल नहीं है।

    तुर्की के राष्ट्रपति रिचप तैयब एर्दोगन ने सोमवार को कहा कि “सीरिया में कुर्दिश चरपंथियो के खिलाफ किसी भी पल अभियान को शुरू करने के लिए तुर्की की सेना तैयार है।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *