शनिवार, फ़रवरी 29, 2020

सीरिया में अमेरिकी सैनिको पर तुर्की ने की गोलबारी: पेंटागन

Must Read

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

उत्तरी सीरियाई सीमा के नजदीक अमेरिकी सैनिको पर तुर्की की सेना ने गोलीबारी की थी। पेंतोगन ने शुक्रवार को कहा कि “हमने चेतावनी दी है कि अमेरिका तत्काल रक्षात्मक कार्रवाई के साथ अकर्मकता का जवाब देने के लिए तत्पर है।”

अमेरिका की सेना ने रात को 9 बजे कोबानी शहर में स्थिति चौकी के करीब सौ मीटर दूरी विस्फोट की पुष्टि की थी। इस इलाके में अमेरिकी की सेना की मौजूदगी है। नौसेना के कप्तान ब्रूक देवाल्ट ने बयान में कहा कि “सभी अमेरिकी सैनिको को कोई नुकसान नहीं पंहुचा है। अमेरिका की सेना को कोबानी से वापस नहीं बुलाया गया है।”

उत्तरी पूर्वी सीरिया में तुर्की की आक्रमकता को मंज़ूरी देने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की कागी आलोचना हुई है इस हमले की शुरुआत अमेरिका के राष्ट्रपति द्वारा सीरिया से सेना को वापस बुलाने के बाद हुई थी। तुर्की कुर्दिश के नेतृत्व की सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज को निशाना बना रहे थे जो इस्लामिक स्टेट के खिलाफ पांच सालो की जंग में अमेरिका का सहयोगी रहा है।

अमेरिका के अभियान में एसडीएफ ने 11000 सैनिको को गंवाया है। ट्रेज़री सेक्रेटरी स्टीवन म्युनीच ने शुक्रवार को कहा कि “ट्रम्प ने मंज़ूरी दे दी है लेकिन अभी इन्हें लागू नहीं किया गया है। सार्थक नए प्रतिबंधो को लागू करने से तुर्की को आक्रमकता से रोका जा सकेगा।”

देवाल्ट ने कहा कि “अमेरिका हमेशा सीरिया में तुर्की की सेना के कदम की मुखालफत करेगा और खासकर सिक्यूरिटी मैकेनिज्म जोन के बाहर और अमेरिकी सेनाओं की मौजूदगी वाले इलाकों पर तुर्की के हमले पर आपत्ति दर्ज करेगा। तुर्की से अमेरिका कार्रवाई न करने की मांग करता है जिसका ओअरिनाम तत्काल रक्षात्मक कार्रवाई हो सकती है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के लिए 5-6 फिल्मों को अस्वीकार...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक लोगों, ज्यादातर महिलाओं ने शनिवार...

‘हैदराबाद में शाहीन बाग जैसे विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी’: पुलिस आयुक्त

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने शनिवार को कहा कि शहर में "शाहीन बाग़ जैसा" विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उनका...

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल की दिवार से खुद को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -