Sat. Feb 4th, 2023
    हवाई हमला

    सीरिया की सरकार की बमबारी में 14 नागरिकों की मौत हुई है और इसमें सात बच्चे भी शामिल है। विरोधियों के ठिकानो पर घातक हमले किये थे। जंगी विमानों ने इद्लिब प्रान्त में महाबल गाँव में शुक्रवार को जंगी विमान और विमानों से हमला किया था। इसमें 13 नागरिकों की मौत हो गयी थी।

    ब्रिटेन के वॉर मॉनिटर ने कहा कि “एक महिला की शनिवार को खान शेइखुन में हुए राकेट विस्फोट में मौत हो गयी थी। यह इलाका तीन लाख आबादी का निवास स्थान है। सरकार विरोधियों के आखिरी गढ़ को हथियाने के लिए हवाई हमले को अंजाम दे रही है।

    आठ वर्षों के गृह युद्ध के बाद रूस समर्थित सीरिया की सरकार विरोधियों के प्रमुख ठिकानों पर हवाई हमलो को अंजाम दे रही है। इस  इलाके पर तुर्की समर्थित अलकायदा के पूर्व सहयोगी हयात तहरीर अल शाम का नियंत्रण है लेकिन यहाँ अन्य जिहादी और विद्रोही समूह भी मौजूद  है।

    मोस्को और अंकारा के बीच सितम्बर में एक संघर्षविराम समझौता हुआ था जिसके तहत इद्लिब को संरक्षित करने की बात तय हुई थी। अप्रैल के अंत से इलाके में डमस्कस और रुसी सहयोगी ने घातक हमलो को अंजाम देना शुरू कर दिया था। सर्वे के मुताबिक, इस बमबारी में 520 से अधिक नागरिकों की मौत हो गयी थी।

    संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि इलाके में 25 स्वास्थ्य केन्द्रों को भी नुकसान हुआ था। गुरूवार को काफ्रंबेल शहर में अस्पताल में हमले से यह दो महीनो में दूसरा हमला है।

    यूएन के सीरिया के संकट के उप क्षेत्रिय मानवीय समन्वयक मार्क कत्ट्स ने कहा कि “नागरिक क्षेत्रो और नागरिक संरचना में जारी हमले से मैं बेहद सहमा हुआ हूँ और उत्तरी पश्चिमी क्षेत्र में संघर्ष बरक़रार है।” सीरिया की जंग में 370000 से अधिक लोगो की मौत हुई थी और लाखो से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। साल 2011 में सरकार विरोधी प्रदर्शन में बर्बर कार्रवाई शुरू हुई थी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *