Tue. Apr 16th, 2024
    अमेरिका

    सीरिया में जारी आक्रमकता के बीच वहां मौजूद अमेरिकी ऑपरेशन यूनिट के नजदीक तुर्की की सेना ने गोलीबारी की थी। यह वारदात सीरिया के शहर कोबानी के नजदीक हुई थी। उन्होंने एक अधिकारिक के हवाले से कहा कि शुरूआती रिपोर्ट्स में हताहत की कोई जानकारी नहीं थी और इस बार भी जानबूझकर इसे अंजाम देने की कोई रिपोर्ट नहीं है।

    एक अन्य अधिकारी ने बताया कि “विस्फोट के बाद से यहाँ कोई गतिविधि नहीं देखने को मिली है और इसके भी कोई संकेत नहीं है कि उन्होंने जानबूझकर अमेरिका की सेना पर गोलीबारी की थी।” अलबत्ता तुर्की ने इनकार किया है कि उनकी सेना ने अमेरिकी सेना पर गोलीबारी की है।

    सीरिया में तुर्की ने अपना अभियान बुधवार को शुरू किया था। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने तुर्की से अमेरिकी सैनिको को वापस बुला लिया था जबकि इस मामले पर उनके सैन्य अधिकारियो और राज्य विभाग ने असहमति व्यक्त की थी।

    ट्रम्प ने तुर्की के अभियान को बुरा विचार बताते हुए इसकी आलोचना की थी। उन्होंने इस हफ्ते कहा कि “अगर तुर्की अपनी सीमाओं को लांघता है तो उसे आर्थिक सजा भुगतनी होगी।” उत्तरी सीरिया के तेल अब्याद गाँव में सबसे ज्यादा संघर्ष हुआ है और यहाँ के बांशिदों ने गोलीबारी की विडियो रिकॉर्ड की थी।

    तुर्की ने इस अभियान पर अपना बचाव करते हुए कहा कि “इस अभियान का मकसद हमारी सीमाओं पर सुरक्षा को सुनिश्चित करना है और अपने जनता की सुरक्षा करना है। कुर्दिश चरमपंथी और इस्लामिक स्टेट के चरमपंथी हमारे लिए खतरा है।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *