सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

सीबीआई विवाद: सीवीसी की जाँच रिपोर्ट मीडिया में लीक होने से भड़का सुप्रीम कोर्ट, टाली सुनवाई

Must Read

पाकिस्तान उच्चायोग हवाला से कश्मीर में आतंकवाद को कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (लीड-1)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में जेएमबी सक्रिय : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत के...

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

सीबीआई विवाद में आज एक नया मोड़ आ गया। कल आलोक वर्मा ने सीवीसी की जांच रिपोर्ट पर अपना जवाब सीलबंद लिफ़ाफ़े में सुप्रीम कोर्ट में जमा किया लेकिन सीवीसी की जांच रिपोर्ट लीक हो गई। रिपोर्ट लीक होने से जज भड़क गए और सुनवाई टाल दी।

मंगल वार को सुनवाई शुरू होते ही चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने आलोक वर्मा की वकील फली नरीमन के सामने एक मिडिया रिपोर्ट रखते हुए सवाल किया कि जब सीवीसी ने आलोक वर्मा को सीलबंद लिफ़ाफ़े में जांच रिपोर्ट सौंपी थी तो ये मिडिया में लीक कैसे हुई। इसपर अलोक वर्मा की वकील ने इसपर अनभिज्ञता जाहिर की।

उसके बाद चीफ जस्टिस ने इस बात भी नाराजगी जताई कि जब सोनवार को ही इस रिपोर्ट पर जवाब सौंपना था और आलोक वर्मा ने जवाब तैयार भी कर लिया था तो फिर उन्हें और समय क्यों चाहिए था।

वर्मा की वकील नरीमन ने इस बात भी अनभिज्ञता जाहिर की जिसके बाद चीफ जस्टिस नाराज हो गए और कहा कि ‘आज आप सुनवाई के लायक नहीं है’ इतना कहकर उन्होंने सुनवाई 29 नवम्बर तक टाल दी।

गौरतलब है कि आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना के आपसी विवाद के बाद केंद्र सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया था जिसके बाद आलोक वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। सुप्रीम कोर्ट ने सीवीसी को जांच की जिम्मेदारी सौंपते हुए दो हफ्ते में जांच रिपोर्ट जमा करने को कहा था।

शुक्रवार को सीवीसी ने सीलबंद लिफ़ाफ़े में जांच रिपोर्ट कोर्ट मे जमा किया और कोर्ट के आदेश पर सीलबंद लिफ़ाफ़े में एक कॉपी आलोक वर्मा के सुपुर्द किया जिस पर कोर्ट ने आलोक वर्मा को सोमवार तक जवाब दाखिल करने का आदेश दिया था।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पाकिस्तान उच्चायोग हवाला से कश्मीर में आतंकवाद को कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (लीड-1)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में जेएमबी सक्रिय : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत के विभिन्न राज्यों जैसे बिहार, महाराष्ट्र,...

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई भी युद्ध की मार सहन...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंक को पाकिस्तान से आर्थिक मदद : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (संशोधित)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -