Sat. Feb 4th, 2023
    अमेरिकी राज्य सचिव माइक पोम्पिओ

    अमेरिका के राज्य सचिव माइक पोम्पिओ ने बुधवार को तुर्की को चेताया कि “अगर उन्होंने सीरिया में एकपक्षीय सैन्य कार्रवाई की शुरुआत की तो इसके परिमाण बेहद विध्वंशक हो सकते हैं।” स्पुटनिक ने अमेरिकी राज्य विभाग के प्रवक्ता रॉबर्ट पालडिनो के हवाले से कहा कि “उत्तर पूर्व सीरिया से सम्बंधित जारी वार्ता का राज्य सचिव ने समर्थन किया है, जबकि चेताया है कि अगर तुर्की ने अकेले सीरिया में कोई सैन्य कार्रवाई की तो परिणाम बेहद गंभीर हो सकते हैं।”

    अमेरिकी-तुर्की मुलाकात

    माइक पोम्पिओ ने अपने तुर्की समकक्षी विदेश मंत्री मेलवुट कावुसोग्लू से बुधवार को वांशिगटन में मुलाकात की थी। जहां दोनों नेताओं ने अपने मुलाकात को रचनात्मक बताया था।

    तुर्की के विदेश मंत्री ने कहा कि “हमने द्विपक्षीय संबंधों और हमारे संयुक्त एजेंडा के मसलों पर अमेरिका के राज्य सचिव माइक पोम्पिओ के साथ रचनात्मक बातचीत की थी। कांग्रेस को तुर्की-अमेरिका के संबंधों में अधिक रचनात्मक किरदार निभाने की जरुरत है, तुर्की एकपक्षीय आरोपण स्वीकार नहीं करेगा।”

    अमेरिका-तुर्की के मतभेद

    हाल ही में तुर्की ने रूस से एस-400 एंटी एयर मिसाइल सिस्टम ख़रीदा था और इसके बाद अमेरिका ने तुर्की को एफ-35 जॉइंट स्ट्राइक फाइटर प्रोग्राम से दूर रखा था। वांशिगटन ने अंकारा को एमआईएम-104 पेट्रियट मिसाइल सिस्टम खरीदने का प्रस्ताव दिया था जिसे तुर्की ने नकार दिया था।

    तुर्की के उप राष्ट्रपति फुआत ओक्टाय ने माइक पोम्पिओ पर भड़कते हुए कहा कि “अमेरिका को एक का चयन करना होगा, या तो हमारा सहयोगी बनकर रहे या फिर हमारी दोस्ती को जोखिम में डालकर आतंकियों की सेना को ज्वाइन कर ले।” अमेरिका सीरिया में असद सरकार के खिलाफ वाईपीजी और अन्य कुर्दिश चरमपंथियों का समर्थन करता हैं।

    सीरिया से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की खबरों पर तुर्की ने अमेरिकी समर्थित कुर्दिश सेनाओं के खिलाफ जंग की इच्छा व्यक्त की है। तुर्की की सीमा से सटा सीरिया का उत्तरी क्षेत्र अमेरिकी समर्थित कुर्दिश से नियंत्रण में हैं। इसमें कुर्दिश वर्कर्स पार्टी और कुर्दिश पीपल्स प्रोटेक्शन यूनिट शामिल है जो इस्लामिक स्टेट और दाएश के खिलाफ अमरीका के साथ मिलकर लड़ाई लड़ते हैं।

    अमेरिका ने इस क्षेत्र में कुर्दिश सेनाओं की सुरक्षा की मांग की है। डोनाल्ड ट्रम्प के सीरिया से सैनिकों को वापस बुलाने के बयान से तुर्की के समक्ष कुर्दिश सेना को इस क्षेत्र से दूर करने का विकल्प खुल गया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *